×

Lucknow: केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी की बर्खास्तगी को लेकर कांग्रेस का प्रदर्शन, GPO से विधानसभा तक निकाला मार्च

आज सत्र से पहले कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के नेतृत्व में जीपीओ गांधी प्रतिमा से विधानसभा तक मार्च निकालकर कांग्रेस नेताओं ने प्रदर्शन किया।

Rahul Singh Rajpoot
Updated on: 2021-12-16T11:35:00+05:30
Ajay Kumar Lallu protest GPO
X

अजय कुमार लल्लू जीपीओ में प्रदर्शन करते 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Lucknow : केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी Ajay Mishra Teni) की बर्खास्तगी का मुद्दा एक बार फिर से जोर पकड़ लिया है। यूपी विधानसभा के सत्र के दौरान विपक्षी नेताओं ने योगी सरकार(Yogi Sarkar) पर दबाव बनाने के लिए इस मांग को लेकर अपना हल्ला बोल तेज कर दिया है। आज सत्र से पहले कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू (Ajay Kumar Lallu protest GPO) के नेतृत्व में जीपीओ गांधी प्रतिमा से विधानसभा तक मार्च निकालकर कांग्रेस नेताओं ने प्रदर्शन किया। इसमें सीएलपी आराधना मिश्रा मोना एमएलसी दीपक सिंह समेत तमाम कांग्रेस नेता शामिल हुए।


टेनी के खिलाफ हमलावर विपक्ष

गौरतलब है कि कल लखीमपुर खीरी में एक कार्यक्रम के दौरान पत्रकारों के सवाल पर भड़के केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी का वीडियो वायरल हुआ था। जिसमें वह पत्रकारों को धक्का देते और गाली गलौज करते हुए सुनाई दे रहे हैं।

इसके बाद विपक्ष उनके तानाशाही रवैया को लेकर एक बार फिर से मोदी और योगी सरकार पर घेरने ने लगा है। टेनी ने ना सिर्फ गाली गलौज की बल्कि पत्रकारों को मोबाइल छीन लिया और उन्हें धक्का भी दिया है। जिसके बाद लखनऊ से लेकर दिल्ली तक इसको लेकर संग्राम मचा हुआ है।


राहुल गांधी, अखिलेश यादव, असदुद्दीन ओवैसी समेत तमाम नेताओं ने टेनी के इस्तीफे की मांग की है। आज इस मुद्दे पर विधानसभा से लेकर संसद तक हंगामा होगा। क्योंकि कल ही सदन में यह मामला उठा था। वहीं वीडियो वायरल होने के बाद देर शाम अजय मिश्र टेनी दिल्ली तालाब हुए और वह दिल्ली पहुंच भी गए हैं।

लेकिन उनके इस्तीफे की बात पर अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगा। क्योंकि उनके बेटे द्वारा लखीमपुर में किसानों को कुचल कर मारने के बाद भी उनके इस्तीफे की मांग तूल पकड़ी थी लेकिन बीजेपी आलाकमान ने उनका इस्तीफा नहीं मांगा। अब एक बार फिर से विवादों में घिरे हैं तो देखना होगा कि बीजेपी उन पर क्या फैसला लेती है।

किसान नेताओं ने भी दिया अल्टीमेटम

वहीं दिल्ली बॉर्डर से भले ही किसान नेताओं ने अपना आंदोलन खत्म कर घर चले गए हों लेकिन लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर उनका गुस्सा भी शांत नहीं हुआ है। वह टेनी की बर्खास्तगी और उनकी गिरफ्तारी की मांग पर अडे हैं। उनका कहना है कि जल्द ही अगर बीजेपी सरकार इस पर फैसला नहीं लेती तो उनका आंदोलन फिर से शुरू हो सकता है।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story