Top

भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह पर लटकी कार्रवाई की तलवार, बोले थे तीखे बोल

भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह के बगावती तेवर पर उनके उपर अब कार्रवाई की तलवार लटक गई है।

action take over the rebellious attitude of BJP MLA Surendra Singh
X

भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह (फोटो- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बलिया: भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह (BJP MLA Surendra Singh) के बगावती तेवर पर उनके उपर अब कार्रवाई की तलवार लटक गई है। उधर भाजपा ने जिला पंचायत चुनाव (Panchayat Election) में बगावत करने वाले दल के उन्नीस नेताओं की दल की सदस्यता समाप्त करते हुए छह साल के लिए निष्कासित कर दिया है। इसमें रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defense Minister Rajnath Singh) के एक करीबी भी शामिल हैं।

भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह के बगावती तेवर पर उनके उपर अब कार्रवाई की तलवार लटक गई है। दल के गोरखपुर प्रान्त के अध्यक्ष धर्मेंद्र सिंह ने आज न्यूस्ट्रैक को बताया कि भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह के गतिविधियों की उन्हें जानकारी है। उन्होंने भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह की गतिविधियों की पूरी जानकारी प्रदेश नेतृत्व को दे दिया है। उन्होंने बताया कि जिला पंचायत सदस्य पद के हो रहे चुनाव में दल के जो भी नेता अथवा उनकी पत्नी दल से बगावत कर चुनाव लड़ रहे हैं, सभी को छह साल के लिए दल से निष्कासित कर दिया गया है। दरअसल भाजपा विधायक का बगावती तेवर राजनैतिक क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है। पार्टी ने दल के बैरिया क्षेत्र के विधायक सुरेंद्र सिंह के विरुद्ध अभी तक कोई कार्रवाई नही की है।

विधायक सुरेंद्र सिंह ने बगावती तेवर अपनाते हुए बैरिया क्षेत्र में दल के जिला पंचायत सदस्य पद हेतु घोषित उम्मीदवार के इतर न सिर्फ अपना उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतार दिया है , बल्कि विधायक सिंह अपने उम्मीदवार के समर्थन में लगातार सभा करने के साथ ही अभियान चला रहे हैं। चुनावी सभा में अपने कदम को उचित ठहराते हुए विधायक सिंह का कहना है कि उन्होंने आम लोगों की भावनाओं का ख्याल करते हुए यह कदम उठाया है। हालांकि भाजपा विधायक ने अपने समर्थकों के विरुद्ध हुई कार्रवाई पर कोई टिप्पणी करने से इंकार किया है । उन्होंने आज न्यूस्ट्रैक से बातचीत करते हुए कहा कि वह इस मामले में कोई टिप्पणी नही करेंगे।

भाजपा विधायक सिंह इन दिनों अपने दल के सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त के विरुद्ध जमकर मुखर हैं। उन्होंने बलिया से सांसद मस्त पर एक व्यक्ति की जमीन पर अवैध रूप से कब्जा करने व शराब तस्कर को संरक्षण देने का आरोप लगाया है। हालांकि सांसद मस्त ने भाजपा विधायक के आरोप पर कहा है कि वह विधायक के पागलपन वाले बयान पर कोई टिप्पणी नही करेंगे । सांसद मस्त के निजी सचिव अमन सिंह ने आज कहा कि भाजपा विधायक की दल विरोधी गतिविधियों पर कार्रवाई दल के नेतृत्व को करना है।

उन्होंने कहा कि वह पार्टी फोरम पर अपनी बात रखेंगे । बहरहाल अब सभी की निगाहें भाजपा के प्रदेश नेतृत्व की तरफ टिकी हुई है । भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने दुर्जनपुर कांड में आरोपित धीरेंद्र प्रताप सिंह का खुलकर बचाव करने को लेकर दल की हो रही फजीहत के बाद भाजपा विधायक को नोटिस जारी किया था , लेकिन सिकन्दरपुर के एक कार्यक्रम में स्वतंत्र देव सिंह का एक वीडियो व फोटो वायरल हुआ था , जिसमें स्वतंत्र देव सिंह भाजपा विधायक पर फूल बरसाते दिखाई दिये । इसके बाद किसी को जानकारी नही कि पार्टी नेतृत्व ने इस मामले में क्या कदम उठाया ।

उधर भाजपा के जिला मीडिया प्रभारी पंकज सिंह ने बताया कि दल के नेतृत्व ने बलिया जिले में जिला पंचायत सदस्य पद के हो रहे चुनाव में बगावत करने वाले उन्नीस नेताओं के विरुद्ध कार्रवाई की है । यह नेता अथवा इनकी पत्नी दल से बगावत कर जिला पंचायत सदस्य पद का चुनाव लड़ रहे हैं ।

उन्होंने बताया कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के करीबी दल के प्रदेश कार्यकारिणी के पूर्व सदस्य नारद सिंह, सांसद रवींद्र कुशवाहा की नजदीकी सीयर की पूर्व ब्लाक प्रमुख हेमवंती यादव व अनिल सिंह, भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह के करीबी भाजपा के मुरली छपरा मंडल के अध्यक्ष मंटू प्रसाद बिंद , दल के गोरक्ष प्रान्त के एन जी ओ प्रकोष्ठ के सह संयोजक पंकज पाठक की पत्नी शालिनी पाठक, मंडल महामंत्री राकेश सिंह, सेक्टर संयोजक सुशील मौर्य को दल की सभी जिम्मेदारी से मुक्त करते हुए इनकी सदस्यता समाप्त कर दी गयी है तथा छह साल के लिए दल से निष्कासित कर दिया गया है ।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story