Top

बिना चीफ सेक्रेटरी APPOINT किए CM अखिलेश यादव गए लंदन

By

Published on 30 Jun 2016 2:19 PM GMT

बिना चीफ सेक्रेटरी APPOINT किए CM अखिलेश यादव गए लंदन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: यूपी के मुख्य सचिव आलोक रंजन गुरुवार को अपने पद से रिटायर हो गए। दूसरी तरफ सीएम अखिलेश यादव अपना जन्मदिन मनाने लंदन पहुंच चुके हैं। राजनैतिक गलियारों में अब इस बात को लेकर चर्चा है कि कहीं अखिलेश अब भी नाराज तो नहीं हैं। जब उन्हें पता था कि आलोक रंजन 30 जून को रिटायर हो रहे हैं तो विदेश रवाना से पूर्व उन्होंने किसी नए चेहरे को कार्यभार सौपने की जरूरत क्यों नहीं समझी।

गौरतलब है कि पूर्व मुख्य सचिव आलोक रंजन उनकी जगह आईएएस प्रवीर कुमार को मुख्य सचिव का अतरिक्त प्रभार देने के निर्देश दिए गए हैं। बताया जा रहा है कि सीएम अखिलेश यादव के पांच जुलाई को विदेश यात्रा से लौटने के बाद नए मुख्य सचिव के नाम की घोषणा हो सकती है। गुरुवार को प्रवीर कुमार ने रिटायर मुख्य सचिव आलोक रंजन से करीब एक घंटे तक बात की।

आलोक रंजन ने शास्त्री भवन स्थित मुख्य सचिव कार्यालय सभागार में आयोजित अपने विदाई समारोह में कहा कि अधिकारियों और कर्मचारियों को आम लोगों की समस्या हल करने का प्रयास करना चाहिए।

-अधिकारियों को समय निकालकर आम नागरिकों से सीधा संवाद स्थापित करना चाहिए।

-शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन की फीडबैक लेनी चाहिये।

-शासकीय अधिकारी अपनी कार्यशैली का और अधिक बेहतर ढंग से निर्वहन करें।

-योजनाओं से अधिक से अधिक लोगों को लाभान्वित कराने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ें।

विदाई समारोह में मौजूद थे ये अधिकारी

विदाई समारोह में मुख्य सचिव एवं कृषि उत्पादन आयुक्त प्रवीर कुमार, प्रमुख सचिव नियुक्ति एवं कार्मिक केएस अटोरिया, प्रमुख सचिव सूचना नवनीत सहगल, प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा डाॅ अनूप चन्द्र पाण्डेय, प्रमुख सचिव वन संजीव सरन, सचिव कार्यक्रम क्रियान्वयन एवं प्रमुख स्टाफ आफिसर आलोक कुमार, प्रबंध निदेशक उप्र परिवहन निगम आशीष कुमार गोयल, स्टाफ आफिसर मुख्य सचिव एसएन श्रीवास्तव और विशेष सचिव गोपन कृष्ण गोपाल मौजूद थे।

इस बीच नए मुख्य सचिव को लेकर कवायद तेज हो गई है। इस रेस में दीपक सिंघल की दावेदारी सबसे मजबूत मानी जा रही है। वहीं प्रवीर कुमार और प्रदीप भटनागर भी रेस में हैं।

Next Story