×

UP में बर्ड फ्लू अलर्ट: बचाव हेतु बरतें सावधानियां, मऊ डीएम ने दिये सख्त आदेश

जिलाधिकारी ने सभी ई0ओ0 नगर पालिका को आबादी से सुअरों को बाहर करने के निर्देश दिए तथा जो पोल्ट्री फार्म आबादी से सटे है उन्हें भी हटाने के निर्देश दिए। उक्त अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि यह रोग प्रवासियों पक्षियों में ज्यादा पाए जाने की आशंका है इसलिए कोई भी व्यक्ति प्रवासी पक्षियों को न खाएं क्योंकि उसको मारना ही अपराध है।

Shraddha Khare

Shraddha KhareBy Shraddha Khare

Published on 9 Jan 2021 10:16 AM GMT

UP में बर्ड फ्लू अलर्ट: बचाव हेतु बरतें सावधानियां, मऊ डीएम ने दिये सख्त आदेश
X
UP में बर्ड फ्लू अलर्ट: बचाव हेतु बरतें सावधानियां, मऊ डीएम ने दिये सख्त आदेश photos (social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

मऊ : एवियन इन्फ्लुएन्जा (बर्डफ्लु) के रोकथाम हेतु जिला स्तर पर एक समिति का गठन किया गया। समिति बैठक जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल की अध्यक्षता में जिलाधिकारी कैम्प कार्यालय में सम्पन्न हुई। उक्त अवसर पर जिलाधिकारी ने एवियन इन्फ्लुएन्जा (बर्डफ्लू) रोग के बारे में बताया कि यह पक्षियों में होनें वाला विषाणु जनिक संक्रमण रोग है।

बर्डफ्लु रोकथाम के लिए जिलाधिकारी ने दिया निर्देश

जिलाधिकारी ने मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि सभी ब्लाकों में अपने डॉक्टरों के माध्यम से पोल्ट्री फार्म, हैचरी फार्म के संचालकों की बैठक करा लिया जाए तथा उन्हें प्रभावी लक्षण के बारे में जागरूक कर दिया जाए सभी पोल्ट्री फार्म का स्थान एवं पता सभी उप जिलाधिकारी के पास भी रहे । जिससे वह रैंडम जांच कर सके। जिलाधिकारी ने मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को पक्षियों के रेंडम सैंपल लेने के निर्देश दिए।

व्यक्ति प्रवासी पक्षियों को न खाएं

जिलाधिकारी ने सभी ई0ओ0 नगर पालिका को आबादी से सुअरों को बाहर करने के निर्देश दिए तथा जो पोल्ट्री फार्म आबादी से सटे है उन्हें भी हटाने के निर्देश दिए। उक्त अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि यह रोग प्रवासियों पक्षियों में ज्यादा पाए जाने की आशंका है इसलिए कोई भी व्यक्ति प्रवासी पक्षियों को न खाएं क्योंकि उसको मारना ही अपराध है। उक्त अवसर पर जिलाधिकारी द्वारा मुख्य चिकित्सा अधिकारी को जिला अस्पताल में एक अलग वार्ड बनाने के निर्देश दिए।

उत्तर प्रदेश में दिखी रोकथाम वर्ल्ड फ्लू से

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि इस रोग की रोकथाम के लिए दवाएं जनपद में उपलब्ध है। उक्त अवसर पर जिलाधिकारी ने डॉक्टरों को वेबीनार से प्रशिक्षित करने के भी निर्देश दिए। मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी द्वारा बताया गया कि वर्ल्ड फ्लू का कोई केस अभी उत्तर प्रदेश में नहीं मिला है। जिलाधिकारी द्वारा उपरोक्त निर्देश के क्रम में मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया गया है कि जनपद में एवियन इन्फ्लुएन्जा (बर्डफ्लू) रोग के बारे में जनसामान्य को अवगत कराए कि यह रोग सामान्यतः यह पक्षियों को ही संक्रमित करता है।

birdflu effect

शरीर के इन अंगों में हो सकती समस्या

इसके अतिरिक्त विपरीत परिस्थितियों में स्पीसीज बैरियर को क्रास कर यह मनुष्य को भी संक्रमित कर सकता है। पक्षियों में रोग के प्रसार के बारे में बताया गया कि संक्रमित पक्षियों की आँख, श्वास नलिका तथा बीट के सम्पर्क में आने से पक्षियों व मनुष्यों में फैलता है। पक्षियों में मुख्य लक्षण के बारे में बताया गया कि पक्षी को ज्वर आना, फैटल कलगी व पैरो का बैगनी हो जाना, पक्षियों के गर्दन तथा आँखों के निचले हिस्से में सूजन, हरे व लाल रंग की बीट बताया गया।

बर्डफ्लू बचाव हेतु आवश्यक सावधानियां

उन्होंने बताया कि कि एवियन इन्फ्लुएन्जा(बर्डफ्लू) बीमारी से बचाव हेतु आवश्यक सावधानियों को बरतने के सम्बन्ध में जनसामान्य को जागरूक करने के निर्देश पशु चिकित्साधिकारियों को दिये। उन्होंने बताया कि जनपद एवं तहसील स्तर पर रैपिड रिपांसे टीम/टास्कफोर्स गठित करते हुए समिति को निर्देशित किया है कि पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्यूपमेन्ट व एण्डी वायरल दवाइयों का इस्तेमाल कर पक्षियों की कलिंग, टीकाकरण, पर्यवेक्षण, विसंक्रमण का कार्य सम्पादित करने का निर्देश दिया गया। इसके अतिरिक्त मुख्य पशुचिकित्साधिकारी स्तर से समस्त पशुचिकित्साधिकारियों को जनपद में संचालित पोल्ट्री फार्मो का निरीक्षण करने एवं फार्म मालिकों को बायोसिक्योरिटी उपाय अपनाने के निर्देश दिये गये हैं।

यह भी पढ़ें: UP में फिर चली तबादला एक्सप्रेस, लखनऊ से 41 इंस्पेक्टरों का ट्रांसफर, देखें पूरी लिस्ट

कन्ट्रोल रूम स्थापित किया जाएगा

जिलाधिकारी द्वारा एहतियातन जनसामान्य की सुविधा के लिये मुख्य पशु चिकित्साधिकारी के कार्यालय में कन्ट्रोल रूम स्थापित किया गया। उन्होंने जनसामान्य/मुर्गी पालकों से अपील की है कि अफवाहों पर ध्यान न दिया जाय। यदि जनपद में कहीं भी पक्षियों/मुर्गियों की अधिक संख्या में अचानक मुत्यु होती है, तो उपरोक्त दूरभाष नम्बर पर जानकारी देकर सहयोग करें। उक्त अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी, अपर जिलाधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, पशु चिकित्सा अधिकारी, जिला सूचना अधिकारी उपस्थित रहे।

रिपोर्ट : आसिफ रिजवी

ये भी देखें: किराएदारों को राहत: मकान मालिकों पर बड़ी खबर, सरकार ने लागू किया ये नियम

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shraddha Khare

Shraddha Khare

Next Story