×

Jhansi News: झाँसी मण्डल के सभी सरकारी रेस्ट हाउस में बुंदेली व्यंजन की उपलब्धता अनिवार्य

Jhansi News: जिलाधिकारी झाँसी रविन्द्र कुमार ने कहा कि बुन्देली व्यंजन बहुत ही स्वादिष्ट हैं वे अपने स्तर से भी इन व्यंजनों के प्रचार-प्रसार हेतु पहल करेंगे।

B.K Kushwaha
Updated on: 29 Jun 2022 5:20 PM GMT
Availability of Bundeli cuisine is mandatory in all government rest houses of Jhansi division.
X

झाँसी: बुन्देलखण्ड के क्षेत्रिय व्यंजन

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Jhansi News: आधुनिकता की आँधी में नई पीढ़ी अपनी अनुपम विरासत को खो न दे इसके लिए इनका संरक्षण जरूरी है। बुन्देलखण्ड के क्षेत्रिय व्यंजन (Regional Cuisine of Bundelkhand) बहुत ही पौष्टिक व यहाँ की जलवायु के अनुरूप हैं इनकी वैज्ञानिक दृष्टिकोण से भी उपयोगिता बहुत अधिक है परन्तु धीर-धीरे बुन्देलखण्ड के परंपरागत व्यंजन लुप्त (Traditional cuisine of vanishing Bundelkhand) होते जा रहे हैं।

उक्त बातें आयुक्त झाँसी मण्डल डा. अजय शंकर पाण्डेय (Commissioner Jhansi Circle Dr. Ajay Shankar Pandey) ने झाँसी मण्डल के सभी सरकारी रेस्ट हाउस में बुंदेली व्यंजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिये सर्किट हाउस झाँसी में शुरूआत करते हुए कहीं। उन्होंने यह भी कहा कि बुंदेली व्यंजनों को व्यवस्थित तरीके से विकसित कर विश्व पटल पर रखे जाने के लिये रैसेपी बुक बनकर तैयार है जो शीघ्र ही उपलब्ध होगी इससे बुन्देली व्यंजनों को प्रचलन से बाहर व विलुप्त होने से बचाया जा सकेगा।

तालबेहट में संचालित हो रहा है पूर्णत: बुंदेली व्यंजनों का ढाबा

आज मण्डलायुक्त ने मण्डल के सभी जिलाधिकारी/मुख्य विकास अधिकारियों की मण्डलीय समीक्षा बैठक बुलाई थी इस बैठक के अन्त में आये हुए अधिकारियों को बुन्देली व्यंजन परोसे गये। जिलाधिकारी झाँसी रविन्द्र कुमार ने कहा कि बुन्देली व्यंजन बहुत ही स्वादिष्ट हैं वे अपने स्तर से भी इन व्यंजनों के प्रचार-प्रसार हेतु पहल करेंगे। जिलाधिकारी ललितपुर ने बुंदेली व्यंजनों के प्रचार-प्रसार हेतु बुंदेली व्यंजन उत्सव आयोजित करने की बात कही। भविष्य में झाँसी मण्डल के सभी सरकारी रेस्ट हाउस में बुंदेली व्यंजन उपलब्ध होंगे ताकि बाहर से आने वाले महानुभावों को बुन्देली व्यंजन परोसे जा सकें।


होटल एवं ढाबों पर भी मिलेंगे बुंदेली व्यंजनों के रैसेपी बुक

बुन्देली व्यंजन समिति के अध्यक्ष मुकुन्द मल्होत्रा ने बताया कि बुंदेलखण्ड में अनेक व्यंजन ऐसे है जो देश के किसी और क्षेत्र में नहीं मिलते। मण्डलायुक्त के निर्देश पर व्यंजन समिति यह प्रयास कर रही है कि यहाँ के सभी होटल व ढाबों के मैन्यू कार्ड में बुंदेली व्यंजनों का भी समावेश हो। इस कड़ी में ललितपुर जनपद के तालबेहट में महेन्द्र पाल सिंह द्वारा एक बुंदेली ढाबा कलेवा नाम से खोला गया है जिसमें सिर्फ परंपरागत बुंदेली व्यंजन उपलब्ध हैं इन्हीं के द्वारा झाँसी सर्किट हाउस में बुंदेली व्यंजन उपलब्ध कराये गये।

बुंदेली व्यंजनों का होगा संरक्षण, प्रकाशित की जा रही है बुन्देली रैसेपी बुक

इस बैठक का संचालन करते हुए मंडलीय परियोजना प्रबंधक सिफ्सा आनंद चौबे ने बताया कि बुंदेली व्यंजनों के संरक्षण की दीर्घकालिक योजना पर भी कार्य हो रहा है जिसके तहत एक रैसेपी बुक का प्रकाशन, यू-ट्यूब चैनल व नयी पीढ़ी के युवाओं को बुंदेली व्यंजन बनाने का प्रशिक्षण दिये जाने की व्यवस्था की जा रही है। बैठक में जिलाधिकारी झाँसी रविन्द्र कुमार, जिलाधिकारी ललितपुर आलोक सिंह, जिलाधिकारी जालौन श्रीमती चाँदनी सिंह, मण्डल के सभी मुख्य विकास अधिकारी, अपर आयुक्त प्रशासन सर्वेश कुमार, आनन्द चौबे, डा. अनिरूद्ध रावत, बृजेश दीक्षित, महेन्द्र पाल सिंह, चन्द्र प्रताप सिंह, मुकुन्द महरोत्रा आदि उपस्थित रहे।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story