Top

रिसेप्शन में रिश्‍तों की रिपेयरिंग, अमर ने एक तीर से लगाए दो निशाने

Admin

AdminBy Admin

Published on 2 April 2016 7:48 AM GMT

रिसेप्शन में रिश्‍तों की रिपेयरिंग, अमर ने एक तीर से लगाए दो निशाने
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊः आदित्य और राजलक्ष्मी के रिसेप्शन के बहाने शनिवार को अमर सिंह दिल्ली में अपना दम दिखा रहे हैं। इस तरह की राजनीति के मंझे हुए खिलाड़ी ​की तरह वह एक तीर से दो निशाने साध रहे हैं। पहला वह इसके जरिए विरोधियों को एक बार फिर अपनी ताकत का एहसास कराएंगे कि सामाजिक, राजनैतिक और कारोबारी गलियारों पर अब भी उनकी पकड़ है तो दूसरी ओर यह पार्टी सपा परिवार से उनके दरके रिश्तों की रिपेयरिंग में मददगार साबित होगी।

अमर और सपा परिवार के रिश्तों पर नजर डालें तो वर्ष 2010 में सपा से अमर सिंह को निकाल दिया गया था। इसके बाद अमर अगस्त 2014 में सपा के स्थापना दिवस के मौके पर जनेश्वर मिश्र पार्क में दिखे थे और तब से अब तक उनका सपा मुखिया मुलायम सिंह पर प्रभाव कायम है।

पीएम, राष्ट्रपति समेत कई जानी-मानी हस्तियों को दिया गया न्योता

-इस कार्यक्रम में आने के लिए प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति समेत कई प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों को न्योता दिया गया है।

-कई पूर्व सीएम समेत, दलों के प्रमुख नेताओं और फिल्मी कलाकारों को भी आमंत्रित किया गया है।

-सपा के ऐसे मंत्री और विधायक भी पार्टी में मौजूद रहेंगे।

-यूपी और दिल्ली के पत्रकारिता जगत की नामचीन हस्तियों को भी इस पार्टी में बुलाया गया है।

-यह पार्टी दिल्ली स्थित सुभाष चंद्रा के बंगले पर आयोजित की गई है।

-निमंत्रण पत्र श्रीमती और श्री अमर सिंह की तरफ से भेजे गए हैं और उस पर जी और एस्सल ग्रुप के चेयरमैन डाॅ. सुभाष चन्द्रा के अभिनन्दन का ​भी जिक्र है।

यह भी पढ़ें... संजय मिश्रा ने ली लोकायुक्त पद की शपथ, अमर सिंह ने बढ़ाई राजनीतिक गर्मी

पहले मिलने आते थे लखनऊ, अब बुलाया दिल्ली

-अभी हाल ही में अमर सिंह ने मुलायम को साथ लेकर भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी से मुलाकात की थी।

-गाहे-बेगाहे उनकी मुलाकातें भी होती रहती हैं।

-अब तक अमर सपा मुखिया से मिलने लखनऊ आते रहें और अब उन्होंने दिग्गज नेताओं समेत सपा कुनबे को दिल्ली आमंत्रित किया है।

अमर की वापसी को लेकर परिवार में ही मतभेद

-अमर सिंह की पार्टी में वापसी को लेकर सपा परिवार में ही मतभेद बताया जा रहा है।

-मुलायम सिंह के छोटे भाई शिवपाल यादव का अमर सिंह से भाईचारा साफ दिखता है।

-तो उनके चचेरे भाई रामगोपाल यादव साफ तौर पर अमर की वापसी को लेकर नाराजगी जाहिर कर चुके हैं।

अपर्णा को टिकट दिए जाने से भी बदले समीकरण

-वहीं अपर्णा यादव को विधानसभा चुनाव के लिए लखनऊ के कैंट विधानसभा क्षेत्र से टिकट दिए जाने के बाद भी समीकरण बदले हैं।

-दरअसल, सार्वजनिक तौर पर प्रतीक और अपर्णा यादव अमर सिंह से अपनी नजदीकी दर्शा चुके हैं

-और अब अपर्णा को टिकट दिए जाने के पीछे भी अमर सिंह के प्रभाव को जोड़ कर देखा जा रहा है।

-इससे भी अमर की पार्टी में वापसी को लेकर समीकरण बदले हैं।

आजम पहले से हैं खफा

-पार्टी सूत्रों की मानें तो अमर सिंह के पार्टी में लौटने की चर्चा के बाद से ही रामगोपाल और आजम खां नाराज बताए जा रहे हैं।

-सपा मुखिया ने तो यहां तक कहा था कि कि अमर सिंह दल में नहीं बल्कि उनके दिल मे हैं।

-इन्हीं कारणों की वजह से अमर सिंह की अब तक पार्टी में वापसी नहीं हो सकी है।

-हालांकि अमर भले ही पार्टी में न हो लेकिन सपा में अब भी एक ऐसा खेमा है, जिसकी प्रतिबद्धता अमर सिंह से जगजाहिर है।

Admin

Admin

Next Story