ड्रोन ने भरी उड़ान तो पकड़े गए हमलावर, घायलों ने सुनाई आपबीती

कोरोना महामारी को रोकने के लिए चल रहे लॉकडाउन में कई लोगों के एकत्र होकर एक घर में नमाज पढ़ने से मना करने से खफा उपद्रवियों के पुलिसकर्मियों पर हमले के बाद पूरा मोहल्ला छावनी में तब्दील हो गया।

कन्नौज: कोरोना महामारी को रोकने के लिए चल रहे लॉकडाउन में कई लोगों के एकत्र होकर एक घर में नमाज पढ़ने से मना करने से खफा उपद्रवियों के पुलिसकर्मियों पर हमले के बाद पूरा मोहल्ला छावनी में तब्दील हो गया। अपनी करतूत को अंजाम देने के बाद हमलावर आसपास घरों में छिप गए। पुलिस ने उनकी तलाश में सर्च ऑपरेशन चलाया। अलग-अलग घरों में छिपे होने के बाद भी उन्हें पकड़ लिया गया।

शुक्रवार दोपहर कोतवाली सदर क्षेत्र के मोहल्ला कागजियाना में दो सिपाही व एलआईयू आरक्षी पर हुए हमला की खबर से प्रशासनिक हलके में हड़कम्प मच गया। समधन में मौजूद डीएम राकेश मिश्र व एसपी अमरेंद्र प्रसाद सिंह भी मौके पर पहुंचे। एडीएम गजेंद्र कुमार, एएसपी विनोद कुमार, एसडीएम सदर शैलेष कुमार, सीओ श्रीकांत प्रजापति आदि कई प्रशासनिक व पुलिस अधिकारी भी वारदात स्थल पहुंचे। सभी ने जरूरी जानकारी जुटाई। माइक से ऐलान कर लोगों से कहा गया कि इधर-उधर न झांकें। सभी लोग अपने-अपने घरों में रहें। जरूरी पड़ताल करने के बाद पुलिसकर्मी उन घरों में घुसे, जहां से लोगों ने पत्थर फेक पुलिस व एलआईयू कर्मी पर हमला बोला था। एक के बाद एक करके कई घरों में तलाशी ली गई। वहां मौजूद लोगों को पकड़ा गया। जिसने आनाकानी की, उन्हें पुलिस ने अपने अंदाज में समझाकर बाहर निकाला। इस बीच आसपास के घरों में लोगों का मजमा लगा रहा। पुलिस सभी से अपने घर में रहने की अपील करती रही। पूरा मोहल्ला छावनी में बदल गया।

ड्रोन ने उड़ान भर कैद किया नजारा

हमला करने वालों ने घर की छतों पर पत्थर और उस तरह की चीजें तो इकट्ठा नहीं कर रखी हैं, इसके लिए पुलिस ने बाकायदा ड्रोन कैमरे की मदद ली। ड्रोन कैमरा उड़ाकर साबिर के घर और उसके आसपास के मकानों की छत का भी नजारा लिया गया। अफसरों ने ड्रोन कैमरे की मदद से आसपास के घरों की छत का नजारा देखा। कुछ घरों की छतों पर ईंटों का ढेर लगा हुआ मिला। पुलिस ने उन घर वालों को भी हिरासत में लिया है जिनके घर की छतों पर ईंट-पत्थर रखे हुए मिले।

घायल सिपाहयों ने सुनाई आपबीती, बोले भगवान ने बचाया

मोहल्ला कागजियाना में नमाजियों के हमले से घायल हुए दो सिपाहियों व एलआईयू कर्मी को सबसे पहले सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र यानि वीडीएचभेजा गया। यहां डॉक्टरों व स्वास्थ्यकर्मियों ने प्राथमिक उपचार किया। गम्भीर दो घायलों को उपचार के बाद एंबुलेंस से जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। डॉक्टरों की मानें तो सिपाही सौदान सिंह के सबसे अधिक चोट लगी है। पत्थर लगने से सिर फट गया। एलआईयू कर्मी राजवीर भी घायल हुए हैं, उनके मुंह में चोट आई है। सिपाही पंकज कुमार भी चुटहिल हुए हैं। घायल राजवीर सिंह ने बताया कि हमलावरों ने उनका मोबाइल भी छीन लिया। गाड़ी बुरी तरह से क्षतिग्रस्त कर दी। किसी तरह जान बचाकर निकल आए। अगर मौके से न निकलते तो कुछ भी हो जाता। हमलावरों ने पत्थर बरसाए, कुछेक के हाथों में फावड़ा व कुल्हाड़ी भी थी।

रिपोर्ट: अजय मिश्रा