×

Budget 2018: पढ़ें जेटली के बजट पर UP के नेताओं ने क्या दी प्रतिक्रिया

aman

amanBy aman

Published on 1 Feb 2018 8:38 AM GMT

Budget 2018: पढ़ें जेटली के बजट पर UP के नेताओं ने क्या दी प्रतिक्रिया
X
UP इन्वेस्टर्स समिट: 3 लाख करोड़ के MOU हो सकते हैं साइन
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊ: वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार (01 फ़रवरी) को मोदी सरकार का आखिरी पूर्ण बजट पेश किया। इस पर राज्य की मुख्य विपक्षी समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इसे गरीब किसान और मजदूर विरोधी बताया। उन्होंने कहा, कि इस बजट को देखकर निराशा हाथ लगी है।

अखिलेश बोले, बेरोज़गार युवाओं को बजट से हताशा हुई है। यह बजट कारोबारियों, महिलाओं, नौकरीपेशा और आम लोगों के मुंह पर तमाचा है। अखिलेश यादव ने कहा, यह जनता की परेशानियों की अनदेखी करने वाली अहंकारी सरकार का विनाशकारी बजट है। उन्होंने कहा, आखिरी बजट में भी बीजेपी ने दिखा दिया कि वो केवल अमीरों की हिमायती है। अखिलेश ने कहा, अब जनता जवाब देगी।

बीजेपी का हश्र राजस्थान में देखिए

वहीं, शिवपाल यादव ने बजट पर बयान में कहा, 'किसानों के हित में इन चार सालों में कुछ भी नहीं हुआ है। बीजेपी वालों ने पहले अच्छे वेड किए थे लेकिन आज वो सब खोखले निकले। अभी तो चुनावी वर्ष है। सिर्फ प्रलोभन दिया जाएगा ही। इसके अलावा किसानों और गरीबों के लिए कुछ नहीं है। महंगाई बढ़ी है। भ्रष्टाचार बढ़ा है। इन चार सालों में किसानों को लूटा गया है। इसी का परिणाम है कि बीजेपी राजस्थान में सभी सीटों पर हार रही है।'

केशव मौर्या का बजट पर बयान

यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा, किसानों, नौजवानों, गरीबों और देश को प्रगति के पथ पर ले जाने वाले नरेंद्र मोदी सरकार के बजट का स्वागत करता हूं। शानदार बजट पेश करने के लिए वित्त मंत्री अरुण जेटली जी को बधाई देता हूं। भारत विकास के पथ पर आगे बढ़ेगा। अन्नदाता की आमदनी बढ़ना। सभी क्षेत्रों में प्रगति होगी। उज्जवला योजना के अंतर्गत ग़रीब महिलाओं को भोजन बनाते समय धुआँ की समस्या से निजात के लिए आठ करोड़ गैस सिलेंडर कनेक्शन के साथ वितरित करने का बजट में प्राविधान किया गया है। पचास करोड़ गरीबों को पांच लाख का सुरक्षा बीमा प्रधानमंत्री आवास योजना द्वारा सभी बेघरों को घर यह बजट ही नहीं गरीबों की पूजा है। मैं बजट का हृदय से स्वागत करता हूं।



aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story