Top

Ambedkarnagar News: भारी बारिश की वजह से गिरा मकान, कई लोग दबे, घायलों को अस्पताल में कराया गया भर्ती

अंबेडकरनगर में एक गरीब परिवार के मिट्टी का घर धंस जाने से परिवार के पांच लोग मलबे में दब गए, प्रशासन पहुंचकर उनके इलाज का व्यवस्था करा रही है

Manish Mishra

Manish MishraReport Manish MishraDeepakPublished By Deepak

Published on 22 July 2021 1:34 PM GMT

Adminstration rushes to spot
X

 गांव में मकान गिरने की घटना का जायजा लेते एसडीएम

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Ambedkarnagar News: बरसात के मौसम में लोगों को पक्के मकान की जरुरत दिखाई पड़ती है, क्योंकी गर्मी और जाड़ें की मौसम में लोग किसी तरह गुजारा कर लेते है। लेकिन बारसात के मौसम में झोपड़ी से लेकर मिट्टी के मकान जवाब देने लगते हैं। जगह-जगह से पानी के टपकने के साथ-साथ मिट्टी के धंसने की भी आशंका हमेशा बनी रहती है। जिसके कारण लोगों की ये ख्वाहिश रहती है की उसके पास भी पक्का मकान हो। सरकार भी इस जरुरत को पुरा करने के लिए लगी हुई है, सरकार गरीबों को पक्का घर बनाने के लिए पैसे दे रही है जिससे गरीब का भी मकान पक्का का हो।

आपको बता दें की विकास खंड टाण्डा के अमेदा ग्राम पंचायत में भारी बरसात के चलते एक कच्चा मकान धाराशायी हो गया जिसमें दब कर चार लोग गंभीर रूप से घायल हो गए । दबे लोगो को स्थानीय निवासियों ने मलबा हटाकर बाहर निकाला। सूचना पर पहुँचे एसडीएम टाण्डा अभिषेक पाठक ने घायलों को जिला अस्पताल भेजवाया और अन्य जरूरी कागजी कार्रवाई की।

बारिश के कारण गिरा कच्चा मकान

बताया जा रहा है अमेदा के बभनपुरा गाँव निवासी लालता प्रसाद तिवारी का कच्चा मकान बारिश के कारण गुरुवार को सुबह गिर गया जिसमे उनके परिवार के तीन पुरुष सहित एक महिला मलबे के नीचे दब गए। ग्रामीणों के अनुसार लालता प्रसाद तिवारी का नाम आवास योजना के पात्रता सूची में शामिल था जिसके बावजूद भी उनको आवास मुहैया नही करवाया गया जिसके कारण वो कच्चे मकान में रहने को विवश थें।

नीचे दबकर लोग घायल हो गए

जिसका परिणाम यह रहा कि गुरुवार को कच्चा मकान गिर गया और उसके नीचे दबकर लोग घायल हो गए। स्थानीय निवासियों के द्वारा मलबे में दबे लोगो को बाहर निकाला गया। इस घटना में एक किशोर भी गंभीर रूप से घायल बताया जा रहा है। मलबे में दबकर घर में रखा राशन भी नष्ट हो गया है जिसकी व्यवस्था प्रशासन की तरफ से करवाई जा रही है। ज्ञात हो कि गिरे हुए कच्चे मकान में मौजूद मिथलेश तिवारी पुत्र(52), पत्नी मनोरमा (48), पुत्र प्रशांत (23), और ननिहाल में आया 15 वर्षीय बजरंगी गंभीर रूप से घायल हो गया।


स्थानीय लोगों के द्वारा घायलों के हाथ व पैर की हड्डियां टूटने की आशंका जताई गई है। एसडीएम टाण्डा अभिषेक पाठक ने बताया कि घायलों को जिला अस्पताल भेजवाया गया है। नियमानुसार पूरे मकान का मुआवजा दिया जाएगा और घायलों का इलाज ठीक होने तक प्रशासन की तरफ से करवाया जाएगा। मौके पर थाना प्रभारी सुधांशू वर्मा पुलिस बल के साथ मदद हेतु मौजूद थे।

Deepak

Deepak

Next Story