×

Barabanki : दलित वोटरों को फिर से जोड़ने में लगीं मायावती, अपना जनाधार खो चुकी हैं बसपा नेत्री पीएल पुनिया का दावा

Barabanki : पूर्व राज्यसभा सांसद पीएल पुनिया ने मायावती को लेकर दिया बड़ा बयान उन्होंने कहा कि मायावती अब दलित वोटरों को फिर से जोड़ने में लगी हैं

Sarfaraz Warsi

Sarfaraz WarsiNewstrack Sarfaraz WarsiVidushi MishraPublished By Vidushi Mishra

Published on 24 Nov 2021 10:42 AM GMT

PL Punia
X

पीएल पुनिया

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Barabanki : कांग्रेस पार्टी की कैंपेनिंग कमेटी के चेयरमैन व पूर्व राज्यसभा सांसद पीएल पुनिया ने मायावती को लेकर दिया बड़ा बयान उन्होंने कहा कि मायावती अब दलित वोटरों को फिर से जोड़ने में लगी हैं क्योंकि पिछले चुनाव की बात करें तो मात्र इन्हें उत्तर प्रदेश में 2 विधानसभा सीटें मिली थी इसे साफ तौर पर देखा जा सकता है कि किस तरह से जो दलित वोटरों से वह बहुजन समाज पार्टी से हट चुके हैं और अन्य कम्युनिटी की बात करें तो पहले से ही बहुजन से दूर है।

पीएल पुनिया ने कहा मायावती अच्छी तरह से जानती हैं कि आरक्षित सीटों पर दलित वोटरों के अलावा अन्य कम्युनिटी के वोटर हार जीत का फैसला करते हैं। रिजर्व सीट पर रिजर्व कैंडिडेट रहता है, इसलिए दलित वोटर बंट जाता है जिसको अन्य वोटरों का सपोर्ट मिल जाता है तो वो जीत जाता है और उसके बहुत से इफेक्ट हैं जैसे एंटी इनकंबेंसी हुई पिछली सरकार में और जिन्हें एंटी इनकंबेंसी का सपोर्ट मिलता है वो जीत जाता है, तो इसको समझ जाना चाहिए कि इनका साथ कौन दे रहा है।

दलित वोटर और रिजर्व सीट पर फोकस

कांग्रेस नेता ने कहा मायावती ब्राह्मणों सम्मेलन की बात जरूर करते है लेकिन ब्राह्मण वोटर कहां जायेगा ये मायावती जी गारंटी से नहीं कह सकती कि उनके पास जाएगा। जो शेड्यूल कास्ट वोट है वो अलग अलग पार्टियों में बंटा हुआ है, तो केवल कह देना की दलित वोटर और रिजर्व सीट पर फोकस करना है, ये कह देना कि वो जीत जाएंगे ये कहना ठीक नहीं है।

फोटो- सोशल मीडिया

इसका उदाहरण आपने ब्राह्मण सम्मेलन में देखा है लेकिन चुनाव में अक्सर देखा जाता है कि किस तरह से यह दोनों कमेटियां अब बहुजन समाज पार्टी से कोसों दूर हैं दलित वोटरों पर सबकी निगाहें जमी हुए हैं।

ओवैसी और बीजेपी एक दूसरे के पूरक है- पीएल पुनिया

पीएल पुनिया ने कहा असदुद्दीन ओवैसी और भारतीय जनता पार्टी तो एक दूसरे के पूरक हैं क्योंकि जगजाहिर है ओवैसी जो बयान देते हैं वह बीजेपी उसका फायदा उठाने में लग जाती है और जो भाजपा की तरफ से बयान बाजी होती है तो उसका पूरा फायदा ओवैसी उठाने में लग जाते हैं तो साफ तौर से देखा जा सकता है कि किस तरह से बीजेपी और ओवैसी एक दूसरे के पूरक बने हुए यह आप सभी जानते हैं और रही कांग्रेस पार्टी की बात तो कांग्रेस पार्टी ने कभी संप्रदायिकता फैलाकर चुनाव जीतने का प्रयास नहीं किया है हम सभी धर्मो को एक साथ लेकर चलने वाले लोग हैं।

वरुण गांधी को लेकर पूछे गए सवाल में पीएल पुनिया ने कहा है कि वरुण गांधी ने किसानों के लिए खुलकर बोला और बीजेपी का विरोध किया। अब जाहिर है कि भारतीय जनता पार्टी को छोड़कर लोग कांग्रेस में आ रहे हैं तो इसका निर्णय हम नहीं कर सकते। इसका निर्णय तो हमारी पार्टी के हाईकमान जो दिल्ली में लोग बैठे हुए हैं जैसे हमारे पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी जी इसका निर्णय करेंगी, इस पर मैं कुछ प्रतिक्रिया नहीं दे सकता हूं।


Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story