×

हापुड़ : स्टेशन से पहली बार गुजरी अमेरिकन इंजन लगी ट्रायल रेलगाड़ी

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 16 Nov 2018 3:16 PM GMT

हापुड़ : स्टेशन से पहली बार गुजरी अमेरिकन इंजन लगी ट्रायल रेलगाड़ी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

हापुड़ : यूपी के जनपद हापुड़ में मालगाड़ियों में लगने वाले अमेरिका पद्धति के इंजनों को अब सवारी गाड़ियों में भी लगाया जाएगा। इसके लिए शुक्रवार को दिल्ली से मुरादाबाद के लिए वाया हापुड़ होते हुए ट्रायल किया गया। ट्रायल सफल होने के बाद अधिकारी जल्द ही सवारी रेलगाड़ियों में इंजन लगाने की बात कह रहे हैं। इस अमेरिका पद्धति के इंजन को देखने के लिए स्टेशन पर यात्री की भारी भीड़ मौजूद रही।

मुरादाबाद रेल मंडल को कुछ समय पहले ही दर्जनों की संख्या में अमेरिका पद्धति के इंजन प्राप्त हुए हैं। इन इंजनों का पिछले काफी दिनों से रेलवे अधिकारियों द्वारा ट्रायल किया जा रहा था। ट्रायल सफल होने के बाद रेलवे अधिकारियों ने अमेरिका पद्धति वाले इंजनों से मालगाड़ियों का संचालन करने की बात कही थी। इन आधुनिक इंजन से मालगाड़ियां समय से अपने गंतव्य तक पहुंच जाएगी और रेलवे की आय में भी वृद्धि होगी। मालगाड़ियों में अमेरिका पद्धति के इंजन लगाने के बाद रेलवे अधिकारियों ने सवारी रेलगाड़ियों में भी इन इंजन को लगाने की बात कही। इसके लिए पिछले काफी दिनों से विभिन्न मार्गों पर इंजन लगाकर ट्रायल गाड़ियों को दौड़ाया जा रहा है।

शुक्रवार को भी एक ट्रायल अमेरिका इंजन लगी हुई दिल्ली से मुरादाबाद के लिए भेजी गई। यह ट्रायल रेलगाड़ी हापुड़ स्टेशन से होकर निकली तो इंजन देखने वाले यात्रियों की भारी भीड़ मौजूद रही। मुरादाबाद मंडल के रेल प्रबंधक एके सिंघल ने बताया कि आने वाले दिनों में अमेरिका पद्धति के इंजनों से सवारी रेलगाड़ियों को भी दौड़ाया जाएगा।इसलिए इंजन का ट्रायल किया जा रहा है। ट्रायल सफल हुआ है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story