×

Lucknow News: मायावती ने चला तगड़ा दांव, ब्राह्मण सम्मेलन के जरिए चुनावी बिगुल फूंकेगी बसपा

सपा, कांग्रेस के साथ बसपा भी अब चुनाव की तैयारियों को लेकर अपनी कमर कस ली है।

Mayawati
X

बसपा मुखिया मायावती की फाइल तस्वीर (फोटो साभार-सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Lucknow News: यूपी विधानसभा चुनाव 2022 का सुरूर अब चढ़ने लगा है। सपा, कांग्रेस के साथ बसपा भी अब चुनाव की तैयारियों को लेकर अपनी कमर कस ली है। बसपा सुप्रीमो मायावती भी पार्टी को मजबूत करने में जुट गइै हैं। हालांकि चुनाव से पहले मायावती ने बड़ा दांव खेल दिया है। मिशन 2022 के तहत बसपा ब्राह्मणों को अपने पाले में लाने के लिए ब्राह्मणों का मंडलीय सम्मेलन कराने का एलान किया है। अयोध्या से इसकी शुरुआत 23 जुलाई से होगी। पार्टी ने ब्राह्मण सम्मेलन की जिम्मेदारी बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्र को सौंपी है।

23 जुलाई को अयोध्या में मंदिर दर्शन के बाद पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्र ब्राह्मण सम्मेलन को सफल बनाने में जुट जाएंगे। जानकारी के मुताबिक पहले चरण में 23 से 29 जुलाई के बीच लगातार प्रदेश के छह जिलों में ब्राह्मण सम्मेलन किए जाएंगे। वहीं बसपा सुप्रीमो ने कहा कि ब्राह्मणों को 2007 की तरह बसपा के साथ हाना चाहिए। क्योंकि वर्तमान सरकार से ब्राह्मण काफी दुखी हैं।उन्होंने कहा कि जैसे दलित भटकते नहीं हैं, वैसे ब्राह्मणों को भी किसी के बहकावे में नहीं आना चाहिए।

बता दें कि बसपा सुप्रीमो मायावती मिशन 2022 को लेकर संगठन को चुस्त दुरुस्त करने में जुट गई हैं। उन्होंने विधानसभा चुनाव के मद्देनजर बूथ गठन के काम में तेजी लाने का निर्देश दिया है। इसीलिए इसकी जिम्मेदारी अब मुख्य सेक्टर प्रभारियों को भी दे दी गई है। इससे पहले इसकी जिम्मेदारी केवल जिलाध्यक्ष के पास थी। वहीं अब मुख्य सेक्टर प्रभारी अपने प्रभार वाले जिले में पहुंचकर अपनी देखरेख मे बूथ गठन का काम कराएंगे। मुख्य सेक्टर प्रभारी को हर हाल में अगस्त तक बूथ गठन का काम पूरा कर लेना है। पार्टी सूत्रों की मानें तो बसपा प्रमुख अगस्त में ही सेक्टर गठन, बूथ गठन और भाईचारा कमेटियों के गठन की समीक्षा कर सकती हैं। इस बैठक में मुख्य सेक्टर प्रभारियों से रिपोर्ट मांगी जा सकती है।

Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad Mishra

Next Story