×

UP ELection 2022: मुलायम सिंह का आशीर्वाद लेने पहुंचे राजा भैया, क्या सपा के साथ आएंगे रघुराज?

UP ELection 2022: प्रतापगढ़ के कुंडा से विधायक रघुराज प्रताप सिंह (MLA Raghuraj Pratap Singh Meet Mulayam Singh Yadav) आज अचानक वह अपने गुरु और समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव से मिलने उनके घर पहुंचे। कहा जा रहा है कि राजा भैया नेताजी को जन्मदिन की बधाई देने के लिए पहुंचे थे।

Rahul Singh Rajpoot

Rahul Singh RajpootReport Rahul Singh RajpootDeepak KumarPublished By Deepak Kumar

Published on 25 Nov 2021 7:00 AM GMT

MLA Raghuraj Pratap Singh reached Mulayam Singh Yadav house
X

मुलायम सिंह व विधायक रघुराज प्रताप सिंह।

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

UP Election 2022: प्रतापगढ़ के कुंडा से विधायक रघुराज प्रताप सिंह (MLA Raghuraj Pratap Singh) उर्फ राजा भैया अब अपनी खुद की पार्टी लोकतांत्रिक जनसत्ता दल का गठन कर 2022 का चुनाव (UP Election 2022) लड़ने की तैयारी में लगे हुए हैं, लेकिन आज अचानक वह अपने गुरु और समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के संरक्षक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) से मिलने उनके घर पहुंचे। कहा जा रहा है कि राजा भैया नेताजी को जन्मदिन की बधाई देने के लिए पहुंचे थे। लेकिन जन्मदिन के दो दिन बाद यह मुलाकात अब यूपी चुनाव (UP Election) से जोड़कर भी देखी जा रही है। सूत्रों के मुताबिक राजा भैया भी समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) से गठबंधन के मूड में है। कहा ये भी जा रहा है की राजा भैया ने बुधवार देर शाम सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) से भी फोन पर बात की थी। उसके बाद आज सुबह-सुबह नेता जी के घर जाकर उनका आशीर्वाद लिया।

राजा भैया (Raja Bhaiya) मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) को अपना गुरु और मार्गदर्शक मानते हैं। यही वजह है कि उनकी सरकार और अखिलेश यादव की सरकार (Akhilesh Yadav Government) में कैबिनेट मंत्री रहे। तमाम विवादों के बावजूद भी मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) ने उन्हें मंत्री पद पर बनाए रखा और जब उन पर सीओ हत्याकांड में शामिल होने का आरोप लगा तो अखिलेश ने उन्हें हटा दिया था। सीबीआई (CBI) ने जब उन्हें क्लीन चिट दे दी तो नेताजी के ही दखल पर वह फिर से मंत्री बने। अब जब 2022 (UP Election 2022) का रण होने जा रहा है तो राजा भैया (Raja Bhaiya) का अपने पुरानी पार्टी के प्रति प्रेम उनका उजागर होता दिख रहा है। हालांकि गठबंधन को लेकर ना तो राजा भैया (Raja Bhaiya) की ओर से और ना ही समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) की ओर से इस ओर इस तरह कोई इशारा मिला है लेकिन इससे पहले जब राजा भैया (Raja Bhaiya) अपनी यात्रा निकाल रहे थे तो उनसे सपा से गठबंधन के बारे में पूछा गया था तो उनके रुख में नरमी देखी गई थी इसी के बाद से कयास लगाए जा रहे थे कि उनका सपा की ओर रुझान बढ़ रहा है।

प्रतापगढ़ के कुंडा से विधायक हैं बाहुबली राजा भैया

राजा भैया (Raja Bhaiya) साल 2017 तक समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के साथ थे। वह प्रतापगढ़ जिले (Pratapgarh District) के कुंडा से लगातार निर्दलीय विधायक चुने जाते रहे हैं। 2018 में उन्होंने अपनी खुद की पार्टी लोकतांत्रिक जनसत्ता दल का गठन कर एक नई सियासत शुरू की थी। इसी को लेकर वह पूरे प्रदेश में जनसंपर्क लिए यात्रा पर भी निकले थे। अब चुनाव नजदीक आने पर वह भी गठबंधन की राह पकड़ने की ओर आगे बढ़ते दिखाई दे रहे हैं। राजा भैया (Raja Bhaiya) का प्रभाव प्रतापगढ़ (Pratapgarh District) और कौशांबी जिले में काफी माना जाता है। प्रतापगढ़ जिला पंचायत (Pratapgarh District Panchayat) में तो सालों से राजा भैया का दबदबा रहा है। इस बार बीजेपी के तमाम नेताओं मंत्रियों के होने के बावजूद भी राजा भैया ने अपने प्रत्याशी को जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी पर बैठा दिया। इसीसे उनकी इस जिले में खनक का पता चलता है।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story