×

Lucknow News: अब डेंगू, मलेरिया पर वार, योगी ने संभाली कमान, निगरानी समितियां संभालेंगी जमीनी स्‍तर पर मोर्चा

बदलते मौसम में बढ़ने वाली बीमारियों की रोकथाम के लिए निगरानी समितियों को सौंपी गई जिम्मेदारी

Network
Newstrack NetworkPublished By Raghvendra Prasad Mishra
Updated on: 24 Oct 2021 1:51 PM GMT
viral fever
X

संक्रमण बीमारियों से संबंधित फाइल तस्वीर (फोटो-न्यूजट्रैक)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Lucknow News: कोरोना काल की पहली और दूसरी लहर में यूपी में निगरानी समितियों (nigrani samitiyaan) ने अहम भूमिका निभाई है। इन सर्विलांस टीमों ने कोरोना काल में डोर टू डोर स्‍क्रीनिंग (door to door screening) कर जमीनी स्‍तर पर मोर्चा संभाला। ऐसे में एक बार फिर से सीएम योगी आदित्‍यनाथ (Yogi Adityanath) ने आला अधिकारियों को निर्देश देते हुए इन निगरानी समितियों को एक्टिव करने के निर्देश दिए हैं। बदलते मौसम के चलते बढ़ने वाली बीमारियों पर अंकुश लगाने के लिए प्रदेश सरकार अलर्ट मोड पर काम कर रही है। राज्य सरकार जल जनित रोगों पर अंकुश लगाने के लिए सभी आवश्यक प्रबंध सुनिश्चित करने के साथ ही जमीनी स्‍तर पर हर संभव प्रयास कर रही है। जिसके चलते प्रदेशव्‍यापी सर्विलांस कार्यक्रम को एक बार फिर से कमान थामने को तैयार हैं।

सीएम ने डेंगू (Dengue), कॉलरा, डायरिया, मलेरिया समेत वायरल से प्रभावित प्रदेश के जिलों में विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। जिसके तहत एटा, मैनपुरी और कासगंज में विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम भेज दी गई है। विशेषज्ञों की यह टीम स्थानीय चिकित्सक अपनी पैनी नजर सभी केसों पर रखेंगे। पर्वों को ध्‍यान में रखते हुए प्रदेश में विशेष सर्तकता बरतते हुए इन निगरानी समितियों को एक्टिव करते हुए डोर टू डोर स्‍क्रीनींग (door to door screening) का काम शुरू होगा।

ये निगरानी समितियां (nigrani samitiyaan) कोरोना संक्रमण के साथ ने डेंगू (Dengue), कॉलरा, डायरिया, मलेरिया के लिए भी डोर टू डोर स्‍क्रीनिंग (door to door screening) करेंगी। इस वृहद् प्रदेशव्यापी सर्विलांस अभियान को तेजी से चलाया जाएगा। इसके साथ ही इस अभियान में प्रदेश में बुखार व संक्रमण के अन्य लक्षणों के मरीजों की पहचान भी प्राथमिकता के आधार पर की जाएगी। इस सर्विलांस कार्यक्रम में घर-घर जाकर बुखार से पीड़ित और कोविड के लक्षण वाले लोगों को चिन्हित किया जाएगा। बता दें कि प्रदेश में 73 हजार से अधिक निगरानी समितियां हैं।

अस्‍पतालों में किए गए विशेष प्रबंध

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ (Yogi Adityanath) ने अधिकारियों और सभी संबंधित विभागों को निर्देश देते हुए डेंगू (Dengue) और जलजनित बीमारियों के मामलों को देखते हुए चिकित्सा सुविधाओं और साफ-सफाई का ध्यान रखने के निर्देश दिए हैं। अस्वस्थ लोगों के उपचार के लिए सभी अस्पतालों में विशेष प्रबंध किए गए हैं। सीएम ने सर्विलांस को बेहतर करते हुए हर एक मरीज के स्वास्थ्य की सतत निगरानी की जाने के निर्देश दिए हैं। प्रदेश में बचाव के लिए व्यापक स्वच्छता, सैनिटाइज़ेशन और फॉगिंग का काम भी जारी रहेगा।

taja khabar aaj ki uttar pradesh 2021, ताजा खबर आज की उत्तर प्रदेश 2021

Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad Mishra

Next Story