×

UP Election 2022: BJP प्रदेश उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह को वाई श्रेणी सुरक्षा, सरोजिनी नगर से मांग रहे टिकट

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रदेश उपाध्यक्ष और जॉइनिंग कमेटी के सदस्य दयाशंकर सिंह (Dayashankar Singh) को सरकार ने वाई श्रेणी की सुरक्षा (Y Category Security) दी है।

Rahul Singh Rajpoot

Report Rahul Singh RajpootPublished By aman

Published on 14 Jan 2022 4:40 AM GMT

Dayashankar Singh
X

Dayashankar Singh

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

UP Election 2022 : भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रदेश उपाध्यक्ष और जॉइनिंग कमेटी के सदस्य दयाशंकर सिंह (Dayashankar Singh) को सरकार ने वाई श्रेणी की सुरक्षा (Y Category Security) दी है। दयाशंकर ने बीते दिनों सपा (SP), बसपा (BSP) और कांग्रेस (CONGRESS) के कई विधायकों को भाजपा में शामिल कराया था। वह खुद लखनऊ की सरोजनी नगर विधानसभा सीट (Sarojini Nagar assembly seat) से दावेदारी भी कर रहे हैं।

सरोजनी नगर विधानसभा सीट से उनकी पत्नी स्वाति सिंह (Swati Singh) 2017 में विधायक चुनकर आई थीं और मंत्री बनी थीं। अब दयाशंकर सिंह भी इस सीट से चुनाव लड़ना चाहते हैं। बताया जाता है दयाशंकर सिंह ने आलाकमान के सामने अपनी दावेदारी पेश कर दी है।

राजभर से कई बार मुलाकात कर चुके हैं दयाशंकर

वहीं पिछले दिनों सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर और दयाशंकर के बीच हुई मुलाकात में कयास लगाए जा रहे थे कि दयाशंकर उन्हें मनाने के प्रयास में लगे हैं, लेकिन राजभर ने कहा था कि वह विधानसभा का चुनाव लड़ना चाहते हैं अगर भारतीय जनता पार्टी उन्हें टिकट नहीं देगी तो वह सुभासपा से चुनाव लड़ने की इच्छा जताई है।

हालांकि राजभर के बयान पर दयाशंकर सिंह ने कोई बयान नहीं दिया और अब सरकार ने उन्हें वाई श्रेणी सुरक्षा दी है। कहा ये भी जा रहा है कि बीजेपी डैमेज कंट्रोल में लगी है। क्योंकि पिछले दिनों तीन मंत्री और कई विधायकों के इस्तीफे के बाद पार्टी में खलबली है और अब अपने नेताओं को रोकने के लिए हर प्रयास में लगी हुई है। दयाशंकर सिंह बीजेपी के वरिष्ठ नेता हैं और खुद इस बार चुनावी मैदान में उतरने के लिए लगे हुए हैं।

पत्नी स्वाति सिंह की भी दावेदारी

2017 में दयाशंकर सिंह की पत्नी स्वाति सिंह सरोजनी नगर सीट से विधायक चुनी गई थीं। योगी सरकार में वह पांच साल तक मंत्री रहीं। इस बार भी स्वाति सिंह इसी सीट से प्रचार में जुटी हुई है हालांकि इस बार टिकट किसे मिलेगा यह बीजेपी आलाकमान को तय करना है, लेकिन पति पत्नी दोनों की दावेदारी को बीजेपी कैसे सुलझाएगी देखने वाली बात होगी।

aman

aman

Next Story