×

Ayodhya News: 15 सितंबर तक पूरा होगा राम मंदिर निर्माण के लिए बुनियाद भरने का काम, तेजी से जारी कार्य

Ayodhya News: राम मंदिर निर्माण के लिए बुनियाद भरी जा रही है। ये बुनियाद भरने का काम 15 सितंबर तक राम मंदिर ट्रस्ट के द्वारा कारदायी संस्था को सौंपी गई है।

Network

NetworkNewstrack NetworkVidushi MishraPublished By Vidushi Mishra

Published on 1 Aug 2021 6:52 AM GMT

The foundation is being laid for the construction of Ram temple.
X

राम मंदिर की फोटो- प्रतीकात्मक(सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Ayodhya News: अयोध्या के भव्य पावन राम मंदिर(Ram Mandir) का निर्माण कार्य प्रगति पर है। ऐसे में राम मंदिर निर्माण के लिए बुनियाद भरी जा रही है। बुनियाद की मोटाई करीब 1 इंच तक 44 परतों की भरी जानी है। इसमें अभी तक 25 परतों की भराई हो चुकी है। ये बुनियाद भरने का काम 15 सितंबर तक राम मंदिर ट्रस्ट के द्वारा कारदायी संस्था को सौंपी गई है।

रारदायी संस्था के अधिकारी 12-12 घंटे की दो शिफ्ट में मंदिर की बुनियाद का निर्माण कार्य करवा रहे है। जिसके चलते मंदिर निर्माण के लिए अक्टूबर माह से मंदिर के बेस का निर्माण होगा। इस में मिर्जापुर के बलुआ पत्थर और ग्रेनाइट स्टोन का उपयोग किया जाना है।

मंदिर सालों-सालों नया जैसा

राम मंदिर ट्रस्ट के द्वारा 2023 तक राम मंदिर(Ram Mandir) निर्माण कर रामलला(Ram Mandir) को विराजमान कराए जाने की बात की घोषणा की गई है। जिसके लिए कार्यदायी संस्था के द्वारा लगातार तेजी के साथ मंदिर निर्माण का कार्य किया जा रहा है।

बीते साल 5 अगस्त 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भव्य राममंदिर निर्माण के लिए रामलला के परिसर में भूमिपूजन किया था। अब इसे एक साल होने वाले हैं। एक साल में मंदिर निर्माण के लिए 400 फुट चौड़ा 300 फीट लंबा और 50 फुट गहरा भूखंड पर मंदिर का निर्माण होगा।

राम मंदिर (फोटो-सोशल मीडिया)

राम मंदिर निर्माण के लिए कई विशेषज्ञों की टीम लगातार राम जन्मभूमि(Ram Janam Bhumi) परिसर में ही है। इसमें टाटा कंसल्टेंसी और बालाजी के इंजीनियरों के द्वारा राम मंदिर की मजबूती को खासा ध्यान में रखते हुए निर्माण कार्य संचालित किया जा रहा है। जिससे मंदिर सालों-सालों नया जैसा ही बना रहे।

बुनियाद भरे जाने का काम 50% से ज्यादा पूरा

इस बारे में श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट कैंप कार्यालय के प्रभारी प्रकाश गुप्ता ने बताया कि बुनियाद भरे जाने और मंदिर निर्माण के लिए समय सीमा के पहले ही काम समाप्त किए जाने के उद्देश्य से कार्य किया जा रहा है। राम मंदिर के बुनियाद भरे जाने का काम 50% से ज्यादा हो चुका है।

आगे उन्होंने बताया कि मंदिर निर्माण के लिए बुनियाद भरे जाने के बाद मंदिर के बेस का निर्माण किया जाएगा। जिसमें मिर्जापुर के पत्थर तथा ग्रेनाइट पत्थरों का इस्तेमाल होगा। ग्रेनाइट पत्थर ललितपुर या जयपुर राजस्थान से मंगाया जाएगा। बुनियाद भरे जाने की समय सीमा 15 सितंबर दी गई थी और उस से 2 दिन पहले ही काम खत्म करने के लिए तैयारी की जा रही है और योजना यह है कि 2023 तक भगवान राम का भव्य मंदिर बनाकर तैयार कर दिया जाएगा।

मंदिर के बारे में आगे जानकारी देते हुए राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा, ''राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण को लेकर तैयारियां बहुत तेजी से चल रही हैं। कार्यशाला में पत्थरों की सफाई व ताराशी की जा चुकी है। मंदिर में लगने वाला प्रवेश द्वार, मंदिर में लगने वाले घंटे समेत सभी तैयारियां बहुत तेजी की जा रही हैं। कई दशकों से कार्यशाला में चल रहे कार्य हजारों पत्थरों की सफाई भी हो चुकी है।''


Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story