×

अमर-जया की वापसी तय, Z PLUS सिक्योरिटी के साथ जाएंगे राज्यसभा

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 15 March 2016 12:27 PM GMT

अमर-जया की वापसी तय, Z PLUS सिक्योरिटी के साथ जाएंगे राज्यसभा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली/लखनऊ: समाजवादी पार्टी में कभी अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के बाद सबसे पावरफुल रहे अमर सिंह वापस पार्टी में आ रहे हैं। वह भी अकेले नहीं बल्कि सपा से निकाली गईं रामपुर की पूर्व सांसद जयाप्रदा के साथ राज्यसभा में एंट्री करेंगे।

शादी में सियासत

-सपा के निकटस्थ सूत्रों के अनुसार, दोनों की वापसी की भूमिका शिवपाल सिंह यादव के बेटे आदित्य की शादी के दिन ही तय हो गई थी।

-विवाह समारोह में जयाप्रदा और अमर सिंह ने जिस तरह हिस्सा लिया और मुलायम के आसपास ही रहे उससे कुछ कयास लगने लगे थे।

-जयाप्रदा ने तो मुलायम का पैर छुकर आशीर्वाद लिया था। सूत्रों के अनुसार सपा अध्यक्ष ने दोनों की वापसी पर हामी भर दी है।

यह भी पढ़ें...

अखिलेश सरकार के चार साल: विवादों और अधूरे वादों के साथ विकास का प्रचार

निष्कासन को छह साल पूरे

-पार्टी विरोधी काम के आरोप में अमर सिंह,जयाप्रदा को 2 फरवरी 2010 को सपा से छह साल के लिए निकाल दिया गया था। संयोग भी है कि निष्कासन के छह साल पूरे हो चुके हैं।

मिलेगी जेड सिक्युरिटी

अमर सिंह और जयाप्रदा को जेड सुक्युरिटी के लिए केंद्र से सिफारिश की जाएगी। इसके तहत पैरामिलिट्री के सोलह से 22 जवान सुरक्षा के लिए तैनात होते हैं। अमर सिंह को पहले भी जेड सुरक्षा मिली हुई थी जो 24 मई 2008 को छिन गई थी।

मुलायम का अमर प्रेम

-मुलायम ने पिछले 28 जनवरी को कहा कि अमर सिंह को पार्टी से निकाला नहीं गया वो हमारे साथ थे ओर आगे भी रहेंगे।

-इससे पहले मुलायम ने अपने जन्मदिन का पहला केक अमर सिंह के हाथ से ही खाया था। -सपा अध्यक्ष ये भी मानते हैं कि यूपी के विकास में अमर सिंह का बडा योगदान है।

शिवपाल भी सहमत

-अमर सिंह सीएम अखिलेश यादव और लोक निर्माण मंत्री शिवपाल सिंह यादव से लगातार मिलते रहे हैं। -शिवपाल कह भी चुके हैं कि अमर सिंह पार्टी में भले नहीं हो लेकिन दिल में हैं और हमेशा रहेंगे। -शिवपाल के जन्मदिन पर राजधानी में लगी होर्डिंग में अमर सिंह की मौजूदगी से ही ये लगने लगा था कि उनकी वापसी जल्द ही होगी।

आजम का क्या होगा?

-अमर सिंह की वापसी से सपा में ये सवाल भी उठेगा कि अब आजम खान की भूमिका क्या होगी।

-आजम ,अमर सिंह के विरोधी रहे हैं और दोनों एक दूसरे पर कटाक्ष करने से भी नहीं चूकते।

-मुलायम के जन्मदिन पर सेफैई में अमर सिंह की मौजूदगी पर आजम ने कहा था कि तेज हवा चलती है तो कुछ कूड़ा भी चला आता है।

वार-पलटवार का खेल

-इसका जवाब भी अमर सिंह ने अपने अंदाज में दिया था सोने चांदी की दुकान के बाहर बैठा कूड़ा बीनने वाला सोने की कीमत नहीं जानता।

-दोनों एक दूसरे की शक्ल देखना भी पसंद नहीं करते लेकिन उनमें एक बात कॉमन है कि दोनों अपनी बात की शुरुआत शे'र से ही करते हैं।

Newstrack

Newstrack

Next Story