×

Lucknow News: नियुक्ति की मांग को लेकर मृतक आश्रितों ने बीजेपी दफ्तर और विधानसभा पर किया प्रदर्शन

Lucknow News: मृतक आश्रितों नेअ पनी नियुक्ति को लेकर बीजेपी कार्यालय और विधानसभा के सामने प्रदर्शन किया और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

Krantiveer

KrantiveerReport KrantiveerDharmendra SinghPublished By Dharmendra Singh

Published on 30 July 2021 6:07 PM GMT

Lucknow News
X

प्रदर्शन करते मृतक के आश्रित(फोटो: न्यूजट्रैक)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Lucknow News: लखनऊ में पुलिस की मृतक आश्रितों नेअ पनी नियुक्ति को लेकर बीजेपी कार्यालय और विधानसभा के सामने प्रदर्शन किया और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। देखते ही देखते मृतक आश्रितों का जमावड़ा लग गया। शहीद दिवंगत के आश्रित परिवार के लोग बीजेपी कार्यालय पर जमा होने लगे।

भीड़ को देखकर भारी संख्या में पुलिस बल आ गया और इन लोगों के साथ धक्का मुक्की शुरू कर दी और उन्हें हटाकर बस में भर कर ईको गार्डन भेज दिया जिसके बाद इन लोगों ने अपना प्रदर्शन ईको गार्डन में शुरू कर दिया।
इन लोगों का कहना था कि 456 मृतक आश्रित हैं और सरकार केवल 29 लोगों को नियुक्ति दे रही है जो उन लोगों के साथ सरासर अन्याय है और जब हम लोग अपने हक की बात कर रहे हैं तो हमारे साथ पुलिस वाले धक्का मुक्की कर रही है।


उन्होंने कहा कि हम लोगों की मांग है कि पहले की भर्ती की तरह हम सभी लोगों को नियुक्ति दी जाए। नहीं तो हम लोग लगातार प्रदर्शन करते रहेंगे जब तक न्याय नहीं मिलेगा।
अभ्यर्थियों का कहना था कि हम अपना प्रदर्शन शांतिपूर्ण और कोविड का पालन करते हुए कर रहे हैं और अपनी आवाज सीएम योगी तक पहुंचाने आये हैं। हम लोगों के परिवार पुलिस की सेवा करते हुए शहीद हुए हैं और हमारा हक है नौकरी का। हमे नौकरी मिलनी चाहिए ताकि हम अपने परिवार को पाल सके, लेकिन सरकार हमारी बात नहीं सुन रही है। हम सभी लोगों को न्याय मिलना चाहिए। सरकार को हमारी तकलीफ को समझना चाहिए कि हम लोग कितनी दिक्कत में है और कितनी दूर-दूर से आये हैं। इस प्रदर्शन में महिला भी शामिल थीं।
बता दें कि मृतक आश्रित सरकार के रवैये से खफा हैं। उनका कहना है कि उनकी मांगों को सरकार को मानना चाहिए और वह सिर्फ अपना हक मांग रहे हैं।


Dharmendra Singh

Dharmendra Singh

Next Story