×

UP: पकौड़े बेच छात्रों का गुस्सा फूटा, कहा- समय बर्बाद करने के लिए नहींं की थी पढ़ाई

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र में गुरुवार को डेढ़ घंटे के अंदर 125 रुपए के पकौड़े बिक गए।सपाइयों द्वारा लगाए गए पकौड़े स्टॉल पर कॉलेज के छात्रों ने जमकर मौज किया और तीखी प्रतिक्रिया भी दी। गुरुवार को अमेठी के आर.आर.पी.जी. कॉलेज पर समाजवादी के प्रदेश छात्र सभा नेताओं द्वारा राजनीतिक पहलू पर पकौड़ा स्टॉल लगाया गया। सपाई छात्रों ने प्रधानमंत्री पकौड़ा रोज़गार योजना का बैनर लगाकर पकौड़ा छाना और बेचा। छात्रों ने एक पकौड़े की कीमत 5 रुपए रखी थी और इसे बेचा। इसके बावजूद डेढ़ घंटे के अंदर 125 रुपए के पकौड़े बिक सके जिसमें उनकी लागत भी नहीं निकल सकी।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 15 Feb 2018 3:07 PM GMT

UP: पकौड़े बेच छात्रों का गुस्सा फूटा, कहा- समय बर्बाद करने के लिए नहींं की थी पढ़ाई
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

अमेठी: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र में गुरुवार (15 फरवरी) को डेढ़ घंटे के अंदर 125 रुपए के पकौड़े बिक गए। सपाइयों द्वारा लगाए गए पकौड़े स्टॉल पर कॉलेज के छात्रों ने जमकर मौज किया और तीखी प्रतिक्रिया भी दी।

गुरुवार को अमेठी के आर.आर.पी.जी. कॉलेज पर समाजवादी के प्रदेश छात्र सभा नेताओं द्वारा राजनीतिक पहलू पर पकौड़ा स्टॉल लगाया गया। सपाई छात्रों ने प्रधानमंत्री पकौड़ा रोज़गार योजना का बैनर लगाकर पकौड़ा छाना और बेचा।

छात्रों ने एक पकौड़े की कीमत 5 रुपए रखी थी और इसे बेचा। इसके बावजूद डेढ़ घंटे के अंदर 125 रुपए के पकौड़े बिक सके जिसमें उनकी लागत भी नहीं निकल सकी।

छात्रों की प्रतिक्रिया

इस बीच पकौड़ा खरीदने वाले छात्रों ने अपनी तीखी प्रतिक्रिया भी दी। छात्र अभिषेक यादव ने कहा कि सरकार ने कहा पकौड़ा बेचना रोज़गार है, तो जो भीख मांग रहे हैं वो भी रोज़गार है। इतना पढ़ाई लिखाई करने के बाद जो लड़के दो चार लाख रुपए यूनिवर्सिटी में ख़र्च कर रहे वहां जाकर अपना समय बर्बाद करे सिर्फ पकौड़ा बेचने के लिए।

पकौड़ा बेचना ही रोज़गार नहीं

वहीं छात्रा संध्या तिवारी ने कहा कि पकौड़ा बेचना ही रोज़गार में नहीं आता। खासकर उन लोगों के लिए जिन्होंने कितना लाखों खर्चा करके उच्च शिक्षा ग्रहण की हो। हम लोग पकौड़े बेचने के लिये थोड़ी न पढ़-लिख रहे हैं। युवाओं को रोज़गार चाहिए।

अमेठी में कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई के सदस्यों ने भी पीएम मोदी के खिलाफ पकौड़ा प्रोटेस्ट किया है। एनएसयूआई जिला अध्यक्ष सौरभ मिश्रा ने कहा कि 'हम तीन साल से नौकरी का इंतजार कर रहे हैं, लेकिन सरकार ने कुछ नहीं किया। हम सभी ने फीस जमा कर पढ़ाई की, लेकिन आज हमारे पास नौकरी नहीं है। दो करोड़ नौकरियां कहां हैं, जिनका वादा मोदी जी ने किया था?'

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story