×

UP : बसपा सांसद अफजाल अंसारी की तबीयत बिगड़ी, लखनऊ के मेदांता अस्पताल में भर्ती

बहुजन समाज पार्टी (Bahujan samaj party) के गाजीपुर (Ghazipur) से सांसद (MP) और बाहुबली विधायक (Bahubali MLA) मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) के भाई अफजाल अंसारी (Afzal Ansari) की तबियत अचानक बिगड़ गई है।

Network
Published on 17 Jan 2022 3:50 AM GMT
bsp mp afzal ansari
X

bsp mp afzal ansari

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

बहुजन समाज पार्टी (Bahujan samaj party) के गाजीपुर (Ghazipur) से सांसद (MP) और बाहुबली विधायक (Bahubali MLA) मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) के भाई अफजाल अंसारी (Afzal Ansari) की तबियत अचानक बिगड़ गई है। जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है, कि अफजाल अंसारी के पेट में संक्रमण (Infection) की वजह से उनकी तबियत बिगड़ी है। उन्हें राजधानी लखनऊ स्थित मेदांता अस्पताल (Medanta Hospital) में भर्ती करवाया गया है। फिलहाल अफजाल अंसारी का इलाज मेदांता के आईसीयू कक्ष में चल रहा है।

जानकारी के अनुसार, बसपा सांसद अफजाल अंसारी (MP Afzal Ansari) को रविवार को पेट में दर्द की शिकायत थी। जिसके बाद जल्दी ही उन्हें अस्पताल ले जाया गया। लखनऊ के मेदांता अस्पताल (Medanta Hospital) में जांच के बाद डॉक्टरों ने अफजाल अंसारी के पेट में इन्फेक्शन बताया। मेदांता अस्पताल में के डॉक्टरों की एक टीम ने अफजाल अंसारी की बिगड़ती तबीयत को देखते हुए उन्हें आईसीयू (ICU) में शिफ्ट किया है।

अंसारी परिवार का बड़ा है सियासी कद

बता दें, कि अफजाल अंसारी के परिवार का उत्तर प्रदेश की राजनीति में बड़ा रसूख रहा है। खासकर, तब जब यूपी में हाल में विधानसभा चुनाव होने हैं, तो इस परिवार का हर एक सदस्य काफी मायने रखता है। बता दें, कि हाल ही में अफजाल अंसारी के बड़े भाई सिबाकतुल्लाह अंसारी (Sibakatullah Ansari) समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) में शामिल हुए हैं। वहीं, उनके छोटे भाई बाहुबली मुख्तार अंसारी इस वक्त उत्तर प्रदेश की बांदा जेल (Banda Jail) में बंद हैं। अंसारी बंधुओं का लंबे समय से उत्तर प्रदेश की सियासत में अहम रोल रहा है। इस परिवार का मऊ, गाजीपुर, बलिया, वाराणसी तथा आजमगढ़ के करीब 24 विधानसभा सीटों (Assembly Seats) पर खासा दबदबा रहा है। अंसारी बंधु किसी भी पार्टी में क्यों न रहें, उनका राजनीतिक रसूख हमेशा ही बरकरार रहा है।

aman

aman

Next Story