Top

डालडा में सेंट डालकर बनता था देशी घी, फैक्ट्री सीज, 3 सौ लीटर घी जब्‍त

Admin

AdminBy Admin

Published on 16 March 2016 11:38 AM GMT

डालडा में सेंट डालकर बनता था देशी घी, फैक्ट्री सीज, 3 सौ लीटर घी जब्‍त
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुरः बंद सील पैक डिब्बे का घी इस्तेमाल करने वालों के लिए बुरी खबर है, लोगों को घी के नाम पर एक तरफ से ठगा जा रहा है साथ ही उनकी सेहत से खिलवाड़ किया जा रहा है। डालडा में सेंट मिलाकर देशी घी का गोरखधंधा करने वाली एक फैकट्री पकड़ी गई है। इसमें साढ़े तीन सौ लीटर नकली देशी घी को सीज किया गया है।

थाने के सामने चलती थी फैक्‍ट्री

-जूही थाने के ठीक सामने यह फैक्‍ट्री चल रही थी।

-होली के मौके पर बड़ी मात्रा में घी की सप्लाई की जा रही थी।

-इसे जवाहर नगर निवासी कृपाशंकर गुप्ता चला रहे थे।

-यहां आधा दर्जन से अधिक लेबर काम करते थे।

-मौके से संचालक कृपाशंकर भाग निकला है।

क्‍या कहा महिलाओं ने

-फैक्‍ट्री में काम कर रही महिलाओं ने बताया कि यह घी पूजा और खाने में इस्तेमाल किया जाता है।

-यहां पर सौ ग्राम से लेकर एक किलो तक के डिब्बे पैक किए जाते हैं।

-बड़े-बड़े भगौने में कई रासायनिक और तरल सामग्री मिलकर घी तैयार किया जाता है

एसीएम प्रथम योगेंद्र कुमार के मुताबिक

-इस कारखाने में नकली घी बनाने का काम किया जा रहा था।

-इसको बनाने के लिए वनस्पति घी में सेट मिलाकर बनाया जाता था।

-यहां से सेंट की बोतले भी बरामद हुई हैं।

लीवर को डैमेज कर सकता है ये घी

-एसीएम प्रथम योगेन्द्र कुमार और फूड विभाग की टीम ने मिलकर यह फैक्‍ट्री पकड़ी है।

-फूड इंस्पेक्टर सलिल सिंह के मुताबिक यह घी सेहत के लिए बहुत ही हानिकारक है।

-यह सीधे लीवर को डैमेज करता है। सैम्पल लेकर जांच के लिए भेजे जा रहे हैं।

-रिपोर्ट आने के बाद मालिक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

नीचे की स्‍लाइड्स में देखें तस्‍वीरें

[su_slider source="media: 15708,15714,15713,15712,15710,15709" width="620" height="440" title="no" pages="no" mousewheel="no" autoplay="0" speed="0"] [/su_slider]

Admin

Admin

Next Story