Top

आरक्षण खत्म नहीं होने देंगे, सपा-बसपा करते रहे वोट की राजनीति: अजय कुमार लल्लू

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि प्रदेश के अति पिछड़ा वर्ग की जातियों धीवर, कश्यप, मल्लाह, केवट, कहार, प्रजापति, बिन्द समाज के पिछड़ेपन को दूर करने की कोई कोशिश सपा-बसपा सरकार में नहीं की गई।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 19 Jan 2021 4:15 PM GMT

आरक्षण खत्म नहीं होने देंगे, सपा-बसपा करते रहे वोट की राजनीति: अजय कुमार लल्लू
X
पिछड़ों और दलितों को मिल रहे आरक्षण को खत्म करने की साजिश की जा रही है, लेकिन कांग्रेस इस साजिश को कामयाब नहीं होने देगी।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: पिछड़ों और दलितों को मिल रहे आरक्षण को खत्म करने की साजिश की जा रही है, लेकिन कांग्रेस इस साजिश को कामयाब नहीं होने देगी। पिछड़ों को हक दिलाने के लिए कांग्रेस हर स्तर पर लड़ाई लड़ेगी। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने मंगलवार को कांग्रेस प्रदेश मुख्यालय में आयोजित पिछड़ा वर्ग सम्मेलन में कहा कि आरक्षण का अधिकार बाबा साहब डॉ भीमराव अंबेडकर ने दिलाया है। इसे कोई छीन नहीं सकता।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस पिछड़ा वर्ग विभाग की ओर से मंगलवार को पिछड़ा वर्ग सम्मेलन का आयोजन किया गया। इसमें प्रदेश की 19 अति पिछड़ी जातियों के आरक्षण का मामला गूंजता रहा। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि प्रदेश के अति पिछड़ा वर्ग की जातियों धीवर, कश्यप, मल्लाह, केवट, कहार, प्रजापति, बिन्द समाज के पिछड़ेपन को दूर करने की कोई कोशिश सपा-बसपा सरकार में नहीं की गई। प्रदेश की मौजूदा योगी सरकार भी इन जातियों के उत्थान की दिशा में कुछ करने को तैयार नहीं है। उल्टा आरक्षण को खत्म करने की साजिश की जा रही है।

पिछड़ों को जमीन का अधिकार कांग्रेस ने दिया

उन्होंने कहा कि जमींदारी उन्मूलन कानून लागू करके पिछड़ों को जमीन का अधिकार देने का काम कांग्रेस ने किया। संविधान में आरक्षण का प्रावधान देकर पिछड़ों को संसाधन में भागीदारी करने का मौका दिया। पिछड़े वर्ग के गरीब छात्रों के लिए छात्रवृत्ति देने की कार्य योजना बनाकर कांग्रेस ने पिछड़े वर्ग के छात्रों को उच्च शिक्षा में भागीदारी दिलायी। कुछ लोग आये और पिछड़ों को नारा दिया- सकी जितनी संख्या भारी, उसकी उतनी भागीदारी। लेकिन यह नारा सिर्फ नारा ही रहा।

ये भी पढ़ें...वाराणसी: मुस्लिम युवती इकरा ने पेश की मिसाल, राम मंदिर निर्माण के लिए किया दान

बीजेपी, सपा और बसपा ने अधिकारों को छीना

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के अलावा अन्य पार्टी की नीयत, नियति में अति पिछड़े वर्ग को लेकर कोई कार्यक्रम होता ही नहीं है। निषाद, धीवर, कश्यप, मल्लाह, केवट, बिन्द, प्रजापति को नदी खनन का पट्टा होता है पर लाभ इस समाज को कभी नहीं मिला। उन्होंने कहा कि मैं भी अति पिछड़े समाज से आता हूं। मद्वेसिया समुदाय से हूं। मेहनत के बल पर छोटा-मोटा काम करते हैं। सपा, बसपा और भाजपा ने केवट, बिन्द, मल्लाह के नदी, नाले, तालाब के पट्टे का अधिकार इन तीनों ने ही छीना है। इस समुदाय के संसाधनों पर भागीदारी कांग्रेस ही सुनिश्चित कर सकती है।

ये भी पढ़ें...छात्र का अपहरण: बदमाशों ने मांगी 70 लाख फिरौती, गोंडा पुलिस में मचा हड़कंप

सम्मेलन में पूर्व सांसद राजाराम पाल, राकेश सचान एवं पूर्व सांसद बालकृष्ण चैहान, पिछड़ा वर्ग विभाग के चेयरमैन मनोज यादव आदि मौजूद रहे। सम्मेलन के समापन पर अतिपिछड़ा समाज के प्रतिनिधियों ने हाथ उठाकर शपथ ली कि आने वाले समय में अपने हक, सम्मान और भागीदारी के लिए कांग्रेस और प्रदेश कंाग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलेंगे और उनके हाथों को मजबूत बनायेंगे। सम्मेलन में संविधान को कमजोर करने, आरक्षण को साजिशन समाप्त करने का षडयन्त्र करने और निजीकरण करके पिछड़ों की हकमारी करने के प्रयासों पर निन्दा प्रस्ताव पारित किया गया।

रिपोर्ट: अखिलेश तिवारी

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story