×

Bahraich News: बारिश से उफनाई सरयू नदी, दस गांवों में घुसा बाढ़ का पानी, चलाई गई नाव

Bahraich News: बहराइच जिले में लगातार हो रही बारिश से आफत मची हुई है। हर तरफ पानी ही पानी नजर आ रहा है।

Anurag Pathak

Anurag PathakReport Anurag PathakVidushi MishraPublished By Vidushi Mishra

Published on 24 July 2021 2:08 AM GMT

Saryu river overflowing due to rain, flood water entered ten villages
X

सरयू नदी (फोटो- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Bahraich News: उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले में लगातार हो रही बारिश से आफत मची हुई है। हर तरफ पानी ही पानी नजर आ रहा है। लोगों का आना-जाना मुहाल हो गया है। ऐसे में महसी तहसील में सरयू नदी का जलस्तर 10 सेंटीमीटर बढ़ गया है। जिससे १० गांव में बाढ़ का पानी भरा हुआ है।

जिसके चलते ग्रामीणों को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए तहसील प्रशासन की ओर से छह नाव लगाई गई हैं। सभी बाढ़ चौकियों को अलर्ट कर दिया गया है। वहीं जलस्तर बढ़ने के साथ ही कटान शुरू हुई है। जिसमें तीन ग्रामीणों के मकान नदी में समाहित हुए हैं। उपजिलाधिकारी ने एनडीआरएफ की टीम के साथ बाढ़ का जायजा लेकर लोगों को सतर्क रहने का निर्देश दिया है।

कई गांवों में पानी भरा

मोतीपुर तहसील में स्थित तीन बैराजों से गुरुवार को साढ़े तीन लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया था। जिससे महसी तहसील के सरयू नदी में जलस्तर काफी बढ़ गया है। तहसील के मुताबिक नदी का जलस्तर 10 सेंटीमीटर बढ़ गया है।

महसी तहसील क्षेत्र के तारापुरवा, जोगलापुरवा, नगेसरपुरवा, पंडितपुरवा, रानीबाग, नगेसरपुरवा, अहिरनपुरवा, लोनियनपुरवा, चौहाननपुरवा, चमरही गांव में बाढ़ का पानी भरा है। ग्रामीण बाढ़ के पानी के बीच ही निवास करने को विवश हैं।


शुक्रवार को बाढ़ का जायजा लेने के लिए एसडीएम एसएन त्रिपाठी, तहसीलदार राजेश वर्मा, नायब तहसीलदार विपुल सिंह ने एनडीआरएफ की टीम के साथ टिकुरी, पिपरी, कायमपुर का निरीक्षण किया।

उपजिलाधिकारी ने बताया कि जिन गांवों में पानी भरा है। वहां के ग्रामीणों को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए राजस्वकर्मियों को लगाया गया है। तहसील क्षेत्र के सभी बाढ़ चौकियों को अलर्ट कर दिया गया है। वहीं नदी का जलस्तर 10 सेंटीमीटर और बढ़ने से वर्तमान जलस्तर 111.610 मीटर पहुंच गया है।

बाढ़ प्रभावित लोग के लोग पलायन को मजबूर हैं। उधर जलस्तर बढ़ने के साथ ही कटान भी शुरू हो गई है। महेश कुमार, रामदुलारे, हकीमा पत्नी मुइद्दीन का मकान बाढ़ के पानी में कट गया है। तहसीलदार ने बताया कि सभी को मुआवजा दिया जाएगा।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story