×

Ayodhya News: महंत परमहंस दास ने पीठाधीश्वर जन्मेजय शरण पर लगाया राम भक्तों से ठगी करने का आरोप

श्री राम मंदिर निर्माण के साथ साथ अयोध्या में रार बढ़ती ही जा रही है।

Network

NetworkNewstrack NetworkRaghvendra Prasad MishraPublished By Raghvendra Prasad Mishra

Published on 18 July 2021 5:54 PM GMT

Mahant Paramhans Das
X

पीठाधीश्वर जन्मेजय शरण पर ठगी का आरोप लगाते महंत परमहंस दास (फोटो साभार-सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Ayodhya News: श्री राम मंदिर निर्माण के साथ साथ अयोध्या में रार बढ़ती ही जा रही है। मंदिर निर्माण के नाम पर जुटाए गए धन को अब श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट को सौंपे जाने की मांग होने लगी है। अयोध्या के तपसी छावनी के महंत परमहंस दास ने श्रीराम जन्मभूमि मंदिर न्यास पर सवाल उठाते हुए कहा कि जानकी घाट पीठाधीश्वर महंत जन्मेजय शरण ने इसे बनाया था। राम भक्तों ने मंदिर निर्माण के लिए इस ट्रस्ट को पैसा दिया था। महंत परमहंस दास ने कहा कि अब जब मंदिर का निर्माण चल रहा है तो न्यास को भक्तों द्वारा दिए गए पैसों को श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को सौंप देने चाहिए।

महंत परमहंस दास ने बताया कि इसके लिए उन्होंने एक पत्र गृह मंत्री अमित शाह, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और जिलाधिकारी अयोध्या को भेजा है। इस पत्र में उन्होंने आरोप लगाया है कि राम मंदिर निर्माण के नाम पर भक्तों ने श्रीराम जन्मभूमि मंदिर न्यास काफी रुपये जमा किए थे। उन्होंने कहा कि मंदिर निर्माण के लिए जमा रुपये कहां गए। इसी के साथ ही उन्होंने महंत जन्मेजय शरण पर राम मंदिर निर्माण के नाम पर भक्तों से ठगी करने का आरोप लगाया।

महंत परमहंस दास ने गृह मंत्री अमित शाह के नाम संबोधित पत्र में आरोप लगाया है कि जानकी घाट बड़ा स्थान के महंत जन्मेजय शरण ने राम मंदिर निर्माण के नाम पर न्यास बनाकर भक्तों से बड़ी संख्या में रुपये इकट्ठा किया है। उन्होंने मांग की है कि राम मंदिर के नाम पर इकट्ठा की गई धनराशि राम मंदिर में लगे, इसके महंत जन्मेजय शरण की जांच करा कर इकट्ठा किए गए रुपयों को श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को सौंपा जाना चाहिए।

Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad Mishra

Next Story