×

Ambedkarnagar News: दागी विद्यालयों को पीजीटी परीक्षा केन्द्र बनाये जाने की होगी जांच

आगामी 17 व 18 अगस्त को होने वाली पीजीटी परीक्षा पूरी तरह से पारदर्शी होगी।

Dinesh Mani Tripathi
X

टीजीटी परीक्षा की तैयारियों की जानकारी देते माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड के सदस्य

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Ambedkarnagar News: आगामी 17 व 18 अगस्त को होने वाली पीजीटी परीक्षा पूरी तरह से पारदर्शी होगी। परीक्षा के दौरान परीक्षा केंद्रों पर किसी तरह की कोई गड़बड़ी न हो सके, इसके लिए जिलाधिकारी के साथ बैठक कर पूरी तैयारी कर ली गई है। टीजीटी की परीक्षा के दौरान कुछ परीक्षा केन्द्रों पर जो गड़बड़ी सामने आई उससे सबक लेते हुए आयोग पीजीटी की परीक्षा में कोई कमी नही छोड़ना चाहता। यह बातें माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड के सदस्य व जिले के पर्यवेक्षक दिनेश मणि त्रिपाठी ने बुधवार को अपरान्ह जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में पत्रकारों से वार्ता के दौरान कही।

उन्होंने कहा कि किसी भी परीक्षा केन्द्र पर कोई भी गड़बड़ी न हो सके, इसके लिए हर स्तर पर समुचित प्रबन्ध कर लिये गये हैं। उन्होंने बताया कि टीजीटी की परीक्षा के दौरान जो गड़बड़ियां सामने आई हैं उसके लिए जिला प्रशासन के साथ -साथ माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड व विभागीय स्तर पर अलग-अलग जांच की जा रही है। कई लोगों के विरुद्ध कार्रवाई की जा चुकी है तथा आगे भी जो दोषी पाये जायेंगे उनके विरुद्ध भी कार्यवाही की जायेगी। बोर्ड परीक्षा के लिए काली सूची में डाले गये विद्यालयों को टीजीटी व पीजीटी की परीक्षा के लिए परीक्षा केन्द्र बनाया जाना कितना उचित है, के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह पूरी तरह से गलत है, लेकिन अब जबकि परीक्षा केन्द्र बन चुके हैं तथा परीक्षा नजदीक है, ऐसे में उन्हें बदला तो नहीं जा सकता, लेकिन ऐसे केन्द्रों को परीक्षा केन्द्र बनाने के लिए भेजे जाने में जो भी जिम्मेदार होगा, उसके विरुद्ध अवश्य कार्यवाही की जायेगी।

यदि किसी का भाई अथवा अन्य सगा सम्बन्धी परीक्षा में भाग ले रहा है तो क्या वह इस प्रक्रिया में प्रतिभाग कर सकता है, के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह भी नियम विरुद्ध है। टीजीटी की परीक्षा के दौरान बाहरी लोगों को कक्ष निरीक्षक बनाये जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि इसकी जांच की जा रही है तथा पीजीटी परीक्षा में केवल विभाग से वेतन भोगी लोगों को ही कक्ष निरीक्षक बनाया जायेगा।

उन्होंने बताया कि किसान इंटर कालेज पकड़ी भोजपुर में जिन छात्रों ने परीक्षा का बहिष्कार किया है, उनकी दोबारा परीक्षा हो सकेगी अथवा नहीं, इस पर आयोग, जिला प्रशासन तथा विभागीय रिपोर्ट का अध्ययन कर रहा है। साथ ही विभाग अपने स्तर से भी प्रकरण की जांच कर रहा है। इसके उपरान्त आयोग व सरकार का जो भी निर्णय होगा उसके अनुसार कार्यवाही की जायेगी। इसके पूर्व उन्होंने टीजीटी परीक्षा केन्द्र बनाये गये परीक्षा केन्द्रों के केन्द्र व्यवस्थापकों के साथ भी बैठक की। इस दौरान जिला विद्यालय निरीक्षक भाष्कर मिश्र तथा जिला सूचना अधिकारी संतोष कुमार द्विवेदी भी मौजूद रहे।

Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad Mishra

Next Story