Top

कोविड सेंटर की सूची से बाहर हुए 20 अस्पताल, मरीज भर्ती न करने पर हुई कार्रवाई

डीएम प्रभु एन सिंह ने बताया कि 20 निजी अस्पतालों के खिलाफ महामारी एक्ट में कार्रवाई की गई है।

Network

NetworkNewstrack Network NetworkAPOORWA CHANDELPublished By APOORWA CHANDEL

Published on 28 April 2021 10:09 AM GMT

कोविड सेंटर की सूची से बाहर हुए 20 अस्पताल, मरीज भर्ती न करने पर हुई कार्रवाई
X

कोविड सेंटर की सूची से बाहर हुए 20 अस्पताल (सांकेतिक फोटो-सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

आगरा: आगरा में जिलाधिकारी प्रभु नारायण सिंह ने 20 कोविड अस्पतालों को कोविड सेंटर की सूची से बाहर कर दिया है। उपचार में लापरवाही करने, मरीजों को भर्ती न करने और ऑक्सीजन सिलिंडर, रेमेडिसिवर इंजेक्शन के लिए तीमारदारों को परेशान करने को लेकर जिलाधिकारी ने कार्रवाई करते हुए इन अस्पतालों को सूची से बाहर किया है। साथ ही इनमें नए सिरे से चिकित्सा मानकों की जांच के आदेश CMO को दिए हैं।

जिलाधिकारी कैंप कार्यालय में मंगलवार रात को बैठक हुई । जिसमें सीएमओ डॉ. रमेश चंद पांडेय, आईएमए के निर्वतमान अध्यक्ष डॉ. ओपी यादव, डॉ. पंकज नगायच व अन्य आईएमए प्रतिनिधियों के साथ जिलाधिकारी ने आकस्मिक बैठक की।

26 अस्पतालों में भर्ती होगे मरीज

अस्पतालों पर हुई कार्रवाई को लेकर डीएम प्रभु एन सिंह ने बताया कि 20 निजी अस्पतालों के खिलाफ महामारी एक्ट में कार्रवाई की गई है। विस्तृत जांच के बाद इनके पंजीकरण निरस्त किए जाएंगे। वहीं इन अस्पतालों में जो मरीज भर्ती है जब तक वह ठीक नहीं होते अस्पताल को उन मरीजों का इलाज करना होगा। और अगर ऐसा नहीं किया जाएगा तो उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। 20 अस्पतालों पर की गई इस कार्रवाई के बाद अब एक मई से 26 अस्पतालों में ही मरीज भर्ती होंगे। इनमें 1800 से 2000 ऑक्सीजन सिलिंडर नियमित रूप से प्रशासन उपलब्ध कराएगा।

वेंडर का होगा ऑडिट

डीएम ने कहा है कि अब जिले में ऑक्सीजन आपूर्ति करने वाले सभी वेंडर का पहली बार ऑडिट होगा। जिससे अधिकृत और अवैध वेंडर की पहचान होगी। और जो लोग अच्छे हैं उन्हें प्रोत्साहित किया जाएगा।

मरीजों की भर्ती पर नहीं रोक

डीएम ने बताया कि अब कोई कोविड अस्पताल कोविड और नॉन-कोविड मरीज को भर्ती करने और न ही उसके उपचार से मना करेगा। अगर ऐसा होता है तो उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।साथ ही डीएम ने एसएसपी को अस्पतालों की सुरक्षा के लिए कोविड रिजर्व फोर्स तैनात करने के निर्देश दिए हैं।

Apoorva chandel

Apoorva chandel

Next Story