×

Ambedkar Nagar News: निर्माणाधीन पंचायत भवन की छत गिरी, बाल-बाल बचे मजदूर

Ambedkar Nagar News: अम्बेडकर नगर में प्रशासन की लापरवाही उजागर हुई है। मदैनिया गांव में पंचायत भवन के छत की ढलाई के दौरान ही छत भरभरा कर बैठ गई।

roof of panchayat building collapsed
X

ढलाई के दौरान भरभरा कर गिर गयी पँचायत भवन की छत pic(social media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Ambedkar Nagar News: अम्बेडकर नगर में प्रशासन की लापरवाही उजागर हुई है। मदैनिया गांव में पंचायत भवन के छत की ढलाई के दौरान ही छत भरभरा कर बैठ गई। छत गिरने से वहां भगदड़ मच गई। हालांकि मौके पर काम कर रहे सभी मजदूर बाल-बाल बच गए। निर्माणाधीन पंचायत भवन की छत गिरने पर गुणवत्ता पर भी सवाल उठने लगे हैं।

सरकारी भवनों के निर्माण की प्रगति व उनकी गुणवत्ता को लेकर जिलाधिकारी प्रति माह बैठक कर आवश्यक दिशा निर्देश देते रहते हैं। अधिकारियों को समय समय पर इसकी निगरानी व जांच के लिए भी कहा जाता है। लेकिन साहब तो घर बैठकर ही काम को निपटाने में विश्वास रखते देखे जा रहे हैं। इसी का परिणाम होता है कि बरसात होने पर भवन या तो टपकने लगते हैं या निर्माण के दौरान ही धराशायी हो जाया करते हैं। कुछ ऐसा ही मामला जिले के आलापुर तहसील क्षेत्र के जहांगीरगंज विकासखंड में सामने आया है। इस तहसील के अंतर्गत मदैनिया गांव में पंचायत भवन के छत की ढलाई के दौरान ही छत भरभरा कर बैठ गई। ढलाई के दौरान ही छत गिरने से वहां भगदड़ मच गई हालांकि वँहा काम कर रहे सभी मजदूर बाल-बाल बच गए।

बाल बाल बचे मजदूर (सांकेतिक फोटो) pic(social media)

बताया जा रहा है कि ग्राम पंचायत अधिकारी स्वयं पंचायत भवन का निर्माण कार्य अपनी देखरेख में करा रहे हैं। लेकिन इसमें गुणवत्ता को पूरी तरह दरकिनार किया गया है। शिकायत के बावजूद अधिकारियों ने निर्माण कार्य को देखने का प्रयास नही किया। स्थानीय लोगो के अनुसार गुणवत्ता के अभाव के चलते ही पंचायत भवन की छत भरभरा कर बैठ गई। स्थानीय ग्रामीणों के मुताबिक गुरुवार की सुबह पंचायत भवन के छत की ढ़लाई का काम चल रहा था।

इसी दौरान अचानक छत बैठने लगी तो मजदूरों में अफरा-तफरी मच गई। उस दौरान मजदूरों ने छत के किनारे लटक कर अपनी जान बचाई। इस संबंध में खंड विकास अधिकारी से वार्ता करने का प्रयास किया गया तो उनका फोन बंद मिला। वहीं एडीओ पंचायत जितेंद्र प्रजापति ने बताया कि शटरिंग गड़बड़ ढंग से हुई थी जिसके चलते छत बैठ गई है। फिर से शटरिंग को सही करा कर निर्माण कार्य पूरा कराया जाएगा। फिलहाल इस निर्माण कार्य से सरकारी भवनों में निर्माण कार्य की गुडवत्ता सामने आ गयी है। अब देखना यह है कि घटिया कार्य की गाज किसी पर गिरती है अथवा हाकिम लोग इसे हजम कर जाते हैं।

Pallavi Srivastava

Pallavi Srivastava

Next Story