×

Shine City Fraud: CMD राशिद नसीम को भारत लाने के प्रयास तेज, दुबई में छिपा बैठा है शातिर

यूपी एसटीएफ के आला अफसरों ने बताया है कि शाइन सिटी के सीएमडी राशिद नसीम के खिलाफ यूपी के कई जिलों में धोखाधड़ी व घोटाले करने की अब तक 4 हजार एफआईआर दर्ज की जा चुकीं हैं। इस कम्पनी पर फ्रॉड करने के प्रवर्तन निदेशालय में भी केस दर्ज किए गए हैं।

Sandeep Mishra

Sandeep MishraReport Sandeep MishraDeepak KumarPublished By Deepak Kumar

Published on 14 Oct 2021 5:45 AM GMT

shine city fraud
X

शाइन सिटी का फ्रॉड। (Social Media) 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Lucknow: देश मे अपने ग्राहकों के साथ सबसे बड़ा घोटाला करने वाली रियल स्टेट क्षेत्र की कम्पनी शाइन सिटी का सीएमडी राशिद नसीम इस समय दुबई में छिपा बैठा है। उसकी गिरफ्तारी कर भारत लाने की अपनी तैयारी यूपी एसटीएफ ने तेज कर दी है। भारत सरकार व यूपी एसटीएफ ने बड़े अधिकारियों ने सऊदी अरब की सरकार से इस संदर्भ में सम्पर्क किया है। उम्मीद की जा रही है कि बहुत जल्द यूपी एसटीएफ नसीम को गिरफ्तार कर भारत लाएगी।

शाइन सिटी के सीएमडी के खिलाफ अब 4 हजार एफआईआर हैं दर्ज

यूपी एसटीएफ के आला अफसरों ने बताया है कि शाइन सिटी के सीएमडी राशिद नसीम के खिलाफ यूपी के कई जिलों में धोखाधड़ी व घोटाले करने की अब तक 4 हजार एफआईआर दर्ज की जा चुकीं हैं। इस कम्पनी पर फ्रॉड करने के प्रवर्तन निदेशालय में भी केस दर्ज किए हैं।

शाइन सिटी की फ्रॉडगिरी का इतिहास

सूबे के मूलरूप से प्रयागराज के रहने वाले राशिद नसीम लगभग 20 साल पहले मल्टी नेशनल कम्पनी स्पीक एशिया का एक मामूली एजेंट हुआ करता था।इस कम्पनी की योजनाएं समझने के बाद उसने यह कम्पनी छोड़ दी और लखनऊ आ गया। गत 2013 में उसने शाइन सिटी इंफ्रा प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड नाम से एक कम्पनी शुरू की।कम्पनी का ऑफिस गोमती नगर में बनाया।फिर इस कम्पनी ने सीएमडी नसीम ने ग्राहकों से फ्रॉड गिरी का काम शुरू किया। वह कम्पनी के ग्राहकों को सस्ते दामों में प्लाट देने के नाम पर ठगी करने लगा।

राशिद का बेहद जबरदस्त था फ्रॉडगिरी का नेटवर्क

जांच में यह पता चला है कि इस कम्पनी के पास एक बीघा भी जमीन का कोई टुकड़ा तक कभी नहीं था, लेकिन उसने रियल स्टेट के इस व्यवसाय में फ्रॉडगिरी का वह ताना बाना बना कि सभी हैरत में पड़ गए। बताते हैं कि वो किसानों को अपनी जमीन पर शाइन सिटी नाम के बोर्ड लगवाने के लिए 20 से 25 हजार रुपये तक का प्रतिमाह किराया दिया करता था। अपने फ्रॉडगिरी के इस नेटवर्क को उसने भारत के कई राज्यों तक फैला दिया और फर्जी प्लाटिंग के नाम पर ग्राहकों से सैकड़ो रुपये एकत्रित कर लिए।

इस कम्पनी से जुड़े कई लोगों को किया जा चुका है गिरफ्तार

अब तक इस कम्पनी से जुड़े कई शीर्ष अधिकारियों व कर्मियों को यूपी एसटीएफ व पुलिस ने गिरफ्तार किया है। शगुफ्ता राशिद, यह ठग रशीद नसीम की पत्नी है। सबा फातिमा, कम्पनी की नियमित कर्मचारी थी, यह ग्राहकों को कम्पनी के जाल में फंसाने का काम किया करती थी। अमिताभ श्रीवास्तव, यह शाइन सिटी के अध्यक्ष पद पर तैनात था। यह प्लाटिंग बेचने के नाम पर बनारस में फ्रॉड गिरी किया करता था, यह रशीद के साथ मिलकर काम किया करता था।

मोहम्मद अकरम, शाइन सिटी के जगुआर टीम के अध्यक्ष था। यह भी रशीद नसीम की फ्रॉडगिरी में बराबर के हिस्सेदार रहता था।अनूप सिंह, यह कम्पनी में सीनियर बिजनेस डेवलपमेंट मैनेजर के पद पर तैनात था।यह राशिद के सबसे खास लोगों में एक था।आशीष कुमार,यह भी शाइन सिटी के कर्मचारी था।यह भी राशिद के साथ कम्पनी के ग्राहकों सब्जबाग दिखा कर उन्हें ठगने का काम किया करता था।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story