Top

PCS अफसर मर्डर : सामने आई आरोपी पत्‍नी, खुद को बताया बेकसूर

By

Published on 2 May 2016 5:24 PM GMT

PCS अफसर मर्डर : सामने आई आरोपी पत्‍नी, खुद को बताया बेकसूर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शाहजहांपुर: पीसीएस अधिकारी रंजीत सोनकर की मौत मामले में उनकी पत्नी जिला समाज कल्याण अधिकारी अर्चना सोनकर सोमवार को एसपी के सामने पेश हुईं। उन्होंने खुद को निर्दोष बताया। अर्चना और उनके दो भाईयों के खिलाफ पीसीएस अधिकारी को जहर देकर हत्या करने का केस दर्ज किया गया है।

केस दर्ज होने के बाद सोमवार को पहली बार वो मीडिया के सामने आईं। उन्होंने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को बेबुनियाद बताया है। इस पूरे मामले में खास बात यह रही कि अर्चना बेहद गुपचुप तरीके से शाहजहांपुर के एसपी से मिलने पहुंची।

अर्चना पर लगा है पति की हत्या का आरोप

जिला समाज कल्याण अधिकारी अर्चना सोनकर पर अपने पति जिला विकलांग कल्याण अधिकारी रंजीत सोनकर को जहर देकर हत्या करने का आरोप लगा है। पीसीएस अधिकारी रंजीत सोनकर की संदिग्ध मौत के 11 दिन बाद हत्या आरोपी उनकी पत्नी गुपचुप तरीके से एसपी मनोज कुमार से मिलने उनके ऑफिस पहुंची।

ये भी पढ़ें...पत्नी पर लगा PCS अधिकारी के मर्डर का आरोप, दो महीने पहले हुई थी शादी

मीडिया को देख बदला रास्ता

काफी देर तक एसपी से बात करने के बाद जब अर्चना बाहर निकलीं तो मीडिया को देख दूसरे रास्ते से जाने लगीं। मीडिया ने जब अर्चना से इस मामले में सवाल किया तो उनका कहना था कि जिस दिन उनके पति की मौत हुई थी वह शहर से बाहर थीं। उन्होंने खुद को निर्दोष बताया। मीडिया ने जब कुछ और सवाल किए तो वो बिना जवाब दिए ही चली गईं।

रंजीत सोनकर (फाइल फोटो) रंजीत सोनकर (फाइल फोटो)

दो महीने पहले हुई थी शादी

-रंजीत सोनकर और अर्चना की शादी महज दो महीने पहले हुई थी।

-रंजीत जिला विकलांग कल्याण अधिकारी थे। जबकि अर्चना जिला समाज कल्याण अधिकारी हैं।

-गौरतलब है कि 21 अप्रैल को जिला विकलांग अधिकारी रंजीत सोनकर की अपने सरकारी आवास पर संदिग्ध मौत हो गई थी।

शादी के हफ्ते भर बाद से ही अलग रह रहे थे पति-पत्नी

-अर्चना को जानने वाले बताते हैं कि वो कड़क मिजाज की हैं।

-बताया जाता है कि अर्चना शादी के हफ्ते भर बाद से ही पति से दूर रहने लगी थीं।

-दूरियां इतनी बढ़ गई कि पति-पत्नी अपने-अपने सरकारी आवास में रहने लगे थे।

ये भी पढ़ें...संदिग्ध हालात में PCS अधिकारी की मौत, नौकरानी शक के घेरे में

रंजीत ने बताया था जान को खतरा

-रंजीत सोनकर ने कुछ दिन पहले जिलाधिकारी कार्यालय को लिखित शिकायत दी थी।

-जिसमें उन्होंने अपनी पत्नी अर्चना और उनके भाईयों से जान का खतरा बताया था।

-शिकायत देने के दो दिन बाद ही उनकी संदिग्ध मौत हो गई।

रंजीत ने लगाए थे गंभीर आरोप

-रंजीत सोनकर ने मौत से पहले जिलाधिकारी कार्यालय में दी शिकायत में कहा तथा कि उनकी पत्नी से संबंध ठीक नहीं चल रहे हैं।

-रंजीत ने ये भी लिखा है कि उनकी पत्नी में औरतों वाले कोई गुण नहीं हैं।

-उसका पत्नी जैसा व्यवहार नहीं रहता है।

-आगे लिखा था, अर्चना ने अपने दो भाईयों से मुझे धमकी भी दिलवाई है।

-इसी वजह से ये शिकायत दे रहा हूं ताकि मुझे कुछ हो जाता है तो यह काम आएगा।

मृतक के भाई ने भी लगाए हत्या के आरोप

-मृतक के भाई राजेश सोनकर ने बताया कि 21 अप्रैल की रात फोन पर पता चला था कि उनके भाई की मौत हो गई है।

-घर में मौजूद नौकरानी कंचन उनके भाई को अस्पताल लेकर गई थी।

-राजेश का आरोप है कि अर्चना ने अपने दो भाईयों अतुल और अनुराग सोनकर तथा उनकी नौकरानी कंचन और उसके भाई के साथ मिलकर रंजीत की जहर देकर हत्या कर दी गई।

अर्चना सोनकर तलाकशुदा थीं

-आरोपी जिला समाज कल्याण अधिकारी पहले से तलाकशुदा थी।

-रंजीत सोनकर से ये उनकी दूसरी शादी थी।

-मृतक अधिकारी की शिकायत के मुताबिक उनकी पत्नी में स्त्री वाले कोई गुण नहीं हैं।

-इस वजह से वो उनका मेडिकल कराना चाहते थे।

-मृतक के परिजनों के मुताबिक यही उनकी हत्या की वजह बनी।

Next Story