×

Flood In Bahraich: 30 गावों बाढ़ से हुए प्रभावित, देवदूत बने एसएसबी के जवान

Flood In Bahraich: बहराइच में सरयू नदी का जलस्तर बढ़ने से महसी तहसील के 30 से अधिक गांव में पानी भर गया है। संपर्क मार्ग और पुलिया पानी में डूब गए हैं।

Anurag Pathak

Anurag PathakReport Anurag PathakShreyaPublished By Shreya

Published on 17 Aug 2021 5:09 PM GMT

Flood In Bahraich: 30 गावों बाढ़ से हुए प्रभावित, देवदूत बने एसएसबी के जवान
X

मार्गों पर भरा बाढ़ का पानी (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Flood In Bahraich: बहराइच में सरयू नदी का जलस्तर बढ़ने से महसी तहसील के 30 से अधिक गांव में पानी भर गया है। संपर्क मार्ग और पुलिया पानी में डूब गए हैं। विद्यालय में पानी भर गया है। वहीं पानी में फंसे लोग चारपाई व तख्त पर जीवन काट रहे हैं। लेकिन तहसील प्रशासन की ओर से अभी तक नाव के इंतजाम नहीं किए गए हैं। मिहींपुरवा में भी 10 गांव पानी से घिरे हुए हैं। सैकड़ों बीघा मेंथा, धान की फसल बर्बाद हो गई है।


नेपाल के पहाड़ों पर हो रही बारिश का पानी सीधे जिले के नदियों में पहुंच रहा है। इससे विभिन्न तहसील में बहने वाली नदियां उफान पर आ गई हैं। महसी में सरयू नदी के उफान पर आने से गांवों में बाढ़ का पानी भर गया है। पानी भरने से लोगों की दिनचर्या प्रभावित है। ग्रामीण पानी से बचने के लिए चारपाई और तख्त का सहारा लिए हुए हैं। लेकिन अभी तक तहसील प्रशासन की ओर से बाढ़ में फंसे लोगों को बाहर निकालने के लिए कोई इंतजाम नहीं किए गए हैं। ऐसे में दुश्वारियों के बीच ग्रामीण समय काट रहे हैं।

पुल पानी में डूब गए हैं और मिहींपुरवा तहसील के पड़रिया, पुरैना, कंजीबाग, बढ़ैया, चंदनपुर समेत 10 गांव पानी से घिरे हुए हैं। सैकड़ों बीघा किसानों की फसल डूब गई है। वहीं अधिकारियों की मानें तो जिले में अभी बाढ़ की स्थिति नही है कुछ ग्रामों में नदी का पानी पहुंच गया था जो कि धीरे धीरे घट रहा है मिहींपुरवा में लोगों के खेत और मकान से भी पानी निकलने लगा है।

(फोटो साभार- सोशल मीडिया)

एसएसबी जवानों ने किया ग्रामीणों को रेस्क्यू

दूसरी ओर नेपाल में पहाड़ों पर हो रही लगातार बारिश से भारत-नेपाल सीमा पर स्थित राप्ती नदी लगातार उफान पर आ गई है। सीमा पर स्थित होलिया गांव के 10 ग्रामीण नदी में अचानक आये उफान से में फंस गए। ग्राम पंचायत सदस्य ने सूचना एसएसबी मुख्यालय दी। सूचना पाकर पहुंचे एसएसबी जवानों ने ग्रामीणों का सकुशल रेस्क्यू किया। जिससे सभी ग्रामीणों ने राहत की सांस ली। जवानों के कार्य की सभी सराहना कर रहे हैं।

एसएसबी 42वीं वाहिनी की टीम को बाढ़ से बचाव के लिए भारत-नेपाल सीमा पर तैनात किया गया है। सीमा पर राप्ती नदी बहती है। राप्ती नदी का पानी अधिक होने से होलिया गांव के लोगों के फंसे होने की सूचना ग्राम पंचायत सदस्य नीरज मिश्रा ने दी। सूचना मिलते ही कमांडेंट ने सीमा चौकी कोदिया के जवानों को मौके पर भेजा। एसएसबी जवानों ने राप्ती नदी में फंसे सभी 10 ग्रामीणों को बाहर निकाला।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story