×

बिसाहड़ा: अखलाक के भाई की गिरफ्तारी के लिए आमरण अनशन, आत्मदाह की धमकी

धरने पर बैठी महिलाओं ने कहा कि सरकार हिंदुओं का दमन कर रही है और गो हत्यारों को गिरफ्तार नहीं कर रही है। जब तक जान मोहम्मद की गिरफ्तारी नहीं होती है, धरना जारी रहेगा और गिरफ्तारी न होने पर एक अक्टूबर से भूख हड़ताल शुरू की जाएगी।

zafar

zafarBy zafar

Published on 29 Sep 2016 8:08 AM GMT

बिसाहड़ा: अखलाक के भाई की गिरफ्तारी के लिए आमरण अनशन, आत्मदाह की धमकी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नोएडा: अखलाक के भाई जान मोहम्मद की गिरफ्तारी की मांग को लेकर बिसाहड़ा गांव की महिलाओं ने आत्मदाह की चेतावनी दी है। शनिवार दोपहर बाद महिलाओं ने आमरण अनशन शुरू कर दिया। मंदिर में १५ परिवारों की महिलाएं पिछले गुरुवार से धरने पर हैं। इनमें १३ महिलाओं ने आमरण अनशन शुरू कर दिया। उन्होंने कहा कि जब तक जान मोहम्मद की गिरफ्तारी नहीं होती। अनशन जारी रहेगा।

यह भी पढ़ें...बिसाहड़ा केसः 15 परिवार के लोग करेंगे अनशन, जिला प्रशासन से रखेंगे अपनी मांग

होगी भूख हड़ताल

-अखलाक की हत्या के आरोप में जेल में बंद हरिओम की मां सुनहरी देवी भी धरने पर बैठी हैं।

-उनका कहना है कि निर्दोष बच्चों को जेल में बंद हुए एक साल बीत गया है। इसके बाद भी प्रदेश सरकार आंखों पर पट्टी बांधे हुए है।

-इन परिवारों के कमाने वाले लोग जेलों में हैं और परिवारों की आर्थिक स्थिति खराब हो रही है।

यह भी पढ़ें...बिसाहड़ा केस: अखलाक परिवार भी पहुंचा कोर्ट, विरोधाभासी रिपोर्ट पर सवाल

-श्री ओम और हरिओम की 8० वर्षीय अपाहिज मां लीलावती का कहना है कि सरकार हिंदुओं का दमन कर रही है और गो हत्यारों को गिरफ्तार नहीं कर रही है।

-धरने पर बैठी महिलाओं ने कहा कि जब तक जान मोहम्मद की गिरफ्तारी नहीं होती है, धरना जारी रहेगा।

-महिलाओं ने गुरुवार को कहा था कि गिरफ्तारी न होने पर एक अक्टूबर से भूख हड़ताल शुरू की जाएगी।

यह भी पढ़े...बिसाहड़ा कांड: अखलाक के परिवार पर गौ हत्या का मुकदमा दर्ज, जांच शुरू

गांव-गांव में होगा प्रदर्शन

-साध्वी हरसिद्धि गिरी ने कहा की वे लोग शांतिपूर्वक धरना दे रहे हैं और हिंसा नहीं चाहते। वे गांव गांव में घूम कर अपनी मांगों के लिए समर्थन जुटाएंगे। दो दिन अलग-अलग जगहों पर धरना दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें..बिसाहड़ा कांड पर कोर्ट के फैसले के बाद अब बैकफुट पर अखिलेश सरकार

प्रशासन सतर्क

-अखलाक परिवार से जुड़े मामले में धरने के बाद एलआईयू समेत इंटेलिजेंस विंग ने बिसाहड़ा में डेरा डाल लिया है।

-धरने की जानकारी के बाद बुधवार से ही खुफिया यूनिट्स बिसाहड़ा के आसपास नजर रख रहे हैं।

-प्रशासन ने इस बीच धरना कत्म करने के लिए भी मौके पर मौजूद महिलाओं से बातचीत की है।

zafar

zafar

Next Story