×

Agra News: 1 अक्टूबर से शुरू होगा कुत्तों की नसबंदी का अभियान, तीन जोन में बांटा शहर

Agra News Today: आगरा में अब कुत्तों की नसबंदी की जाएगी। नगर निगम प्रशासन ने भूमिका तैयार कर ली है। कुत्तों की नसबंदी का अभियान 1 अक्टूबर से शुरू हो जाएगा।

Rahul Singh
Updated on: 26 Sep 2022 4:12 PM GMT
Agra News In Hindi
X

आगरा में कुत्तों की नसबंदी का अभियान। (Social Media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Agra News Today: आगरा में अब कुत्तों की नसबंदी की जाएगी। नगर निगम प्रशासन (Municipal Administration) ने भूमिका तैयार कर ली है। कुत्तों की नसबंदी का अभियान (Dog Sterilization Campaign) 1 अक्टूबर से शुरू हो जाएगा। नसबन्दी अभियान (Dog Sterilization Campaign) के लिए शहर को तीन जोन में बांटा गया है। हरीपर्वत वार् , लोहामंडी वार्ड और छत्ता वार्ड।

कुत्ते की नसबंदी पर खर्च किेए जाएंगे 1139 रुपये

लोहामंडी वार्ड में अभियान मंगलवार से शुरू हो जाएगा। हरीपर्वत और छत्ता वार्ड में अभियान की शुरुआत एक अक्टूबर से की जाएगी। एक कुत्ते की नसबंदी पर 1139 रुपये खर्च किये जाएंगे।

कुत्तों की नसबंदी करना बेहद जरूरी: महापौर

महापौर आगरा ने बताया कि कुत्तों की नसबंदी करना बेहद जरूरी हो गया है। कुत्तों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। महापौर ने लोगों से अपील भी की कि वो कुत्तों को भोजन जरूर खिलाये। भूखा होने की वजह से कुत्ते हिंसक हो रहे है। लोगों को काट खा रहे है। अभियान के लिए नगर निगम ने सभी तैयारियां पूरी कर ली है।

मासूम बच्ची की जान ले चुके हैं कुत्ते

आपको बता दें कि करीब एक महीने पहले आवारा कुत्तों ने मासूम बच्ची की जान ले ली थी। इसके अलावा आगरा में हर दिन 400 से 500 लोग हर दिन ही कुत्तो के काटने का शिकार हो रहे है। करीब 1 महीने पहले सिकंदरा थाना क्षेत्र के शास्त्रीपुरम इलाके में मासूम बच्ची को कुत्तों ने घर के बाहर आवारा कुत्तों नोच डाला था। जिला अस्पताल में इलाज के दौरान बच्ची की मौत हो गई थी। कुत्तों का आतंक शहर में बढ़ता जा रहा है।

आगरा शहर की गली-गली में कुत्तों की दहशत

आगरा शहर में गली गली कुत्तों की दहशत है। हर गली में कुत्तों का जमावड़ा नजर आता है। शहर की सड़कें पर भी शाम होते ही खूंखार कुत्तों की काफी संख्या नजर आती है। देखना होगा कि नगर निगम कई अभियान कितना कारगर साबित होता है।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story