योगी सरकार पर हमला: केजरीवाल ने किसानों पर सख्ती करने पर दी सलाह

आप सांसद ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा कि ये भारत के अन्नदाता है आदित्यनाथ जी कोई गुंडे मवाली या माफिया नहीं पराली नष्ट करना सरकार की जिम्मेदारी है कुछ नहीं पता तो दिल्ली आ कर अरविंद केजरीवाल से सीखिये दिल्ली में सरकार ने किसान को डीकंपोजर उपलब्ध कराया किसान ने पराली नहीं जलाई।

arvind-kejriwal-sanjay-singh

दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल (फोटो- सोशल मीडिया)

लखनऊ: आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद व यूपी प्रभारी संजय सिंह ने पराली जलाने पर जेल भेजने पर यूपी की योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि किसान अन्नदाता है कोई गुंडा-मवाली नहीं, पराली नष्ट करना सरकार की जिम्मेदारी है। उन्होंने नसीहत देते हुए कहा कि योगी सरकार को पराली को नष्ट करने का तरीका दिल्ली सरकार से सीखना चाहिए।

ये भी पढ़ें:DM ने सीडीओ को मिशन शक्ति कार्यक्रम हेतु बनाया बेस्ट अम्बेस्डर, कार्यक्रम में दिए निर्देश

आप सांसद ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा

आप सांसद ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा कि ये भारत के अन्नदाता है आदित्यनाथ जी कोई गुंडे मवाली या माफिया नहीं पराली नष्ट करना सरकार की जिम्मेदारी है कुछ नहीं पता तो दिल्ली आ कर अरविंद केजरीवाल से सीखिये दिल्ली में सरकार ने किसान को डीकंपोजर उपलब्ध कराया किसान ने पराली नहीं जलाई।

संजय सिंह के ट्वीट के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री व आप मुखिया अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट कर यूपी सरकार को निशाने पर लिया। केजरीवाल ने अपने ट्वीट में लिखा है कि पड़ोसी राज्य सरकारें पराली जलाने वाले किसानों पर मुकदमें कर रही हैं और उन्हे गिरफ्तार कर रही हैं। मेरी सभी सरकारों से अपील है कि गरीब किसान को सताया ना जाए। पूसा इंस्टीट्यूट ने एक घोल बनाया है जिसके छिड़कने से 20 दिन मे पराली खाद बन जाती है।

हमने इस साल सारी दिल्ली के खेतों में फ्री में इस घोल का छिड़काव किया

केजरीवाल ने आगे कहा है कि हमने इस साल सारी दिल्ली के खेतों में फ्री में इस घोल का छिड़काव किया। बहुत बढ़िया नतीजे आये। घोल बहुत सस्ता है। इस घोल को आप भी अपने किसानों को मुफ्त दीजिए, वो कभी पराली नहीं जलायेंगे। किसान हमारा अन्नदाता है। हमें उसकी इज्जत करनी चाहिए।

ये भी पढ़ें:शादी के 8 साल बाद भी नहीं हो रही थी संतान, पत्नी ने पति को जलाकर मार डाला

बता दे कि इस समय वायु प्रदूषण अपने चरम पर है। आसमान पर दिन भर ऐसी धुंध छाई रहती है कि सूरज भी नहीं दिखता है। ऐसे में लोगों को श्वास संबंधी शिकायतें बढ़ गई है। इसे रोकने के लिए यूपी सरकार ने सख्ती से किसानों के पराली जलाने पर रोक लगा रखी है। इसी बीच मैनपुरी से खबर सामने आयी है कि मैनपुरी पुलिस ने पराली जलाने के मामलें में 05 किसानों को हिरासत में ले कर एसडीएम कोर्ट में पेश किया जहां से पांचों किसानों को जेल भेज दिया गया है।

मनीष श्रीवास्तव

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App