×

इस दुल्हन पर है यूपी STF की नजर, मामला फिल्मी है मेरे दोस्त

पश्चिम यूपी में एक ऐसी शादी हो रही है, जिसपर एसटीएफ की नजर जम गई है। ये शादी है गैंगस्टर अनिल दुजाना की, सूरजपुर कोर्ट में अनिल और पूजा की सगाई और शादी पंजीकरण की अर्जी से प्रशासन और आम आदमी सकते में है।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 18 Feb 2019 9:47 AM GMT

इस दुल्हन पर है यूपी STF की नजर, मामला फिल्मी है मेरे दोस्त
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

मेरठ : पश्चिम यूपी में एक ऐसी शादी हो रही है, जिसपर एसटीएफ की नजर जम गई है। ये शादी है गैंगस्टर अनिल दुजाना की, सूरजपुर कोर्ट में अनिल और पूजा की सगाई और शादी पंजीकरण की अर्जी से प्रशासन और आम आदमी सकते में है।

यह भी पढ़ें…..पाकिस्तान दौरे पर सऊदी अरब के प्रिंस, दोनों देशों के बीच 20 अरब डॉलर का समझौता

शादी के पीछे की कहानी फिल्मी है

अनिल की सगाई के बाद हरकत में आई एसटीएफ ने अपनी जांच में पाया कि पूजा के पिता लीलू का बागपत में राजकुमार से जमीनी विवाद है। राजकुमार ने अपनी दो बेटियों की शादी गाजियाबाद के कुख्यात बदमाश हरेंद्र खड़खड़ी व उसके भाई से कर दी।

इसके बाद लीलू ने दामाद के तौर पर अनिल दुजाना को पसंद किया। लीलू रिश्ता लेकर अनिल के घर पहुंच गए। परिवार ने रिश्ते की जानकारी अनिल को दी। अनिल ने जब अपनी रजामंदी दे दी तो उसके वकील ने कोर्ट की इजाजत ले सूरजपुर कोर्ट परिसर में अनिल दुजाना और पूजा ने एक-दूसरे को अंगूठी पहनाकर सगाई की।

यह भी पढ़ें…..किसी एक का काम नहीं पुलवामा आतंकी हमला, सुरक्षा में हुई चूक: पूर्व रॉ चीफ

एसटीएफ के मुताबिक अनिल दुजाना और पूजा का रिश्ता भविष्य में बड़े अपराधिक घटनाक्रम को अंजाम दे सकता है। अब एसटीएफ पूजा के परिवार पर भी नजर रखे हुए है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story