Top

कोरोना मरीजों के अंतिम संस्कार के लिए जिलाधिकारी का फरमान, ग्राम पंचायत निधि से दी जाएगी मदद

गुरुवार को जिलाधिकारी सुनील कुमार वर्मा ने एकीकृत कोविड कमांड कंट्रोल सेंटर का निरीक्षण किया।

Pravesh Chaturvedi

Pravesh ChaturvediReporter Pravesh ChaturvediMonikaPublished By Monika

Published on 14 May 2021 4:07 AM GMT

DM giving information about corona vaccine
X

कोरोना वैक्सीन की जानकारी देते डीएम (फोटो : सोशल मीडिया )

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

औरैया: गुरुवार को जिलाधिकारी सुनील कुमार वर्मा (DM Sunil Kumar Verma) ने एकीकृत कोविड कमांड कंट्रोल सेंटर (Covid Command Control Center) का निरीक्षण किया। जहां पर उन्होंने वैक्सीनेशन (Vaccination) और कोरोना मरीज़ों (Corona patients) से संबंधित अभिलेखों को चेक किया। उन्होंने निर्देश दिए कि प्रधानों को निर्देश किया जाए कि जिन गांवों में कोविड-19 के कारण मरीज की मृत्यु (Death) हो रही है वहां पर कोविड-19 की गाइडलाइन (Covid-19 Guidelines) के अनुसार ही दाह संस्कार (cremation) किया जाए। यदि कोई परिजन कोविड गाइडलाइन के अनुसार दाह संस्कार करने में समर्थ नहीं है तो ग्राम पंचायत निधि (Gram panchayat fund) के द्वारा उसका दाह संस्कार कराया जाए।

जिलाधिकारी ने कहा कि आरआरटी टीम की गाड़ियों के द्वारा वैक्सीनेशन के संबंध में प्रचार-प्रसार कराया जाए लोगों के मन में व्याप्त भ्रांतियों एवं अफवाहों को दूर किया जाए। आरआरटी टीम के साथ वैक्सीनेशन करने वाली टीम भी भ्रमण पर जाए। इसके अलावा उन्होंने कल भ्रमण के दौरान देखा कि कोविड-19 एवं वैक्सीन के संबंध में जिला अस्पताल, सीएचसी बिधूना, सीएचसी अछल्दा, सीएचसी दिबियापुर एवं पीएचसी कुदरकोट के द्वारा प्रचार प्रसार नहीं किया जा रहा था इस पर उन्होंने इन सभी के प्रभारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी की बात सुनते ग्रामवासी (फोटो : सोशल मीडिया)

इसके अलावा उन्होंने कहा कि सभी एसडीएम को निर्देश दिए जाएं कि वे अपने-अपने क्षेत्र के धर्म गुरुओं के साथ बैठक कर वैक्सीनेशन के बारे में जागरूकता फैलाई जाये। साथ ही उन्होंने निर्देश दिए कि चौकीदारों के माध्यम से भी टीकाकरण के संबंध में प्रचार-प्रसार कराया जाए। उन्होंने बमुरीपुर और अयाना में आशा, एएनएम, प्रधान एवं संभ्रांत व्यक्तियों के साथ बैठक कर वैक्सीनेशन के संबंध में चर्चा की। उन्होंने सभी लोगों से टीकाकरण का प्रचार प्रसार करने लोगों के बीच फैली भ्रांतियों एवं अफवाहों को दूर करने के निर्देश दिए। उन्होंने वैक्सीनेशन के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि वैक्सीन किस तरह काम करती है और किस तरह यह कोरोना से सुरक्षा करती है।

निरीक्षण करने पहुंचे डीएम (फोटो : सोशल मीडिया)

डीएम ने वैक्सीन लगवाने की लोगों से की अपील

उन्होंने बताया कि वैक्सीन लगवाने के बाद हल्का सा बुखार आ सकता है परंतु यह बुखार वैक्सीन के काम करने का संकेत है ना की किसी बीमारी का इसलिए इससे घबराने की कोई जरूरत नहीं है वैक्सीन लगवाए, ये पूरी तरह से सुरक्षित है। वैक्सीन की दोनों डोज लेना बहुत जरूरी है जो लोग पहली डोज ले चुके हैं और दूसरी डोज जरूर लगवा है। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने वैक्सीन लगवाई है। वह इस दूसरी लहर में पूरी तरह से सुरक्षित है। जिलाधिकारी ने कहा कि वैक्सीन से शरीर में प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है जिन लोगों ने वैक्सीन लगवा ली है। यदि उन्हें कोरोना हो भी जाता है तो वह थोड़े ही समय में ठीक हो जाते हैं परंतु जिन्होंने वैक्सीन नहीं लगवाई उनके लिए यह घातक साबित हो सकता है। इसलिए सभी लोग वैक्सीन अवश्य लगवाएं। सरकार के द्वारा बनाई गयी वैक्सीन एकदम सुरक्षित है। उन्होंने कहा कि टीकाकरण को लेकर कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए। इसको लेकर कोई भी अफवाह नहीं फैलाई जानी चाहिए यदि कोई अफवाह फैलाता है तो उसके खिलाफ एसडीएम को अवगत करायें उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। चौपाल में एसडीएम औरैया रमेश यादव, एसडीएम अजीतमल विजेता, डिप्टी कलेक्टर आदित्य सिंह, बीडीओ औरैया बब्बन प्रसाद मौर्या सहित अन्य संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Monika

Monika

Next Story