Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

आगरा: आबकारी मंत्री और प्रमुख सचिव में तालमेल की कमी, मामला पहुंचा लखनऊ

लाजिमी है कि इसके बाद मंत्री का फोन भी आया था, लेकिन बात नहीं बन पाई। प्रमुख सचिव कार्यालय से काम ना होने के कारण बताते हुए कह दिया गया कि ऊपर से आदेश हैं।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 17 March 2021 3:07 AM GMT

आगरा: आबकारी मंत्री और प्रमुख सचिव में तालमेल की कमी, मामला पहुंचा लखनऊ
X
आगरा: आबकारी मंत्री और प्रमुख सचिव में तालमेल की कमी, मामला पहुंचा लखनऊ (PC: social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

आगरा: सपा के गढ़ में मैनपुरी की भोगांव विधानसभा सीट को भाजपा के पक्ष में हथियाने वाले रामनरेश अभिनेत्री प्रदेश के आबकारी मंत्री हैं लेकिन इन दिनों प्रमुख सचिव आबकारी संजय आर भूसरेड्डी और मंत्री में तालमेल नहीं बैठ पा रहा है। हुआ यूं कि पिछले दिनों प्रमुख सचिव आबकारी के कार्यालय में मंत्री रामनरेश अग्निहोत्री के एक चहेते की फाइल आई।

ये भी पढ़ें:बंगालः विधानसभा चुनाव के लिए RPSF की 30 कंपनियां 20 मार्च से तैनात होंगीः रेल मंत्रालय

लाजिमी है कि इसके बाद मंत्री का फोन भी आया था, लेकिन बात नहीं बन पाई। प्रमुख सचिव कार्यालय से काम ना होने के कारण बताते हुए कह दिया गया कि ऊपर से आदेश हैं। यही मामला तूल पकड़ गया और विभाग में चर्चा का विषय बन गया। मैनपुरी से लेकर लखनऊ तक विभागीय अधिकारियों में इसकी खूब चर्चा हुई।

विदित हो कि रामनरेश अग्निहोत्री भाजपा के नेता हैं

विदित हो कि रामनरेश अग्निहोत्री भाजपा के नेता हैं। वर्तमान में वे मैनपुरी जनपद की भोगांव विधानसभा सीट से विधायक हैं और १७ वीं विधानसभा के सदस्य हैं। भोगांव से अभी तक भाजपा का कोई भी प्रत्याशी चुनाव नहीं जीता है। वर्ष २०१७ के विधानसभा चुनाव में भोगांव सीट से रामनरेश अग्रिहोत्री ने पहली बार जीत हासिल की।

इस कारण मैनपुरी में भाजपा का खाता खोलने का श्रेय उन्हें ही जाता है

इस कारण मैनपुरी में भाजपा का खाता खोलने का श्रेय उन्हें ही जाता है। यह भी माना जाता है कि सपा के गढ़ में सेंध लगाकर सपा को पटखनी देने वाले वे भाजपा के पहले विधायक हैं। उनकी इसी कामयाबी पर उन्हें प्रदेश का आबकारी मंत्री बनाया गया है। लेकिन विभाग में चर्चा है कि मंत्री बनने के बाद भी उनकी सुनवाई नहीं हो रही है। उनके सचिव उनके आदेश को हवा में उड़ा रहे हैं। उनके मंत्री होने के बाद भी मैनपुरी को कुछ भी हासिल नहीं हुआ है।

ये भी पढ़ें:UP: नोएडा के सेक्टर 93 स्थित झाड़ियों में लगी भीषण आग

बताया जाता है कि आईएएस संजय आर भूसरेड्डी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और मंत्री सुरेश राणा के निर्देशन में तीन साल के कार्यकाल में गन्ना विभाग को दुरस्त करने में अहम भूमिका निभाई। इस साल भी गन्ना विभाग में बेहतर प्रदर्शन किया। गन्ना विभाग को दिए योगदान रखने वाले प्रमुख सचिव संजय आर भूसरेड्डी को ठीक दो साल बाद २७ जून २०१९ को प्रमुख सचिव गन्ना के साथ साथ आबकारी विभाग की जिम्मेदारी दे दी।

रिपोर्ट- प्रवीण शर्मा

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story