×

Ambedkarnagar News : टीजीटी परीक्षा में देर से पेपर मिलने पर छात्रों ने किया परीक्षा का बहिष्कार

Ambedkarnagar News :किसान इंटर कॉलेज पकड़ी भोजपुरी में शनिवार को प्रथम पाली में टीजीटी परीक्षा के दौरान जमकर हंगामा हुआ।

Manish Mishra

Manish MishraReport Manish MishraShraddhaPublished By Shraddha

Published on 7 Aug 2021 9:16 AM GMT

टीजीटी परीक्षा में देर से पेपर मिलने पर छात्रों ने किया परीक्षा का बहिष्कार
X

टीजीटी परीक्षा में देर से पेपर मिलने पर छात्रों ने किया परीक्षा का बहिष्कार

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Ambedkarnagar News : प्रदेश सरकार ने टीजीटी परीक्षा (TGT Exam) फुलप्रूफ कराने के लिए भले ही लाख प्रयास किए हो लेकिन विद्यालय प्रबंधकों की मनमानी के आगे सरकार की मंशा विफल होती प्रतीत हो रही है। जिले के टांडा तहसील में स्थित किसान इंटर कॉलेज पकड़ी भोजपुरी में शनिवार को प्रथम पाली में आयोजित परीक्षा (Exam) के दौरान जमकर हंगामा हुआ।

हंगामे का कारण परीक्षार्थियों को निर्धारित समय से आधे घंटे बाद तक पेपर का न मिलना रहा। पेपर न मिलने से आक्रोशित परीक्षार्थी कमरों से बाहर निकल गए तथा उन्होंने आरोप लगाया कि विद्यालय प्रबंधन पेपर की सील खोलकर मनमानी कर रहा है। परीक्षार्थियों द्वारा परीक्षा देने से इंकार कर दिए जाने के बाद विद्यालय में जमकर बवाल हुआ।

सूचना मिलने के बाद पहुंची पुलिस भी छात्रों को समझाने में नाकाम रही। विद्यालय में विवाद की सूचना पर जिलाधिकारी सैमुअल पाल एन तथा पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी भी मौके पर पहुंचे। जिलाधिकारी ने मीडिया कर्मियों को विद्यालय में प्रवेश करने से रोक दिया। उनका कहना था कि विद्यालय में परीक्षा चल रही है इसलिए विद्यालय में किसी भी बाहरी व्यक्ति को प्रवेश नहीं कराया जा सकता। परीक्षार्थियों का आरोप था कि विद्यालय में पेपर लीक करा दिया गया है तथा विद्यालय प्रबंधन कुछ चहेते लोगों को इसका लाभ पहुंचा रहा है । इसके चलते ही पेपर आधे घंटे तक नहीं बांटा गया।


देर से पेपर मिलने पर छात्रों ने किया परीक्षा का बहिष्कार

उल्लेखनीय है कि किसान इंटर कॉलेज पकड़ी भोजपुर जिला पंचायत अध्यक्ष श्यामसुंदर वर्मा का विद्यालय है जिसमें इनके पिता जंग बहादुर वर्मा प्रबंधक बताए जाते हैं। सूत्रों की माने तो जिला पंचायत अध्यक्ष का विद्यालय होने के कारण जिला प्रशासन मामले को तूल देने से रोकने का भरसक प्रयास करता रहा। प्रशासन के ढुलमुल रवैए से आक्रोशित परीक्षार्थी विद्यालय परिसर में ही धरने पर बैठ गए हैं। स्कूल में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। समाचार प्रेषण तक डीएम व एसपी के अलावा एसडीएम टांडा मौके पर मौजूद थे। परीक्षार्थी विद्यालय प्रबंधन पर कार्यवाई की मांग कर रहे थे।

प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक लिखित परीक्षा 7 व 8 अगस्त के संबंध में जिलाधिकारी सैमुअल पॉल एन की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में तैयारी आयोजित की गई। टीजीटी परीक्षा को सकुशल संपन्न कराने के लिए 17 स्टैटिक मजिस्ट्रेट, 17 पर्यवेक्षक, 17 कक्ष निरीक्षक, 6 सचलदस्तों, पांच उप जिलाधिकारी जोनल मजिस्ट्रेट नामित किए गए हैं। प्रशिक्षित स्नातक परीक्षा 7 एवं 8 अगस्त को होना प्रस्तावित है। यह परीक्षा दो पालियों में कराया जाएगा।

प्रथम पाली में प्रात: 9:30 बजे से 11:30 बजे तक, द्वितीय पाली में अपराहन 2:30 बजे से 4:30 बजे तक परीक्षा का समय निर्धारित किया गया है। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि परीक्षा केंद्र के अंदर मोबाइल फोन या अन्य आई. टी./इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, संयंत्र या इलेक्ट्रॉनिक घड़ी, संवाद के अन्य साधन जैसे- ब्लूटूथ ले जाना पूर्णतया वर्जित रहेगा। केंद्र पर इंटरनेट की सुविधा परीक्षा के दिन बंद रहेगी। उन्होंने कहा कि प्रत्येक केंद्र पर एक पर्यवेक्षक एवं एक स्टैटिक मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है।


छात्रों के बवाल करने पर मौके पर पहुंची पुलिस


जिलाधिकारी ने पर्यवेक्षक को दिए निर्देश

बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने पर्यवेक्षक को निर्देश देते हुए कहा कि परीक्षा केंद्र पर एक दिन पहले पहुंचकर वहां अभ्यर्थियों के बैठने की व्यवस्था, स्वच्छता तथा सुरक्षा आदि की व्यवस्था की पूर्ण जानकारी प्राप्त कर ली जाए। जिलाधिकारी ने संबंधित को निर्देश देते हुए कहा कि सभी परीक्षा केंद्रों पर कोविड-19 हेल्प डेस्क स्थापित होना चाहिए। उन्होंने कहा कि परीक्षार्थियों के लिए पीने के लिए स्वच्छ पेयजल की व्यवस्था, साफ सफाई की व्यवस्था आदि पहले से ही सुनिश्चित कर लिया जाए।

सभी केंद्राध्यक्ष परीक्षा के संबंध में जारी हुई गाइडलाइन का पालन करें और परीक्षा नकल विहीन, निष्पक्ष एवं शुचितापुर्वक संपन्न कराएं। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने परीक्षा के दौरान कक्ष निरीक्षकों की व्यवस्था, प्रश्नपत्र खोलने की सावधानी, सीसीटीवी की व्यवस्था आदि विषयों पर विस्तृत चर्चा की। जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि पूर्व में ही व्यवस्थाओं को देख लिया जाए कि केंद्रों पर सभी कक्षाओं में सीसीटीवी कैमरा लगा है कि नहीं लगा है।

कक्षों में सैनिटाजेशन तथा साफ सफाई पूर्व में ही कराना सुनिश्चित करें

अगर नहीं लगा है तो उसे तत्काल लगवाया जाए जिससे परीक्षा नकल विहीन, निष्पक्ष एवं शुचिता पूर्वक संपन्न कराया जा सके। उन्होंने कहा कि भवन में पूर्ण सफाई, बिजली एवं पेयजल की व्यवस्था होना चाहिए। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने समस्त अधिशासी अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि परीक्षा केंद्रों के कक्षों में सैनिटाजेशन तथा साफ सफाई पूर्व में ही कराना सुनिश्चित करें।

उन्होंने आगे कहा कि परीक्षा के समय सभी परीक्षार्थियों से कोविड-19 प्रोटोकॉल पालन अवश्य कराया जाए। बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी घनश्याम मीणा, अपर जिलाधिकारी डॉ पंकज कुमार वर्मा, वरिष्ठ कोषाधिकारी जग रोपन राम, जिला सूचना अधिकारी संतोष कुमार त्रिवेदी तथा इस हेतु लगाए गए समस्त अधिकारीगण मौके पर उपस्थित रहे।

Shraddha

Shraddha

Next Story