×

यूपीकॉप एपः किसी भी बड़ी घटना पर प्रदेश से लेकर अन्य राज्यों तक पुलिस एलर्ट अब मिनटों में, एनसीबी ने परखी गुणवत्ता

एनसीआरबी ने उप्र पुलिस के आधुनिकीकरण की रफ्तार को परखा और कई अहम निर्देश भी दिए। डीजीपी मुकुल गोयल की अध्यक्षता में हुई बैठक में एनसीआरबी के अधिकारियों ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को सीसीटीएनएस के उपयोग को बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित किया।

Sandeep Mishra

Sandeep MishraReport Sandeep MishraDeepak KumarPublished By Deepak Kumar

Published on 14 Oct 2021 6:57 AM GMT

Lucknow news Upcop app NCRB checks the quality of the UPCOP app Up Police Uttar pradesh News
X

एनसीआरबी ने यूपीकॉप एप की गुणवत्ता को परखा। (Social Media) 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Lucknow: एनसीआरबी ने उत्तर प्रदेश के यूपी कॉप की तकनीकी गुणवत्ता को परखा। एनसीआरबी के अधिकारियों ने बताया कि इस एप के माध्यम से क्राइममैक के जरिये किसी भी बड़ी घटना पर प्रदेश से लेकर अन्य राज्यों की पुलिस को एलर्ट मैसेज भेज जाने की सुविधा है।

इस एप में ई-एफआईआर की भी सुविधा

यूपीकॉप एप से सबसे ज्यादा लाभ तो पीड़ित लोगों को है। वे इस एप के डाउन लोड करने के बाद ऑनलाइन अपने साथ हुई घटनाओं की एफआईआर दर्ज करवा सकते हैं।साथ की दर्ज करवाई जाने वाली एफआईआर का स्टेटस भी देख सकते हैं।इसके साथ ही इस एप के माध्यम से गुमशुदा बच्चों व लावारिश शवों के मामलों में उनके विवरण का मिलान, राष्ट्रीय स्तर के मिलान से भी कराया जा सकता है।

एनसीआरबी ने यूपी पुलिस के आधुनिकीकरण को भी परखा

एनसीआरबी (राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो) ने उप्र पुलिस के आधुनिकीकरण की रफ्तार को परखा और कई अहम निर्देश भी दिए। डीजीपी मुकुल गोयल की अध्यक्षता में हुई बैठक में एनसीआरबी के अधिकारियों ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को सीसीटीएनएस (क्राइम एंड क्रिमिनल ट्रैकिंग नेटवर्क एंड सिस्टम) के उपयोग को बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित किया। कहा कि उत्तर प्रदेश में थाना स्तर पर इस सिस्टम के प्रयोग को बढ़ाने की जरूरत है। महाराष्ट्र व तेलंगाना में इसका प्रभावी उपयोग हो रहा है।

वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए हुई NCRB की बैठक

वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सभी जोन, रेंज व जिलों के अधिकारी भी बैठक से जुड़े थे। बैठक में एनसीआरबी द्वारा विकसित विभिन्न एप का प्रस्तुतिकरण भी हुआ। साइबर क्राइम रिर्पोटिंग पोर्टल व डिजिटल पुलिस पोर्टल को लेकर भी विस्तार से चर्चा की गई। एनसीआरबी के अधिकारी अलग-अलग राज्यों का भ्रमण कर पुलिस आधुनिकीकरण के तहत विकसित योजनाओं की समीक्षा कर रहे हैं। साथ ही राज्य स्तर पर विकसित किए गए विभिन्न एप की खूबियों को भी देखा जा रहा है। एनसीआरबी के अधिकारियों ने लखनऊ के दो थानों का भी भ्रमण किया। सूत्रों के मुताबिक वे इन थानों की सुविधाओं से संतुष्ट नजर आए।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story