×

UP Assembly Election 2022 : विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस व बसपा को जोरदार झटका, विधायक अदिति सिंह, वंदना सिंह ने थामा कमल

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव ( UP Election 2022) से पहले कांग्रेस पार्टी और बहुजन समाज पार्टी को जोरदार झटका लगा है। रायबरेली की सदर सीट से कांग्रेस की 'बागी' विधायक अदिति सिंह और आजमगढ़ के सगड़ी से बसपा विधायक वंदना सिंह ने बीजेपी ज्वाइन कर ली है।

Rahul Singh Rajpoot

Rahul Singh RajpootReport Rahul Singh RajpootAshutosh TripathiReport Ashutosh Tripathi

Published on 24 Nov 2021 9:59 AM GMT

aditi singh join bjp (PHOTO - Newstrack)
X

aditi singh join bjp (PHOTO - Newstrack)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

UP Assembly Election 2022 : उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Election 2022) से पहले कांग्रेस पार्टी को एक और जोरदार झटका लगा है। रायबरेली की सदर सीट से कांग्रेस की 'बागी' विधायक अदिति सिंह (aditi singh join bjp) आज बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल हो गईं। जानकारी के अनुसार, अदिति आज बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कर ली है। इस दौरान खुद भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह भी मौजूद रहे। बीजेपी प्रदेश मुख्यालय में बुधवार शाम अदिति सिंह बीजेपी ज्वाइन की।

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी ने चुनाव से पहले आज कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी को जोर का झटका किया है। सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली सदर से विधायक आदिति सिंह ने आज भाजपा का दामन थाम लिया है। इसके साथ ही अखिलेश यादव के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ के सगड़ी विधानसभा सीट से बहुजन समाज पार्टी की विधायक वंदना सिंह भी भाजपा में शामिल हो गईं हैं। इन दोनों महिला नेत्रियों का अब 2022 में बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ने की उम्मीद है।

aditi singh join bjp - आज पार्टी प्रदेश कार्यालय पर आदिति सिंह (aditi singh join bjp) और वंदना सिंह को चुनाव समिति के अध्यक्ष लक्ष्मीकांत बाजपेई और सदस्य कृपाशंकर सिंह लेकर पहुंचे। यहां प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने भाजपा का पट्टा पहनाकर उनका स्वागत किया और सदस्यता ग्रहण कराई। इस मौके पर स्वतंत्रदेव सिंह ने कहा कि ये दोनों महिला ने अपने अपने क्षेत्र की दिग्गज हैं। इनके आने से भाजपा मजबूत होगी स्वतंत्र सिंह ने कहा कि सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र से इनके पिता स्वर्गीय अखिलेश सिंह लगातार कई बार विधायक रहे हैं अदिति सिंह भी 2017 में कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीती थीं। अब वह भाजपा में आ गई हैं इससे रायबरेली में भाजपा को और मजबूती मिलेगी।

इसके साथ ही आजमगढ़ के सगड़ी से बसपा के निलंबित विधायक वंदना सिंह जी भाजपा ही हो गई हैं। अब उनके भी पर 2022 में भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ने की उम्मीद है। वंदना सिंह ने इस मौके पर कहा कि उन्हें बिना कोई कारण बताए निलंबित कर दिया गया था। अब भारतीय जनता पार्टी में वह आ गई हैं। उनके टिकट पर फैसला आलाकमान करेगा और उन्हें मौका देगी तो जरूर चुनाव लड़ेंगी।

हालांकि यह दोनों महिला विधायक क्या भाजपा के टिकट पर अपनी सीट पर फिर से चुनाव लड़ेंगी इस पर प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र सिंह ने कहा कि इसका फैसला चुनाव कमेटी करता है। आने वाले समय में इसका फैसला होगा। हालांकि यह कहा जा रहा है कि यह दोनों नेता टिकट मिलने के पक्के वादे पर ही भाजपा की सदस्यता ग्रहण की है। फिलहाल आने वाले दिनों में पता चलेगा की इन्हें टिकट मिलेगा या नहीं।

आज भाजपा कार्यालय में बरेली सदर से कांग्रेस विधायक अदिति सिंह (aditi singh join bjp), आजमगढ़ के सगड़ी से बसपा विधायक वंदना सिंह ने बीजेपी ज्वाइन किया, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने दिलाई सदस्यता, अदिति सिंह बाहुबली नेता स्वर्गीय अखिलेश सिंह की हैं बेटी, अखिलेश सिंह का रायबरेली सदर सीट पर था दबदबा, 2017 के चुनाव में बेटी अदिति सिंह को लड़ाया था चुनाव, अदिति काफ़ी समय से कांग्रेस पार्टी से चल रहीं थीं नाराज, आज बीजेपी ज्वाइन कर अब 2022 में कमल के निशान पर लड़ सकती हैं चुनाव।

अदिति सिंह (aditi singh join bjp) युवा नेता हैं उनका जन्म 15 नवंबर 1987 को हुआ था। रायबरेली में उनकी अच्छी साख है। वह एक कुशल राजनीतिज्ञ हैं। वह उत्तर प्रदेश राज्य के रायबरेली निर्वाचन क्षेत्र से भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से विधायक रहीं अदिति सिंह को वर्तमान में विद्रोही विधायक गिना जाता है। वह उत्तर प्रदेश की 17वीं विधानसभा की सबसे कम उम्र की सदस्यों में से एक हैं।


उन्होंने 2017 का विधानसभा चुनाव 90,000 से अधिक मतों के अंतर से जीता था। उन्होंने नवांशहर निर्वाचन क्षेत्र से पंजाब विधानसभा के विधायक अंगद सिंह सैनी से शादी की है।


उनके पिता अखिलेश कुमार सिंह कई राजनीतिक दलों में रहे वह रायबरेली सदर के पांच बार प्रतिनिधि रहे। प्रबंधन में डिग्री के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका में ड्यूक विश्वविद्यालय में जाने से पहले अदिति सिंह की शिक्षा दिल्ली और मसूरी में हुई थी। वह अपने राजनीतिक जीवन से पहले सामाजिक कार्यों में शामिल रही थीं।

aman

aman

Next Story