×

स्कूल बस में आग से घायल बच्चों के सही इलाज का बीएचयू को आदेश

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एलपीजी गैस किट के कारण विगत दिनों भदोही में स्कूल बस में आग लगने से बच्चों की मौत मामले में शेष बचे घायल बच्चों के अच्छे इलाज का निर्देश दिया है। कोर्ट ने बीएचयू ट्रामा सेंटर इंचार्ज व अन्य अधिकारियों के साथ-साथ जिलाधिकारी वाराणसी को निर्देश दिया है कि वह स्वयं घायल बच्चों के इलाज को लेकर बीएचयू में जाकर देखें और उनका बेहतर इलाज होना सुनिश्चित करें।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 29 Jan 2019 2:04 PM GMT

स्कूल बस में आग से घायल बच्चों के सही इलाज का बीएचयू को आदेश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

प्रयागराज : इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एलपीजी गैस किट के कारण विगत दिनों भदोही में स्कूल बस में आग लगने से बच्चों की मौत मामले में शेष बचे घायल बच्चों के अच्छे इलाज का निर्देश दिया है। कोर्ट ने बीएचयू ट्रामा सेंटर इंचार्ज व अन्य अधिकारियों के साथ-साथ जिलाधिकारी वाराणसी को निर्देश दिया है कि वह स्वयं घायल बच्चों के इलाज को लेकर बीएचयू में जाकर देखें और उनका बेहतर इलाज होना सुनिश्चित करें।

ये भी देखें : जानिए क्यों, मोदी के सपनों का बनारस देख NGT टीम पीटने लगी माथा

यह आदेश न्यायमूर्ति पी.के.एस.बघेल व न्यायमूर्ति पंकज भाटिया की बेंच ने जन अधिकार मंच व बच्चों के गार्जियन की ओर से दायर एक याचिका पर पारित किया।

याचिका में कहा गया है कि बस में फिट किये गये एलपीजी गैस किट में विस्फोट हो जाने से 196 बच्चे आग की चपेट में आ गये थे। इनमें से चार की मौत भी हो गयी थी। कहा गया है कि वर्तमान में आठ बच्चे बीएचयू के ग्रीन वार्ड ट्रामा सेंटर में भर्ती हैं और कई बच्चों को बीएचयू के आईसीयू में भर्ती कराया है।

ये भी देखें : परिवार नियोजन में सहायक बनी अंतरा और छाया

आरोप है कि वहां पर उनका सही देखभाल व इलाज नहीं हो रहा है। न्यायालय ने डीएम वाराणसी को निर्देश दिया है कि वह बीएचयू में एडमिट सभी बच्चों का सही इलाज करना सुनिश्चित करे। अपर महाधिवक्ता अजीत कुमार सिंह को कोर्ट ने कहा कि वह बीएचयू के अधिकारियों व डीएम वाराणसी को कोर्ट के आदेश से अवगत करायें ताकि वे बच्चों के इलाज की निगरानी कर अनुपालन रिपोर्ट कोर्ट में दायर करे। कोर्ट इस याचिका पर 5 फरवरी 19 को सुनवाई करेगी।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story