×

Amethi News: गायत्री प्रजापति के करीबी पिंटू सिंह के खिलाफ धोखा धडी का मुकदमा दर्ज, जाने पूरा मामला

Amethi News: आरोप है कि पिंटू ने कूटरचित तरीके से थाने की मुहर, हस्ताक्षर कर लाइसेंस का नवीनीकरण कर लिया और उसे उप जिला मजिस्ट्रेट के कार्यालय में प्रस्तुत कर दिया।

Surya Bhan Dwivedi

Report Surya Bhan DwivediPublished By Monika

Published on 15 Jan 2022 11:39 AM GMT

Amethi ki taza khabar
X

जालसाजी और सरकारी दस्तावेज बनाने पर केस हुआ दर्ज (photo : social media )

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Amethi News: रेप के मामले (Rape Case) में सजायाफ्ता पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद (Former Minister Gayatri Prasad) के करीबी व सपा के पूर्व उपाध्यक्ष अमरेंद्र सिंह पिंटू (Amarendra Singh Pintu) की मुश्किलें बढ़ गई हैं। उन पर अमेठी के संग्रामपुर थाने (Sangrampur Police Station) में जालसाजी ( jalsaji) और सरकारी दस्तावेज (official document) बनाने जैसी गंभीर धाराओं में केस दर्ज हुआ है।

जिले के संग्रामपुर थाना क्षेत्र के रामगढ़ निवासी अमरेंद्र सिंह उर्फ पिंटू ने 23 नवंबर 2021 को उप जिला मजिस्ट्रेट को लाइसेंस नवीनीकरण (license renewal) के लिए प्रार्थना पत्र दिया था। आरोप है कि पिंटू ने कूटरचित तरीके से थाने की मुहर, हस्ताक्षर कर लाइसेंस का नवीनीकरण कर लिया और उसे उप जिला मजिस्ट्रेट के कार्यालय में प्रस्तुत कर दिया। दस्तावेज में मौजूद हस्ताक्षर किसी भी तरह मेल नहीं खा रहे थे। संदेह होने पर उप जिला मजिस्ट्रेट ने इसकी जांच पुलिस अधीक्षक को प्रेषित की गई जांच में पाया गया कि अमरेंद्र सिंह ने कूटरचित और फर्जी तरीके से दस्तावेज को तैयार किया है। जिस पर उनके विरुद्ध 419, 420, 467, 468 व 471 के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया है।

गायत्री प्रसाद प्रजापति और उसके सहयोगी पर लगे दुष्कर्म के आरोप

बता दें कि चित्रकूट की महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म और उसकी नाबालिग बेटी के साथ अश्लील हरकत के आरोपी पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति और उसके सहयोगी आशीष शुक्ला व अशोक तिवारी को एमपी-एमएलए कोर्ट ने 13 नवंबर 2020 को दोषी ठहराया था। कोर्ट ने इसी मामले में आरोपी रहे अमरेंद्र सिंह उर्फ पिंटू सिंह, विकास वर्मा, चंद्रपाल व रुपेश्वर उर्फ रुपेश को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया था। इन सभी के खिलाफ पुलिस ने कोर्ट में चार्जशीट दाखिल किया था। सभी आरोपी जेल में बंद थे। चित्रकूट की पीड़ित महिला ने 18 फरवरी, 2017 को लखनऊ के गौतम पल्ली थाने पर रिपोर्ट दर्ज कराई थी। आरोप लगाया था कि सपा सरकार में खनन मंत्री रहे गायत्री प्रजापति समेत सभी आरोपियों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया और उसकी नाबालिग बेटी के साथ भी दुष्कर्म का प्रयास किया।

taja khabar aaj ki uttar pradesh 2021, ताजा खबर आज की उत्तर प्रदेश 2021

Monika

Monika

Next Story