×

Aligarh News: अलीगढ़ में सांप्रदायिक तनाव, पलायन को मजबूर एक समुदाय, मस्जिद के सामने से निकाली थी बारात

Aligarh Communal Tension: बारात मस्जिद के सामने से निकालने से रोकने को लेकर शुरू हुआ विवाद अब पलायनतक पहुँच चुका है। दो समुदाय की झड़प के बाद इलाके में एक समुदाय ने अपने घर पर 'मकान बिकायू है,' लिख दिया।

Network

NetworkNewstrack NetworkShivaniPublished By Shivani

Published on 3 Jun 2021 9:36 AM GMT

Aligarh News: अलीगढ़ में सांप्रदायिक तनाव, पलायन को मजबूर एक समुदाय, मस्जिद के सामने से निकाली थी बारात
X

फोटो सोशल मीडिया

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Aligarh Communal Tension : उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में धार्मिक तनाव बढ़ता जा रहा है। एक बारात मस्जिद के सामने से निकालने से रोकने को लेकर शुरू हुआ विवाद (Masjid Ke Samne Se Baarat Nikaalne Par Bawal) अब पलायन (Palayan) तक पहुँच चुका है। दो समुदाय की झड़प के बाद इलाके में एक समुदाय ने अपने घर पर 'मकान बिकायू है,' ( Makan Bikau Hai) लिख दिया। जिससे इलाके में तनाव और अधिक बढ़ गया है। वहीं पुलिस दोनों समुदाय (Two Communities Violence) से जुड़े लोगों को समझाने में जुटी है। एसडीएम ने न्याय किये जाने का आश्वासन दिया है। इसके पहले मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने भी मामले की जांच कराये जाने का भरोसा जताया था।

मामला अलीगढ़ के टप्पल थाना क्षेत्र के अंतर्गत नूरपुर गांव का है, कुछ दिन पहले वहां बनी एक मस्जिद के सामने से बारात निकल रही थीं, जिसे दूसरे समुदाय ने रोकने की कोशिश की तो दोनों पक्ष आपस में भिड़ गए। दोनों पक्षों में जमकर विवाद हुआ। विवाद तब गंभीर हो गया, जब एक समुदाय के शख्स ने अपने मकान के बाहर 'घर बिकाऊ है' लिख दिया।

अलीगढ़ में दो समुदायों में तनाव

गांव में रहने वाले ओमप्रकाश ने आरोप लगाया कि दूसरे समुदाय के लोगों ने बारात को मस्जिद के सामने से निकलने पर रोक दिया और बारात को घर तक नहीं आने दिया। मामले की शिकायत पुलिस में की गयी। दो समुदाय के बीच तनाव की स्थिति को देखते हुए थाना टप्पल पुलिस ने ओमप्रकाश की तहरीर पर 11 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।


गाँव में पलायन की खबर आग की तरह फैली तो एसडीएम ने भी मामले को गंभीरता से लिया। गाँव से पलायन कर रहे लोगों से प्रशासन और पुलिस अधिकारीयों ने बैठकर बीतचीत की। पुलिस ने उन्हें भरोसा दिलाया कि दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। साथ ही उनके सुरक्षा भी दी जायेगी। वहीं तनाव के मद्देनजर गाँव में पीएसी तैनात की गयी है।

मस्जिद के आगे से बारात निकालने के लिए अनुमति लेनी होगी

इस मामले में राजनीतिक दलों ने नेताओं के भी बयान आने लगे हैं। घटना के बाद भाजपा सांसद सतीश गौतम, भाजपा की पूर्व मेयर शकुन्तला भारती गाँव में पहुंचे और लोगों से बातचीत की तो वहीं समाजवादी पार्टी के नेता भी बयानबाजी से पीछे नहीं हटे। एआईएमआईएम यूथ ब्रिगेड के प्रदेश अध्यक्ष सैयद नाज़िम अली ने भाजपा सांसद और पूर्व मेयर पर गंदी राजनीति करने का आरोप लगाया। उन्होंने ये भी कहा कि मस्जिद के आगे से बारात निकालने के लिए अनुमति लेनी होगी।

Shivani

Shivani

Next Story