कोरोना का ताबीज: मेडिकल स्टोरों पर खेला जा रहा माइंड गेम, ऐसे हो रही लूट

जिसका फायदा उठाकर जनपद औरैया के मेडिकल स्टोर संचालक भोली जनता को लूटने के लिए 5 रुपए की चीज को लोगों में 50 से 100 रुपए तक ठगने से भी नहीं चूक रहे हैं।

Auraiya Tabij

औरैया में धड़ल्ले से बिक रहे जापानी ताबीज (फोटो. सोशल मीडिया)

औरैया: कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए लोग अलग-अलग तरह से अपने आप को बचाने का कार्य कर रहे हैं। वहीं जनपद में मेडिकल स्टोर के संचालक जापानी ताबीज को संक्रमण से बचने का तरीका बता कर लोगों को लूट रहे हैं।

मेडिकल स्टोर संचालक लोगों को बेच रहे कोरोना रक्षक ताबीज

वर्तमान समय में संक्रमण एक ऐसी बीमारी के रूप में उभर कर आई है जिसमें लोग बचने के लिए किसी भी प्रकार की कीमत को अदा कर सकते हैं। जिसका फायदा उठाकर जनपद औरैया के मेडिकल स्टोर संचालक भोली जनता को लूटने के लिए 5 रुपए की चीज को लोगों में 50 से 100 रुपए तक ठगने से भी नहीं चूक रहे हैं। शुक्रवार को जब न्यूज़ ट्रेक की टीम ने ताबीज टांगे हुए लोगों से पूछताछ की तो कोई भी खास सफलता हाथ नहीं लगी।

ये भी पढ़ें-   चीन के वुहान में खुले 2800 से ज्यादा स्कूल, कोरोना के चलते जनवरी से थे बंद

Auraiya Tabij
औरैया में धड़ल्ले से बिक रहे जापानी ताबीज (फोटो. सोशल मीडिया)

और पता चला कि लोग सिर्फ इसलिए इस ताबीज को पहने हुए हैं कि उन्हें किसी न किसी माध्यम से यह जानकारी मिली है कि इससे कोरोना उन तक नहीं पहुंच सकेगा। मगर बेचारे लोगों को शायद यह नहीं मालूम कि अपनी जेब को भरने के लिए मेडिकल स्टोर के संचालक व अन्य लोग इस पर कार्य कर रहे हैं और वह लोगों की जेबों से संक्रमण बचाए जाने के नाम पर अंधाधुंध कमाई कर रहे हैं।

धड़ल्ले से बेचा जा रहा ताबीज

Auraiya Tabij
औरैया में धड़ल्ले से बिक रहे जापानी ताबीज (फोटो. सोशल मीडिया)

शुक्रवार को जब न्यूजट्रेक की टीम बाजार में भ्रमण कर रही थी तब उन्हें जानकारी मिली कि कई लोग एक कागज को अपने गले में डालकर घूम रहे हैं। जब इस संबंध में उनसे बात की गई तो उन्होंने बताया कि किसी के माध्यम से उन्हें जानकारी मिली कि इसको डालने से उन पर कोरोना प्रभावी नहीं हो सकता है। जब उनसे जानकारी चाही गई तो पता चला कि मेडिकल स्टोरों पर यह ताबीज धड़ल्ले से बेचा जा रहा है। यही नहीं मेडिकल स्टोर के संचालक इस बारे में किसी भी प्रकार की बात करने से अपना पल्ला झाड़ रहे हैं।

ये भी पढ़ें-   नेपाल के वित्त मंत्री डॉ. युबराज खातिवाड़ा ने अपने पद से इस्तीफा दिया

इस संबंध में जब सीएमएस लाखन सिंह जानकारी चाही गई तो उन्होंने बताया कि उन्हें इस मामले की जानकारी है और वह जांच पड़ताल कर रहे हैं। जब उनसे मेडिकल स्टोरों पर इस जापानी लाकेट की बिक्री किए जाने की जानकारी चाही गई तो उन्होंने बताया इस संबंध में उन्हें कोई जानकारी नहीं है। जबकि शहर के बाजारों व जिला अस्पताल के सामने ही लोगों को लूटने के लिए जापानी ताबीज धड़ल्ले से बेचा जा रहा है। यह सिर्फ लोगों के लिए धोखा साबित हो रहा है।

रिपोर्ट-  प्रवेश चतुर्वेदी

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App