Top

औरैया गोलीकांड से दहल उठे लोग, सर्राफ व्यापारी की मौत के बाद बाजार रहा बंद

बताते चलें शनिवार 13 फरवरी की देर शाम औरैया फफूंद मार्ग पर सर्राफ की दुकान किए ग्राम बरौआ निवासी तेज सिंह की लूट करने के बाद गोली मारकर हत्या कर दी थी।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 15 Feb 2021 9:32 AM GMT

औरैया गोलीकांड से दहल उठे लोग, सर्राफ व्यापारी की मौत के बाद बाजार रहा बंद
X
इससे पहले 8 दिसम्बर को भारत बंद का आह्वान किया गया था। उस वक्त कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन के समर्थन में ये बंद बुलाया गया था।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

औरैया: शनिवार की देर शाम एक सर्राफा व्यापारी को बदमाशों ने लूट की घटना को अंजाम देने के बाद गोली मार दी थी। जिससे व्यापारी की उपचार के दौरान मौत हो गई थी। जिससे शहर में सनसनी फैल गई थी। आरोपियों की गिरफ्तारी न किए जाने के विरोध में सर्राफा कारोबारियों ने सोमवार को अपनी दुकान है बंद करते हुए विरोध प्रदर्शित किया।

ये भी पढ़ें:लखनऊ: नेशनल कॉलेज में एसीपी चिरंजीव सिन्हा ने छात्राओं को सिखाया सेल्फ डिफेंस

लूट करने के बाद गोली मारकर हत्या कर दी थी

बताते चलें शनिवार 13 फरवरी की देर शाम औरैया फफूंद मार्ग पर सर्राफ की दुकान किए ग्राम बरौआ निवासी तेज सिंह की लूट करने के बाद गोली मारकर हत्या कर दी थी। जिससे पूरे सर्राफा बाजार में दहशत का माहौल व्याप्त हो गया था। व्यापारियों ने आरोपियों की गिरफ्तारी किए जाने के लिए पुलिस कप्तान से मांग की थी। मगर पुलिस द्वारा कार्यवाही न किए जाने से क्षुब्ध होकर सर्राफा कारोबारियों ने सोमवार को बाजार बंद रखकर अपना विरोध प्रदर्शित किया।

ये भी पढ़ें:यूपी के बिजनौर में किसान पंचायत को संबोधित करतीं प्रियंका गांधी- Live

इस दौरान सर्राफा कारोबारियों ने बताया

इस दौरान सर्राफा कारोबारियों ने बताया कि यदि खुलेआम इस तरह की घटनाएं होती रहेंगी तो क्षेत्र में दहशत तो फैलेगी। वहीं आम व्यापारी के मन में भी खौफ उत्पन्न हो जाएगा। उन्होंने कहा यह पुलिस की लचर कार्यशैली है जिसके चलते बदमाश इस तरह की घटनाओं को अंजाम देने में लगे हुए हैं। सर्राफा व्यापार संगठन के अध्यक्ष सर्वेश वर्मा, संजय कुमार वर्मा, भरत वर्मा, शशि वर्मा, उमेश वर्मा, दिनेश उर्फ लल्लू वर्मा, हीरा वर्मा, सतीश वर्मा आदि लोगों ने मांग करते हुए कहा कि घड़ी आरोपियों की गिरफ्तारी की जाए नहीं तो वह लोग अपनी दुकानें बंद करते हुए विरोध प्रदर्शित करते रहेंगे।

रिपोर्ट- प्रवेश चतुर्वेदी

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story