×

UP Chunav 2022: सबको चौकाने की तैयारी में कांग्रेस, इन ब्राह्मण नेता को बना सकती है CM चेहरा

UP Chunav 2022: कांग्रेस सूत्रों की मानें तो पार्टी ने विधानसभा चुनाव में ब्राह्मण नेता को सीएम के रूप में पेश करने की अंदर ही अंदर योजना तैयार कर ली है।

Rahul Singh Rajpoot

Rahul Singh RajpootReport Rahul Singh RajpootVidushi MishraPublished By Vidushi Mishra

Published on 13 Oct 2021 4:16 PM GMT

UP Chunav 2022: सबको चौकाने की तैयारी में कांग्रेस, इन ब्राह्मण नेता को बना सकती है CM चेहरा
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ : उत्तर प्रदेश विधानसभा का चुनाव इस बार कई मायने में दिलचस्प होने जा रहा है। एक तरफ जहां बीजेपी की लड़ाई सीधे सपा और कांग्रेस से दिखाई दे रही है, तो इस बार सीएम के चेहरे के साथ सब पार्टियां मैदान में उतरने जा रही है। बीजेपी जहां योगी आदित्यनाथ के अगुवाई में चुनाव लड़ने जा रही है तो सपा,बसपा में सीएम (Kon Hoga UP Ka CM) कौन होगा यह किसी से छुपा नहीं है। बात अब कांग्रेस की करें तो उसके सीएम चेहरे को लेकर सस्पेंस अभी बरकरार है।

कांग्रेस कार्यकर्ता तो प्रियंका गांधी को सीएम चेहरा मान बैठे हैं । लेकिन पार्टी ऐसा नहीं करने जा रही है। यूपी में कांग्रेस की ओर से कोई ब्राह्मण (Congress Brahmin Chehare Ko Aage Karegi) चेहरा ही सीएम पद का दावेदार हो सकता है, इसमें दो बड़े नाम शामिल हैं। पहला पूर्व केंद्रीय मंत्री राजीव शुक्ला दूसरा प्रमोद तिवारी का यह दोनों नेता यूपी से ताल्लुक रखते हैं । कांग्रेस में इनकी ब्राम्हण नेता के तौर पर काफ़ी दबदबा भी है।

प्रमोद तिवारी (फोटो- सोशल मीडिया)

कांग्रेस पार्टी की विधानसभा चुनाव में पूरी तैयारी

गौरतलब है कि इस बार कांग्रेस पार्टी ने विधानसभा चुनाव में पूरी तैयारी (Vidhan Sabha Chunav Mein Congress ) के साथ उतरने की रणनीति बनाई है। इसलिए सीएम चेहरा देने में भी वह पीछे नहीं रहना चाहती। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के यूपी का प्रभारी बनाए जाने के बाद पार्टी किसी न किसी मुद्दे को लेकर लगातार चर्चा में बनी हुई है।

खासकर कानून व्यवस्था, उत्पीड़न और किसानों के मुद्दे पर या तो लगातार आंदोलन कर रही है या चल रहे आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभा रही है। सार्वजनिक मंच से पार्टी भले ही सर्व समाज की बात करती हो उसके नेता स्वीकार करते हैं कि आधार वोट बैंक की पुख्ता रणनीति बनाई गई है।


प्रदेश में 80 के दशक तक अधिकांश समय कांग्रेस की ही सरकारें रही है। इस दौरान उसने छह ब्राह्मण मुख्यमंत्री दिए। उसके बाद से कभी ब्राह्मण मुख्यमंत्री नहीं बना है। अपने जमीनी छोटे-छोटे अभियानों में कांग्रेस के नेता इसका प्रचार करने से भी नहीं चूक रहे और ब्राह्मण मतदाताओं के बीच फिर से अपनी पैठ बनाने में लगे हैं।

कांग्रेस ब्राह्मण चेहरे को आगे करेगी

यूपी में वर्तमान में ब्राह्मणों की अनुमानित संख्या 10 से 12 फ़ीसदी बताई जाती है। कांग्रेस सूत्रों की मानें तो पार्टी ने विधानसभा चुनाव (Congress Vidhan Sabha Chunav) में ब्राह्मण नेता को सीएम के रूप में पेश करने की अंदर ही अंदर योजना तैयार कर ली है।

कांग्रेस नेताओं का कहना है कि ब्राह्मणों के मुद्दे हमारी सर्वोच्च प्राथमिकताओं में शामिल है। हमारे पास जो ब्राह्मण नेता हैं । चेहरे के तौर पर वर्तमान में वही विकल्प हमारे सामने हैं। इसमें पूर्व केंद्रीय मंत्री राजीव शुक्ला, प्रमोद तिवारी, राजेश मिश्रा का नाम प्रमुख है।

फिलहाल अंतिम निर्णय राहुल गांधी का होगा। बात राजीव शुक्ला की करें तो वह इस संकट के दौर में भी पार्टी के मजबूत मददगार माने जाते हैं, जबकि प्रमोद तिवारी यूपी के ब्राह्मण नेता के तौर पर अच्छी खासी हनक रखते हैं। वह लगातार चुनाव जीतते रहे हैं । अब अपनी बेटी को सक्रिय राजनीति में कर केंद्र की राजनीति कर रहे हैं।

हालांकि कांग्रेस सूत्रों का यह भी कहना है कि भाजपा में बड़े पद पर रहे एक ब्राह्मण नेता भी उनके संपर्क में हैं। फिलहाल यह नेता अपनी पार्टी में साइड लाइन चल रहा है। कई बार उन्हें भाजपा में कुछ ना कुछ बड़ी जिम्मेदारी मिलने की चर्चा चली पर नतीजा सिफर ही निकला।

नतीजतन वह अपने पार्टी नेतृत्व से काफी निराश हैं। फिलहाल यह करीब-करीब तय है कि आने वाले चुनाव में कांग्रेस ब्राह्मण चेहरे को आगे करेगी (Congress Brahmin Chehare Ko Aage Karegi)। यह कौन होगा इसके लिए मंथन जारी है।

Congress Brahmin Chehare Ko Aage Karegi, Congress Vidhan Sabha Chunav, Kon Hoga UP Ka CM, Vidhan Sabha Chunav, priyanka ganghi, priyanka gandhi vidhan sabha seat, yogi adityanath, bjp , congress, bjp government, UP Chunav 2022, Rajeev Shukla, Pramod Tiwari

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story