Top

अमेठी में 'घर' के ही लोगों ने निकाल दी राहुल गांधी की शवयात्रा

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 14 Feb 2016 3:50 PM GMT

अमेठी में घर के ही लोगों ने निकाल दी राहुल गांधी की शवयात्रा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी अपना घर मानते हैं, वहीँ के नागरिकों ने उनकी शवयात्रा निकाल दी। अमेठी के लोग लोग जेएनयू में चल रहे देश विरोधी आंदोलन को राहुल गांधी का समर्थन मिलने से काफी नाराज हैं। इसके चलते लोगों ने केवल उनकी शवयात्रा निकाली बल्कि उनका पुतला भी फूंका गया।

जेएनयू में राष्ट्र-विरोधियों का समर्थन करने पर लोग हुए नाराज

भारतीय जनता युवा मोर्चा की अगुवाई में निकली इस सांकेतिक शवयात्रा का समापन अमेठी शहर के सगरा तिराहे पर हुआ। यहाँ राहुल गांधी के पुतले को फूंका गया। ईस दौरान लोग राहुल गांधी मुर्दाबाद और भारत माता जय के नारे लगाते रहे। राहुल ने जेएनयू में देश विरोधी प्रदर्शन करने वाले छात्रों को समर्थन देते हुए कहा था कि जो उनकी आवाज दबाना चाहते हैं वो असली देशद्रोही हैं।

रविवार को पहुंचे थे जेएनयू

रविवार को राहुल गांधी दिल्ली प्रदेश कांग्रेस प्रमुख अजय माकन और पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा के साथ जेएनयू पहुंचे थे। वे वहां देशद्रोह मामले में जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार की गिरफ्तारी के एक दिन बाद प्रदर्शन कर रहे छात्रों के प्रति एकजुटता प्रदर्शित करने पहुंचे थे। इस दौरान राहुल को बीजेपी की छात्र इकाई एबीवीपी के सदस्यों ने काले झंडे भी दिखाए।

Newstrack

Newstrack

Next Story