×

Lucknow Crime News: रिटायर्ड फौजी के खाते से निकाल लिए 40 लाख रुपए, पुलिस नहीं कर रही कार्रवाई

धोखाधड़ी करने वालों का गिरोह इतना सक्रिय है कि वह किसी के साथ भी फ्राड करने से कोई संकोच नहीं करते।

Network

NetworkNewstrack NetworkRaghvendra Prasad MishraPublished By Raghvendra Prasad Mishra

Published on 19 July 2021 4:11 PM GMT

Cantt police station
X

कैंट थाने की फाइल तस्वीर (फोटो साभार-सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Lucknow Crime News: धोखाधड़ी करने वालों का गिरोह इतना सक्रिय है कि वह किसी के साथ भी फ्राड करने से कोई संकोच नहीं करते। दुर्भाग्य है कि जिन पुलिसवालों को इनपर कार्रवाई करनी चाहिए वहीं इनसे मिले हुए होते हैं। ऐसा ही मामला राजधानी के कैंट थानाक्षेत्र से सामने आया है। यहां सेना से सेवानिवृत्त हुए जीत बहादुर सिंह ने बलवंत सिंह, सुशील कुमार तिवारी और सुनील कुमार यादव पर धोखाधड़ी करके खाते से 40 लाख रुपए निकालने और जमीन हड़पने का आरोप लगाया है। उन्होंने कैंट थाने में इसकी लिखित शिकायत भी दी है, लेकिन पुलिस ने अभी तक मामला नहीं दर्ज यिा है।

हाई कोर्ट के अधिवक्ता विजय कुमार पांडेय ने बताया कि बैंक आफ इण्डिया की सदर शाखा को पत्र देकर पीड़ित ने सीसीटीवी फुटेज को सुरक्षित रखने की मांग की है। उन्होंने कहा कि खाता धारक के बिना गए उनके खाते से इतनी बड़ी रकम निकाल लिया जाना बड़ी साजिश की तरफ इशारा करती है। उन्होंने यह भी कहा कि बिना बैंक कर्मियों के मिली भगत के इतनी बड़ी रकम निकाली नहीं जा सकती।

विजय पांडेय ने आरोप लगाते हुए कहा कि कैंट थाना इंचार्ज ने उनसे एक शिकायती प्रार्थना-पत्र लेकर आरोपी बलवंत सिंह से मोटी रकम ऐंठ ली है। इसके चलते आरोपी बलवंत सिंह का हौंसला इतना बढ़ गया कि घर में अकेली बहू की इज्जत से खेलने का प्रयास किया। उन्होंने कहा कि इसकी भी शिकायत करने पर अभी तक एफआईआर नहीं दर्ज किया जा सका है।

उन्होंने कहा कि यदि थाने की तरफ से आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही नहीं की गई तो इसकी लिखित शिकायत पुलिस आयुक्य, मानवाधिकार आयोग और महिला आयोग से भी की जाएगी। पीड़ित परिवार ने हाईकोर्ट के अधिवक्ता विजय पाण्डेय से मिलकर सहयोग की मांग की है। जिस पर पाण्डेय ने आश्वस्त किया कि कानून के मुताबिक जो भी संभव होगा वह मदद पीड़ित परिवार की करने की कोशिश की जाएगी। अधिवक्ता ने कहा कि यह दुर्भाग्य है कि जिस पुलिस को आरोपियों पर कार्रवाई करनी चाहिए, वही उससे मिली हुई है।

Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad Mishra

Next Story