×

Amitabh Thakur Case: अमिताभ ठाकुर को अभी नहीं मिली राहत, जमानत अर्जी हुई खारिज

Amitabh Thakur Case: अमिताभ ठाकुर ने न्यायालय में दलील दी है कि वीडियो में 7 लोगों में से केवल उन्हें ही मुजरिम बनाया गया है।

Sandeep Mishra

Sandeep MishraReport Sandeep MishraRagini SinhaPublished By Ragini Sinha

Published on 14 Oct 2021 11:56 AM GMT

Former IPS Amitabh Thakur Arrested
X

पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर को ले जाती पुलसि (फोटो: न्यूजट्रैक )

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Amitabh Thakur Case: जबरन रिटायर्ड किये गए पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर (Former IPS Amitabh Thakur News) को न्यायालय (SC) से आज भी कोई राहत नहीं मिली है। मृतक रेप पीड़िता (Rape Victim) व उसके साथी को आत्महत्या (Suicide) के लिये उकसाने वाले मामले में आज फिर न्यायालय में उनकी जमानत याचिका (Amitabh Thakur Jamanat Yachika) खारिज कर न्याययिक हिरासत में जेल (Jail) भेज दिया है।

न्यायालय में दोनों पक्षों की तरफ से हुई लंबी बहस

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh Today Breaking News) के बनारस (Varanasi) की युवती द्वारा सांसद अतुल राय (MP Atul Rai) पर रेप मामले (Rape Victim) में पीड़िता को आत्महत्या (Sucide) के लिए उकसाने और अपराधिक षड्यंत्र रचने के आरोप में जेल में बंद पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर (Kaun Hai IPS Amitabh Thakur) की न्यायालय (Court) में जमानत याचिका पर की गई लम्बी बहस में अपनी जमानत याचिका को लेकर ए.डी.जे-1 के कोर्ट में पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने कहा है कि उन्हें फर्जी फंसाया गया है।इस याचिका की सुनवाई के दौरान सरकार की ओर से जमानत का पुरजोर विरोध किया गया है। कुछ महीने पहले रेप का आरोप लगाने वाली पीड़ित युवती (Rape Victim) ने अपने एक साथी के साथ सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के बाहर आत्मदाह कर लिया था, जिसके बाद इलाज के दौरान दोनों की मौत हो गई थी।

न्यायलय को अमिताभ ने बताया कि वह निर्दोष हैं

अमिताभ ठाकुर (IPS Amitabh Thakur Ka kya Hai Mamla) ने न्यायालय में दलील दी है कि वीडियो में 7 लोगों में से केवल उन्हें ही मुजरिम बनाया गया है, जबकि सच्चाई यह है कि उन्होंने मात्र अपने विधिक दायित्वों का निर्वहन किया था और जो उनके पास सूचना आयी थी, उसे सक्षम अधिकारियों के पास कार्यवाही के लिए भेजा था। लेकिन सरकार की तरफ से पैरवी कर रहे वकील मनोज त्रिपाठी (wakil Manoj Tripathi) ने जमानत का विरोध करते हुए कहा है कि अमिताभ ठाकुर के खिलाफ (Amitabh Thakur Case Today) गंभीर आरोप हैं। उनके खिलाफ जांच करने के बाद ही मुकदमा दर्ज किया गया था।वहीं गिरफ्तार करने गई टीम के साथ मारपीट करने और सरकारी काम में बाधा भी उन्होंने डाली।दोनो पक्षो की दलीलें सुनने के बाद मामले में न्यायालय ने मंगलवार को तलब कर 25 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है।

रेप पीड़िता प्रकरण पर अमिताभ पर हैं गम्भीर आरोप (IPS Amitabh Thakur Rape Pidita Mamla)

बता दें कि पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर पर आरोप है कि पैसे लेकर सांसद अतुल राय पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली बनारस की पीड़िता के खिलाफ अपराधिक षड्यंत्र रचा था। साथ ही गवाहों को बदनाम करने व पीड़िता पर दबाव बनाने के लिए अपराधियों से जोड़कर छवि खराब करने के लिए ऑडियो भी वायरल किया था।

Ragini Sinha

Ragini Sinha

Next Story