×

'जब से सपा ने 300 यूनिट बिजली मुफ्त देने का फैसला लिया, तकलीफ बीजेपी को हो रही', अखिलेश ने कहा

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 से पहले राज्य में राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं। आरोप प्रत्यारोप का सिलसिला तेज हो गया है। इसी क्रम में आज समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लखनऊ स्थित पार्टी दफ्तर में प्रेस कॉन्फ्रेंस की

aman
Updated on: 2022-01-03T15:23:45+05:30
UP Election 2022: सत्ता की शाम ढलने पर आई, तब ‘शामली-गोरखपुर’ एक्सप्रेसवे की याद आई: अखिलेश यादव
X

अखिलेश यादव (फोटो साभार- सोशल मीडिया) 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 से पहले राज्य में राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं। आरोप प्रत्यारोप का सिलसिला तेज हो गया है। इसी क्रम में आज समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लखनऊ स्थित पार्टी दफ्तर में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान उनके निशाने पर बीजेपी ही रही। बीजेपी पर हमलावर रुख अपनाते हुए उन्होंने कहा, नए साल के मौके पर जिस दिन से समाजवादी पार्टी ने 300 यूनिट बिजली मुफ्त देने का फैसला लिया है। जिससे किसानों की सिंचाई मुफ्त होगी। सबसे ज्यादा तकलीफ भारतीय जनता पार्टी को हो रही है।'

अखिलेश यादव ने कहा, 'मिर्जापुर में फ्रांस के राष्ट्रपति ने जिस सोलर प्लांट का उद्घाटन किया, वह योजना समाजवादी पार्टी सरकार की ही थी। चाहे ललितपुर, महोबा, झांसी या मैनपुरी रहा ही क्यों न रहा हो। सपा सरकार में सभी जगह सोलर पावर प्लांट लगाए गए।'

रोजा थर्मल प्लांट नेताजी ने बनाया था

प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने कहा, कि मुझे खुशी है इस बात की, कि रोजा थर्मल प्लांट तैयार हो गया। इसे नेताजी ने बनाया था। इसी तरह अनपरा डी का प्लांट भी समाजवादी पार्टी सरकार की वजह से लगा। एटा में सुपर क्रिटिकल प्लांट लगाया गया। ये सभी समाजवादी पार्टी की सरकार में हुआ था।

मजबूरी में लिया कानून वापस

सपा अध्यक्ष ने कहा, हमारे किसानों की आय बीजेपी के लोग दोगुनी नहीं कर पाए थे, कि उन्होंने वादा किया था। लेकिन अब एक भी भाषण में भाजपा के लोग यह बात नहीं कह रहे हैं। जिन कानूनों से किसान की खेती बर्बाद हो जाती, उनके हाथ से उनकी जमीन निकल जाती। उत्तर प्रदेश का विधानसभा चुनाव देखते हुए बीजेपी ने मज़बूरी में कानून वापस किए।

सपा में कई दलों से आए नेताओं की जॉइनिंग

इस दौरान राकेश पांडेय पूर्व सांसद अंबेडकर नगर, माधुरी वर्मा भाजपा विधायक, कांति सिंह पूर्व एमएलसी, बृजेश मिश्रा पूर्व विधायक, बसपा नेता नावेद रिज़वी सपा में हुए शामिल। अखिलेश यादव के साथ प्रेसवार्ता में ओम प्रकाश राजभर भी मौजूद रहे।

...इस वजह लिया तीनों कृषि कानून वापस

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, 'मैं जानता हूं जिस दिन गाजीपुर से हमारा रथ चलकर लखनऊ पहुंचा था, उस दिन भारतीय जनता पार्टी के होश उड़ गए थे। लोगों के अपार समर्थन से बीजेपी हैरान है। यही वजह थी, कि अगले दिन ही उन्होंने किसानों के खिलाफ तीनों काले कानूनों को वापस लेने का काम किया।'

योगी सरकार ने कोल जनरेशन पर कोई ध्यान नहीं दिया

अखिलेश ने कहा, 'इस सरकार ने कोल जनरेशन पर कोई ध्यान नहीं दिया। नेताजी के समय में एक पॉलिसी आई थी। जिसके तहत बड़े पैमाने पर इन्वेस्टमेंट हुआ था। कोल जनरेशन के प्लांट लगे थे। इस सरकार की नाकामी की वजह से कोल जनरेशन आगे नहीं बढ़ पाया।' उन्होंने कहा, उनके मुंह से कभी ट्रांसमिशन लाइन सुना आपने। पांच साल में कभी उन्होंने ट्रांसमिशन लाइन अपने मुंह से बोला हो, तो बता दो?

'दागी को सीएम बना दिया'

सपा अध्यक्ष ने कहा, 'एडीआर की रिपोर्ट आई है। देखा है उसमें सबसे ज्यादा दागी विधायक भारतीय जनता पार्टी के ही हैं। भाजपा ने देश में पहली बार इतिहास बनाने का काम किया है, जिस मुख्यमंत्री पर तमाम धाराएं लगी हो, उसको मुख्यमंत्री बना दिया।' उनके निशाने पर योगी आदित्यनाथ थे।

'रोजगार दिए, तो है कहां'

अखिलेश बोले, 'अभी मैंने मुख्यमंत्री जी का भाषण सुना, स्मार्टफोन और टैबलेट पर। उन्होंने कहा, लाखों नौकरियां दे दी है। मैंने सीएम का टीवी पर विज्ञापन देखा। जिसमें वो कह रहे हैं कि दो करोड़ रोजगार MSME के तहत देने का दावा किया। कहां है रोजगार? इससे बड़ा कोई झूठ नहीं हो सकता।' प्रदेश सरकार पर हमलावर होते हुए उन्होंने कहा, जब इन्हें फ्लाईओवर दिखाना था, तो कोलकाता का फ्लाईओवर दिखा दिया। जब इन्हें कारखाना दिखाना था, तो अमेरिका का दिखा दिया। जब इन्हें एयरपोर्ट दिखाना था, तब चीन का एयरपोर्ट दिखा दिया। और दावे कर रहे हैं कि ये काम किया, वो किया।

सीएम सोते रहे, चीफ सेक्रेटरी बदल गया

सपा अध्यक्ष ने कहा, बीजेपी में कोई ऐसी वाशिंग मशीन है। किसी भी अपराधी को भेज दो, वो अपराधी लगेगा ही नहीं। मुख्यमंत्री को पता ही नहीं है, उनका चीफ सेक्रेटरी बदल गया। वो बताएं वह कहां सोते रहे और उनका चीफ सेक्रेटरी बदल गया। उन्होंने आगे कहा, 'जहां से हमारी पार्टी कहेगी हम वहां से चुनाव लड़ेंगे। याद कीजिये, नेताजी ना जाने कितने क्षेत्रों से चुनाव लड़े।'

प्रेस वार्ता के दौरान अखिलेश यादव ने कहा, मुस्लिम महिलाओं के साथ जिस तरीके का व्यवहार सोशल मीडिया पर हो रही है, वह निंदनीय है। पूछा, सरकार की इंटेलिजेंस क्या कर रही है?

जैन समाज अल्पसंख्यक, इसलिए हमला हुआ

सपा अध्यक्ष ने अपने पार्टी के एमएलसी, नेता तथा इत्र कारोबारी पुष्पराज जैन के घर पर हुए आईटी रेड मामले पर कहा, जैन समाज अल्पसंख्यक है। इत्र कारोबार से बड़े स्तर पर जैन समाज के लोग जुड़े हैं। इसीलिए उन पर हमला हुआ।'

इस दौरान अखिलेश यादव के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर भी मौजूद थे। साथ ही विभिन्न पार्टियों के नेताओं ने आज अखिलेश यादव की उपस्थिति मन सपा का दामन थामा।

aman

aman

Next Story