Top

अमर के खिलाफ भाई ने की बगावत, कहा-चमचों दलालों से घिरे रहना है फितरत

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 20 May 2016 8:10 AM GMT

अमर के खिलाफ भाई ने की बगावत, कहा-चमचों दलालों से घिरे रहना है फितरत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बलियाः सपा से राज्य सभा का टिकट मिलने के बाद अमर सिंह जहां गदगद हैं, वहीं उनके भाई अरविंद सिंह ने उनके खिलाफ बगावत का बिगुल फूंक दिया है। सपा से निष्काषित होने के बाद अमर के साथ मजबूती के साथ खड़े रहने वाले उनके भाई अरविंद ने उनके खिलाफ बगावत कर दी है। उन्‍हाेंने newztrack से बातचीत में कहा है कि वह अमर के असली चरित्र को लोगों के सामने लाएंगे।

यह भ्‍ाी पढ़ें... विरोध के बावजूद अमर सिंह को राज्यसभा भेजेगी सपा, ये है पूरी लिस्ट

अमर के भाई ने फेसबुक निकाला गुस्‍सा

-अरविंद ने 19 मई को फेसबुक पर अमर के खिलाफ टिप्पणी करते हुए उन पर सामंती समाजवाद करने का आरोप लगाया है।

-उन्‍होंने कहा है कि अमर एक स्वार्थी और स्व केंद्रित व्यक्ति हैं।

-उस समय उनकी नैतिकता और प्रेम कहां चला गया था जब वे मुलायम को अपशब्द कह रहे थे।

-उन्होंने अमर पर जोरदार प्रहार करते हुए लिखा है कि चमचों और दलालों से घिरा रहना उनकी फितरत है।

अरविंद ने क्‍या कहा

-अरविंद ने कहा कि अभी बालकांड से भइया की कथा की शुरुआत हुई है।

-आगे उनकी पूरी कहानी प्रसारित की जाएगी उनका दोहरा चरित्र उजागर किया जाएगा।

-उन्‍होंने 10 हजार समर्थकों के भविष्‍य के साथ खिलवाड़ किया है।-अब उनके असली चाल चरित्र को जल्‍द जनता जान पाएगी।

arvind

मिलने गए समर्थकों को धूप में खड़े रखा

-विगत कई सालों से निष्कासन पर चल रहे सपा के ठाकुर साहब को जब पद नवाजा गया तो बधाई देने दूर दराज के शुभ चिंतक उनके घर पहुंचे।

-चिलचिलाती धूप में और सड़क पर उन्हें खड़े रहने को कहा गया।

-एक गिलास पानी भी उन्हें नहीं दिया गया।

-इसे कहते हैं ठाकुर साहब का सामंती समाजवाद।

सक्रिय राजनीति में वापस आ सकते हैं

-अपने पोस्ट में अरविंद ने सक्रिय राजनीति में फिर से आने का स्पष्ट संकेत दिया है।

कौन है अरविंद

-अरविंद सपा नेता अमर सिंह के भाई हैं।

-सपा से निष्काषित होने के बाद अमर सिंह ने जब लोक मंच बनाया था तो प्रदेश प्रभारी बनाकर इसकी बागडोर अरविंद को सौपी थी।

-अरविंद ने लोक मंच का खूब प्रचार प्रसार किया था उन्‍होंने इटावा, आगरा समेत यूपी के कई शहरों में रैलियां आर्गनाइज करवाईं।

-वह अमर सिंह के राइट हैंड हुआ करते थे।

Newstrack

Newstrack

Next Story